Saturday, December 4, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsShamliविपक्षी दलों के नेता दिनभर अपने घरों में रहे कैद

विपक्षी दलों के नेता दिनभर अपने घरों में रहे कैद

- Advertisement -
  • जिला मुख्यालयों पर धरना-प्रदर्शन की घोषणा पर एक्शन
  • नेता बोले, कृषि कानून वापस होने तक जारी रहेगा आंदोलन

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: केंद्र सरकार द्वारा पिछले दिनों देश में लागू किए गए तीन कृषि कानूनों के विरोध में देशभर में सोमवार को जिला मुख्यालयों पर घेराव और धरना-प्रदर्शन की घोषणा के बाद जनपद में पुलिस अलसुबह ही गैर भाजपाई दलों के नेताओं को उनके घरों पर नजरबंद कर दिया।

पिछले सप्ताह भारत बंद के दौरन यह दूसरा मौका है जबकि कृषि कानूनों का विरोध कर रहे विपक्षी दलों के नेताआं को उनके घरों पर पुलिस ने नजरबंद किया।

शामली शहर की चौ. चरणसिंह कालोनी स्थित आवास पर आदर्श मंडी थाना पुलिस ने सपा जिलाध्यक्ष अशोक कुमार सोमवार की सुबह ही नजरबंद कर लिया। उनको कलक्ट्रेट पर प्रस्तावित आज के धरना-प्रदर्शन में न जाने के लिए नोटिस थमाते हुए चेतावनी दी गई।

बाबरी क्षेत्र के गांव कैडी में पूर्व विधायक राव अब्दुल वारिस को उनके आवास पर समर्थकों के साथ बाबरी पुलिस ने नजरबंद कर लिया। इधर, शामली शहर के मोहल्ला लाजपतराय स्थित आवास पर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष दीपक सैनी को शामली कोतवाली पुलिस ने नजरबंद कर लिया।

दीपक ने लगा कि प्रदेश में भाजपा सरकार को अब कांग्रेस के जिलाध्यक्षों से ही डर लगने लगा है। ये कैसा लोकतंत्र है जो विपक्षियों को नजरबंद किया जा रहा है। ऐसे में न न्यायपालिका का पता है।

इसी तरह गन्ना विकास परिषद के चेयरमैन वीरसिंह मलिक को एसओ बाबरी नेमचंद ने उनके पैतृक गांव भिक्का माजरा स्थित आवास पर नजरबंद कर लिया। इस दौरान मलिक ने प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपकर तीनों कृषि विधेयकों को वापस लिए जाने की मांग की।

इधर, शामली से सटे ग्राम ताजपुर सिंभालका में सपा के जिला उपाध्यक्ष प्रदीप सिंभालका को पुलिस ने सुबह ही उनके आवास पर नजरबंद कर लिय। इसी तरह मोहल्ला बरखंडी में सपा नेता राशिद पहलवान तथा मोहल्ला सरवरपीर में सपा नेता नफीस राणा को शामली कोतवाली पुलिस ने उनके घर पर नजरबंद कर लिया। इन सभी  को पहले नोटिस थमाए गए।

कांधला में रालोद नेता विक्रांत जावला नजरबंद

किसान नेताओं के आह्वान के बाद सोमवार को किसानों संगठनों के नेताओं के साथ-साथ राजनीतिक दल भी सक्रिय हो गए थे। इसलिए घोषणा के बाद प्रदेश की भाजपा सरकार ने हर जिले में पुलिस को मुस्तैद रहने के निर्देश दिए थे जिस पर सोमवार की प्रात: ही पुलिस ने क्षेत्र के गांव हुरमंजपुर में राष्ट्रीय लोकदल के वरिष्ठ नेता डा. विक्रांत जावला को थाना प्रभारी रोजन्त त्यागी ने मय फोर्स उनके घर पर नजरबंद कर दिया।

भाकियू सेना के नेता कार्यालय पर नजरबंद

दूसरी ओर, भाकियू किसान सेना के विक्रांत चौधरी, सतेन्द्र जावला, अशोक जावला, राहुल पंवार को संगठन के कांधला स्थित कार्यालय पर नजरबंद कर दिया। इस दौरन राष्ट्रपति को संबोधित चार सूत्रीय ज्ञापन थाना प्रभारी को सौंपकर तीनों बिलों को तत्काल वापस ने की मांग की गई।

अशरफ अली समर्थकों के साथ नजरबंद

जलालाबाद चौकी पुलिस ने एक ओर जहां राष्ट्रीय लोकदल के वरिष्ठ नेता अशरफ अली खान को उनके किला स्थित आवास पर समर्थकों के साथ नजरबंद कर लिया। इसी तरह नगर पंचायत जलालाबाद के चेयरमैन अब्दुल गफ्फार तथा रविंद्र जोगी को भी उनके आवासों पर नजरबंद कर लिया गया।

किसान यात्रा निकालते शेरसिंह को पुलिस ने घेरा

क्षेत्र के गांव दखौडी जमालपुर में पुलिस ने सपा नेता व जिला पंचायत सदस्य शेरसिंह राणा को सोमवार गांव से कलक्ट्रेट तक समाजवादी किसान यात्रा के लिए रवाना होते ही सुबह 7 बजे सीओ थानाभवन अमित सक्सेना, थानाभवन थाना प्रभारी प्रभाकर कैतुरा तथा थाना बाबरी पुलिस के साथ-साथ पीएसी ने रोक लिया।

शेरसिंह राण की सीओ थानाभवन से नोकझोंक भी हुई। इस दौरान सपाइयों ने प्रदेश की भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। बाद में राज्यपाल तथा राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन सीओ को सौंपा। इस दौरान बब्लू प्रधान, सुशील, रकम सिंह, भूपेन्द्र, रोहला सिंह, बिजेन्द्र कुमार, सतीश कुमार, रकम सिंह, सचिन, संजय, प्रेमपाल, नरसिंह प्रधान आदि उपस्थित रहे।

कैराना में सपा विस अध्यक्ष दुकान पर नजरबंद

सोमवार को समाजवादी पार्टी के कैराना विधानसभा के अध्यक्ष डा सत्यपाल कश्यप को सीओ कार्यालय के सामने स्थित उनके आवास पर नजरबंद किया गया हैं। सुबह के समय वें अपने आवास के बाहर स्थित अपनी सेनेटरी की दुकान पर बैठे थे, तभी दो पुलिसकर्मियों ने उनको नजरबंद कर लिया।

ऊन में सपा-रालोद नेता नजरबंद

किसान आंदोलन के समर्थन में विपक्षी दलों द्वारा धरना प्रदर्शन का आह्वान किया गया था जिसके तहत पुलिस ने सपा व लोकदल नेताओं को नजरबंद कर लिया। कस्बा ऊन में सपा नेता नीरज पहलवान तथा नीरज चिकारा को पुलिस ने घर में ही नजरबंद कर दिया, वहीं लोक दल के जिला महासचिव सनोज टोडा को भी पुलिस ने सवेरे ही घर में नजरबंद कर दिया जिससे विपक्षी दल के नेता एवं कार्यकर्ता धरना प्रदर्शन नहीं कर सके।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments