Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutनशे में धुत कमिश्नर के गनर की करतूत

नशे में धुत कमिश्नर के गनर की करतूत

- Advertisement -
  • कमिश्नरी चौराहे पर कार में सवार सिपाही ने कई वाहनों को रौंदा, पकड़कर पुलिस को सौंपा

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: लालकुर्ती क्षेत्र एसएसपी आवास के सामने नशे में धुत कार में सवार सिपाही ने कई कारों को अनियंत्रित होकर रौंद डाला और कई बाइकों को टक्कर मारकर क्षतिग्रस्त कर दिया। सड़क पर सिपाही की बेकाबू कार दौड़ती रही। लोगों ने बामुश्किल सिपाही को थोड़ा दूर जाकर कार सहित पकड़ लिया। कप्तान के आदेश पर सिपाही के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

शनिवार कमिश्नरी चौराहे से मेरठ कालेज गेट के आगे और एसएसपी आवास के सामने तक एक सिपाही ने शराब के नशे में कार को इस कदर अनिंत्रित होकर दौड़ाया कि उसने सड़क किनारे खड़ी कारों को भी रौंद डाला और कई दुपहिया वाहनों को टक्कर माररकर क्षतिग्रस्त कर दिया। सड़क पर अनियंत्रित कार दौड़ते हुए देख लोगों में हड़कंप मच गया। लोग अपने वाहनों को साइड कर खड़े हो गये, लेकिन बावजूद इसके भी सिपाही ने अपनी बेकाबू कार से कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया।

06 35

सड़क पर दौड़ती बेकाबू कार को लोगों ने मेरठ कालेज कुटिया के आगे दौड़कर काबू में किया। लोग कार चालक को पकड़कर थाने ले गये। मुजफ्फरनगर में तैनात एक एसआई ने थाने पर कार चालक सिपाही के खिलाफ तहरीर दी है। आरोपी कार चालक अमित कुमार तेवतिया कमिश्नर के यहां गनर है। एसएसपी ने आरोपी गनर अमित तेवतिया के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिये हंै। वहीं थाना लालकुर्ती पुलिस ने सिपाही का मेडिकल कराया है।

रिश्वतखोर सिपाही भेजा जेल

मेरठ: परीक्षितगढ़ थाना के चितवाना चौकी पर तैनात सिपाही फूल सिंह गांव सौंदत्त निवासी मुजीब व रहीस पुत्रगण इतकाद के एनबीडब्लू वारंट लेकर पहुंचा। जहां पर सिपाही ने दोनों भाइयों से 20 हजार रुपये लेकर वारंट में छोड़ने की बात की थी। जिस पर दोनों भाइयों ने 20 हजार रुपये देने में असमर्थता जताते हुए कम करने की मांग की थी। इस पर सिपाही ने 10 हजार रुपये लेकर वारंट में छोड़ने को लेकर दोनों पक्षों में सौदा हो गया था।

वहीं, इस संबंध में वारंटियों के बड़े भाई सरताज ने एंटी करप्शन के अधिकारियों को जानकारी दी। जिस पर शुक्रवार शाम सरताज 10 हजार रुपये लेकर सिपही फूल सिंह के पास पहुंचा और उसे 10 हजार रुपये बतौर रिश्वत दी थी। वहीं, पहले से ही तैनात एंटी करप्शन टीम ने 10 हजार रुपये फूल सिंह के हाथों में आते ही उसे रंगेहाथों दबोच लिया था। एंटी करप्शन टीम ने भावनपुर थाने पर सिपाही के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया गया था। जिस पर पुलिस ने सिपाही को शनिवार को संबंधित धारा में जेल भेज दिया गया।

भावनपुर के बवाल में मुकदमा दर्ज

मेरठ: भावनपुर थाना क्षेत्र के गांव अब्दुल्लापुर निवासी बजरंगदल के सहपरियोजना प्रमुख के भतीजे विनय के साथ दूसरे समाज के हिस्ट्रीशीटर जिया अब्बास के बच्चों ने मारपीट कर दी थी। जिसके बाद जिया अब्बास साथियों के साथ आया और कृष्णपाल की फोटो की दुकान पर बैठे भतीजे ध्रुव और विनय से मारपीट करते हुए तोड़फोड़ कर फरार हो गए थे। शोर सुनकर आसपास के लोग भी मौके पर पहुंच गए और दोनों पक्षों के बीच पथराव शुरू हो गया था।

इसी बीच सूचना मिलते ही ट्रेनी सीओ नितिन तनेजा मयफोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी की। दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाए। जिस पर हल्का इंचार्ज विक्रम सिंह ने दोनों पक्षों के जिया अब्बास, शबी, आमिर, आबिद, कुमुल, मंसूर व दूसरे पक्ष के दिलकेश, कृष्ण, विनोद, प्रेम और चार-पांच अज्ञात के विरुद्ध संबंधित धारा में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू की।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments