Wednesday, January 26, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutनोडल अधिकारी ने की धान क्रय की समीक्षा

नोडल अधिकारी ने की धान क्रय की समीक्षा

- Advertisement -
  • तीन दिन में भुगतान करें, अभी तक लक्ष्य के सापेक्ष 14 सौ प्रतिशत से अधिक हुआ धान क्रय

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: बचत भवन में धान क्रय की समीक्षा करते हुए शासन से नामित नोडल अधिकारी आबकारी आयुक्त पी गुरुप्रसाद ने कहा कि भारत एक कृषि प्रधान देश है तथा किसानों की खुशहाली में ही देश की खुशहाली है। उन्होंने कहा कि किसान द्वारा उत्पादित धान को क्रय किया जाए तथा क्रय के उपरांत 72 घंटे में उनको भुगतान भी कराया जाए। उन्होंने कहा कि कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

बचत भवन में बैठक की अध्यक्षता करते हुए नोडल अधिकारी पी गुरुप्रसाद ने कहा कि धान क्रय के उपरांत किसानों को पीएफएमएस के माध्यम से भुगतान किया जाए। उन्होंने कहा कि गत वर्ष के सापेक्ष सरकार ने धान क्रय के दामों में वृद्धि की है जिसका सीधा फायदा किसानों को होगा।

डीएम के. बालाजी ने बताया कि जनपद में धान क्रय का लक्ष्य 50 मीट्रिक टन है जिसके सापेक्ष अभी तक 738.24 मीट्रिक टन धान क्रय किया जा चुका है। साधारण प्रजाति के धान के लिए 1868 रुपये व ग्रेड ए के धान के लिए 1888 रुपये प्रति कुंतल धान क्रय का मूल्य निर्धारित है।

जनपद में कुल 13 धान क्रय केंद्र हैं, जिसमें से खाद एवं रसद विभाग विपणन शाखा के 12 व भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) का एक क्रय केंद्र हैं। धान क्रय केंद्रों पर इलेक्ट्रॉनिक कांटे के माध्यम से किसानों के धानों को तोलने की व्यवस्था की गई है।

प्रत्येक धान क्रय केंद्र पर कोविड-19 के दृष्टिगत सैनिटाइजर, साबुन आदि की व्यवस्था साथ ही पानी व शेड की व्यवस्था करने के निर्देश भी दिए गए है। नोडल अधिकारी कल मवाना तहसील के किसी धान क्रय केंद्र का निरीक्षण करेंगे। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन मदन सिंह गबर्याल, नगर मजिस्ट्रेट एसके सिंह, जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी सत्येंद्र कुमार सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

नोडल अधिकारी ने किया दौराला चीनी मिल का निरीक्षण

जनपद के नोडल अधिकारी आबकारी आयुक्त पी गुरुप्रसाद ने रविवार को दौराला चीनी मिल का निरीक्षण कर वहां केन यार्ड में दी जा रही सुविधाओं को देखा। उन्होंने वहां एसएमएस पर्ची से गन्ना क्रय की प्रक्रिया का निरीक्षण किया साथ ही डिस्टलरी व एथनॉल उत्पादन की प्रक्रिया को भी देखा। उन्होंने कहा कि गन्ना मूल्य का भुगतान किसानों को प्राथमिकता पर हो यह सुनिश्चित किया जाए। यह सरकार की प्राथमिकताओं में है। इस अवसर पर नगर मजिस्ट्रेट एसके सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments