Tuesday, May 28, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh Newsलखनऊ / आस-पाससरकार किसानों को किसान का दर्जा नहीं दी है - लोकदल

सरकार किसानों को किसान का दर्जा नहीं दी है – लोकदल

- Advertisement -
  • प्रदेश के किसान मतदाता सरकार पर यकीन नहीं करने वाली – लोकदल
  • विधानसभा चुनाव में 700 किसानों की शहादत का लेंगे बदला – लोकदल
  • किसानों के हित की बात करने का तमाशा कर रही बीजेपी और सपा – लोकदल
  • सबका साथ-सबका विकास में किसान शामिल क्यों नहीं?चुनाव में क्यों याद कर रहे है – लोकदल
  • सरकार ने कर्ज़ माफ़ी का जो वादा किया था उसका पालन किसी सरकार ने नहीं किया है – लोकदल

जनवाणी  संवाददाता   |

लखनऊ:  लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी सुनील सिंह ने आज केंद्रीय कार्यालय लखनऊ में कहा है कि जनता जाग गई है झूठे वादे, फ्री के वादे, बेरोजगारों को रोजगार, महंगाई को कम करने के झांसे में नहीं आने वाली है। सभी ही सरकारों को बराबर बराबर मौका मिला किंतु अपने समय में किसी ने भी काम नहीं किया। हर बार की तरह चुनाव में लुभावनी बातें करना सिर्फ राजनीति के लालच को दिखाया है|

लेकिन अब उत्तर प्रदेश में भाईचारा मजबूत हो गया है और प्रदेश की हिंदू और मुस्लिम दोनों ने संकल्प ले लिया है भाजपा या सपा जाति और धर्म की राजनीति करती है जनता और किसान मतदाताओं ने भाजपा को हराने का फैसला ले लिया है।

किसान बिरादरी अपने 700 से ज्यादा शहीद हुए भाइयों की शहादत का बदला 2022 के चुनाव में भाजपा से जरूर लेगी।अपराधियां को निरन्तर प्रश्रय देने वाली भाजपा की पूरे कार्यकाल में सरकार में कानून का जबरदस्त दुरुपयोग किया गया। हर सवाल के साथ सरकार के विरुद्ध उठने वाली आवाज को दबाया अहिंसक आंदोलनकारी किसानों पर जुल्म कर उन्हें तोडऩे की साजिश दर साजिश करती रही|

पूरे सरकार के कार्यकाल में किसान पर अत्याचार किया गया अपने हक की लड़ाई के लिए अपना अधिकार पाने के लिए सरकार से लड़ते रहे। नहीं टूटे तो उन पर आपराधिक धाराओं में फर्जी मुकदमें दर्ज करने धमकानें का खेल किया गया है, जिसे लोकतंत्र में बर्दास्त नहीं किया जाएगा। 15 वर्षो में भाजपा ,सपा और बसपा ने प्रदेश के किसानों की सुध नहीं ली, चुनाव के समय में सपा और भाजपा के किसानों के हित की बात करने का तमाशा कर रही है|

उन्होंने कहा कि सरकार किसानों को किसान का दर्जा नहीं दी है. किसान के दर्जे का अर्थ है उन्हें सिंचाई की सुविधा, पूरा पानी व सस्ती बिजली मिले एवं ट्रैक्टर तथा अन्य कृषि यंत्रों की खरीद पर सब्सिडी नही मिली जैसे अन्य प्रदेशों में मिलती है|

राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी सुनील सिंह ने कहा है कि सरकार किसानों की हितैषी बनने का ढोंग कर रही है यह ढोंग जनता कुछ समझ में आ गया है भाजपा और सपा के झूठे वादों से प्रदेश की जनता तंग आ चुकी है। सत्ता में आने के बाद भाजपा नेताओं ने जनता की उम्मीदें तोड़ने का काम किया है।

सरकारी घमंडी हो जाती हैं।लेकिन सरकार का घमंड तोड़ने के लिए प्रदेश का किसान मतदाता भाजपा सरकार को विधानसभा 2022 के चुनाव में वोट के चोट से आईना दिखाएगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments