Wednesday, July 24, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutनमाज पढ़कर लौट रहे दुकानदार की निर्मम हत्या

नमाज पढ़कर लौट रहे दुकानदार की निर्मम हत्या

- Advertisement -
  • स्कूटी सवार बदमाशों ने पहले गला काटा फिर गोली मारी
  • पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की फुटेज कब्जे में ली
  • एसपी सिटी और सीओ कोतवाली ने परिजनों से की बातचीत

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: लिसाड़ीगेट थानांतर्गत किदवई नगर गली नंबर चार में नमाज पढ़ कर लौट रहे एक दुकानदार की स्कूटी सवार बदमाशों ने पहले धारदार हथियार से गला काटा फिर गोली मार दी। जिससे उसकी मौके पर मौत हो गई। सरेआम हुई हत्या से हड़कंप मच गया और परिवार में हाहाकार मच गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है। पुलिस का मानना है कि हत्या का कारण फिलहाल पारिवारिक रंजिश लग रहा है।

लिसाड़ीगेट थाना क्षेत्र के हापुड़ रोड स्थित किदवई नगर गली नंबर 4 में नमाज पढ़ के लौट रहा 55 वर्षीय निजामुद्दीन की बाइक सवार दो बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या के बाद हमलावर हापुड़ रोड की तरफ फरार हो गए। सूचना पर एसपी सिटी विनीत भटनागर , सीओ कोतवाली अरविंद चौरसिया समेत लिसाड़ीगेट, कोतवाली और देहलीगेट समेत आधा दर्जन थानों का फोर्स घटनास्थल पर पहुंच गया।

21 19

घटना के बाद क्षेत्र में अफरातफरी मच गई और लोगों की भीड़ जमा हो गई। जानकारी लगने के बाद परिवार में कोहराम मच गया। पुलिस ने बताया कि निजामुद्दीन ने घर के बाहर किराना स्टोर की दुकान खोल रखी है। मृतक के पांच बेटे और तीन बेटियां हैं। परिवार में तीन बेटे और एक बेटी की शादी हो चुकी हैं। डेढ़ साल पहले पहले एक बेटे ने प्रेम विवाह किया था। निजामुद्दीन के पांच बेटे थे नदीम वसीम मुरसलीम दानिश आमिर है।

पुलिस ने वारदात की जगह से सीसीटीवी कैमरे की डीवीआर कब्जे में ली है। वहीं मोहल्ले वालों और परिजनों का कहना है कि मृतक निजामुद्दीन की किसी से भी रंजिश नहीं थी। वहीं कुछ लोगों ने पुलिस को बताया कि उन लोगों ने एक सलमान नामक युवक को छुरा लेकर लखीपुरा गली नंबर 18 की तरफ जाते हुए देखा है।

एसपी सिटी विनीत भटनागर का कहना है कि परिवारिक रंजिश सामने आ रही है। परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इनकार किया है। इसके बावजूद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। पुलिस कई बिंदुओं पर जांच कर रही हैं। जल्दी घटना का खुलासा कर दिया जाएगा।

बेटे के झगड़े ने बाप का कराया मर्डर

नमाज पढ़कर लौट रहे निजामुद्दीन की निर्मम हत्या उसकी रंजिश के कारण नहीं बल्कि बेटे के एक युवक सें हुए झगड़े के कारण हुई थी। पुलिस ने मृतक के बेटे से पूछताछ की तो पता चला कि लखीपुरा निवासी सलमान और आमिर के झगड़े के एक घंटे के बाद ही चार बदमाशों ने निजामुद्दीन की हत्या कर दी।

सीओ कोतवाली अरविन्द चौरसिया ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में पता चला है कि नमाज के बाद मृतक निजामुद्दीन के बेटे आमिर का लखीपुरा निवासी सलमान से झगड़ा हुआ था और सलमान ने जान से मारने की धमकी भी दी थी। नमाज के करीब डेढ़ घंटे बाद चार बदमाश हथियारों से लैस होकर आमिर पर हमला करने आये लेकिन आमिर तो मिला नहीं लेकिन उसके पिता को पहले गोली मारी फिर छुरे से गला काट दिया।

20 19

सीओ कोतवाली ने बताया कि आमिर डर के मारे कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। वहीं पुलिस को यह भी जानकारी मिली है कि आमिर का किसी लड़की से संबंध है और उसको लेकर सलमान आदि ने उसे धमकाया था। वहीं पुलिस को गली के लोगों ने बताया कि बाइक और स्कूटी से आए बदमाश जब भागने लगे तो दो बदमाश पैदल भागने लगे तो कुछ युवकों ने उसे रोकने का प्रयास तो हमलावरों ने तमंचा दिखाकर धमका दिया।

वहीं पुलिस को सीसी कैमरे की फुटेज भी मिली है और उसमें कुछ युवक भागते हुए दिख रहे हैं। फिलहाल पुलिस अभी इसी एंगल पर काम कर रही है। सवाल यह भी उठ रहा है कि बदमाशों ने बेटे के झगड़े में पिता की हत्या क्यों की। पुलिस इसका जबाव भी तलाश रही है। यह भी बताया जा रहा है कि घटना के बाद से आमिर गश खाकर गिर पड़ा था और दहशत के मारे कुछ बोल नहीं रहा था।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments