Sunday, February 28, 2021
Advertisment Booking
Home Delhi NCR दीप सिद्धू की 23 फरवरी तक बढ़ाई पुलिस कस्टडी

दीप सिद्धू की 23 फरवरी तक बढ़ाई पुलिस कस्टडी

- Advertisement -
0

जनवाणी ब्यूरो |

नई दिल्ली: दीप सिद्धू की तीस हजारी कोर्ट में पेशी थी इस दौरान कोर्ट ने दीप को क्राइम ब्रांच को सात दिन की कस्टडी में सौंप दि है। इससे पहले 9 फरवरी को दीप सिद्धू को सात दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा गया था। अब दीप सिद्धू को 23 फरवरी तक क्राइम ब्रांच की कस्टडी में रखा जाएगा।

किसान आंदोलन के दौरान निकाली गई ट्रैक्टर रैली के दौरान लाल किले पर हुई हिंसा के मामले में गिरफ्तार दीप सिद्धू की पुलिस कस्टडी बढ़ा दी गई है। दीप सिद्ध की आज 10 बजे तीस हजारी कोर्ट में पेशी थी। इस दौरान कोर्ट ने दीप को क्राइम ब्रांच की सात दी की कस्टडी में सौंप दिया है। इससे पहले 9 फरवरी को दीप सिद्धू को सात दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा गया था। अब दीप सिद्धू को 23 फरवरी तक क्राइम ब्रांच की कस्टडी में रखा जाएगा।

बता दें कि  कि 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च के दौरान दिल्ली में हिंसा भड़क गई थी। इस दौरान कुछ लोग लाल किल परिसर में घुस गए थे और यहां सुरक्षाबलों के साथ हिंसा की थी। यही नहीं लाल किले की प्राचीर पर कुछ लोगों ने धर्मिक झंडा भी लहरा दिया था। दिल्ली पुलिस का आरोप है कि दीप ने ही हिंसा भड़काई थी जिसके चलते सर्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचा था।

इससे पहले पूछताछ में दीप सिद्धू ने बताया था कि उसे शक था कि सरकार के साथ बातचीत में और दिल्ली पुलिस के साथ ट्रैक्टर रैली के दौरान किसान नेता नरम हो रहे थे, लॉकडाउन के दौरान और बाद में दीप सिद्धू को कोई काम नहीं मिला था और अगस्त में जब किसान आंदोलन पंजाब में शुरू हुआ, तो वह इसके प्रति आकर्षित हो गया था।

दिल्ली हिंसा में नाम आने के बाद से दीप सिद्धू फरार चल रहा था। दिल्ली पुलिस ने सिद्धू के ऊपर एक लाख रुपये का इनाम रखा था। 9 फरवरी को दीप सिद्धू को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने पंजाब के जिरकपुर से गिरफ्तार किया था। सिद्धू पुलिस से बचने के लिए लगातार अपनी लोकेशन बदल रहा था। इस दौरान सिद्धू ने अपने जानने वालों के फोन से फेसबुक पर कई वीडियो भी अपलोड किए थे।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments