Sunday, October 17, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutलूट में विफल बदमाशों ने गुड़ व्यापारी को मारी गोली

लूट में विफल बदमाशों ने गुड़ व्यापारी को मारी गोली

- Advertisement -
  • घायल व्यापारी एडीजी स्थापना का ममेरा भाई
  • पुलिस ने खंगाली सीसीटीवी कैमरे की फुटेज

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ/परीक्षितगढ़: नगर के गुड़ मंडी निवासी गुड़ व्यापारी को बाइक सवार दो बदमाशों ने रुपयों से भरा बैग लूटने का प्रयास किया। विरोध करने पर बदमाशों ने व्यापारी की पीठ में गोली मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया और फरार हो गए। घायल व्यापारी के परिजनों ने गंभीर अवस्था में आनंद अस्पताल में भर्ती कराया। घटना की सूचना पर एसपी देहात, सीओ सदर देहात, एसओजी टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचे तथा आसपास लगे दुकानों व मकानों सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली, लेकिन कोई सुराग नहीं लग सका। दोपहर को एसएसपी ने सीओ सदर देहात व थानाध्यक्ष से जल्द से जल्द बदमाशों की गिरफ्तारी करने के कडे निर्देश दिए। घायल के पिता ने दो बाइक सवार बदमाशों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।

घायल गुड़ व्यापारी।

नगर के गुड़ मंडी निवासी सुनील गुप्ता (50) पुत्र महेशचंद गुप्ता नगर की नवीन गुड़ मंडी में गुड़ का व्यापार करते हैं। शुक्रवार सुबह सात बजे व्यापारी सुनील घर से बैग में सात लाख रुपये लेकर नवीन गुड़ मंडी स्थित दुकान पर जा रहे थे। इस दौरान जैसे ही व्यापारी अपने पुराने मकान के समीप पहुंचे, तभी पहले से ही घात लगाए खड़े बाइक सवार दो बदमाशों ने रुपयों से भरा बैग लूटने का प्रयास किया, लेकिन व्यापारी ने हिम्मत दिखाते हुए बदमाशों से बैग को लूटने नहीं दिया। बदमाशों व व्यापारी की छिना-झपटी में एक बदमाश गिर गया तथा लूट में विफल होने पर दूसरे बदमाश ने व्यापारी की पीठ में 315 बोर के तमंचे से गोली चला दी।

सीसीटीवी में कैद बदमाश।

गोली की आवाज सुनकर व्यापारी के परिजन व आसपास के लोग घटनास्थल की ओर दौडेÞ। लोगों की अपनी ओर आता देख बदमाश बाइक पर सवार होकर मेन बाजार के रास्ते से आराम से फरार हो गए। परिजनों ने आनन-फानन में घायल व्यापारी सुनील गुप्ता को आनंद अस्पताल में भर्ती कराया। लूट की सूचना पर एसपी देहात अविनाश पांडेय, सीओ सदर देहात ब्रिजेश सिंह एसओजी टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और पीड़ित परिवार से जानकारी लेते हुए आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली और बदमाशों की पहचान करने का प्रयास किया।

फुटेज में बदमाशों के चेहरे साफ नहीं आए, मगर पुलिस बदमाशों की पहचान कराने में जुटी है। दोपहर करीब दो बजे एसएसपी अजय साहनी परीक्षितगढ़ थाने पहुंचे और सीओ सदर देहात, थानाध्यक्ष व एसओजी टीम से जल्द से जल्द बदमाशों को गिरफ्तार करने के कडे निर्देश दिए। घायल के पिता महेशचन्द गुप्ता ने बाइक सवार दो बदमाशों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। उधर, आनंद हॉस्पिटल में घायल व्यापारी का हाल जानने के लिए एडीजी राजीव सब्बरवाल पहुंचे।

लखनऊ तक गूंजी गोली की गूंज

जब पुलिस को ये मालूम हुआ कि घायल गुड़ व्यापारी एडीजी स्थापना लखनऊ संजय सिंघल का ममेरा भाई है तो पुलिस प्रशासन के हाथ-पैर फूल गए। जिस पर एसपी देहात, सीओ सदर देहात व एसओजी की टीम ने घटनास्थल पर कई घंटे तक गंभीरता से बदमाशों का सुराग लगाने के लिए घटनास्थल के पास लगे दुकानों व मकानों के 20 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरों की डीबीआर अपने साथ ले गए तथा गुड़ मंडी, मेन बाजार, मेरठ रोड, पंजाब बैंक, एचडीएफसी बैंक में लगे कैमरों की फुटेज खंगाली, लेकिन कोई सफलता हाथ नहीं लगी।

व्यापारियों में आक्रोश

व्यापारी को गोली मारने की घटना के बाद व्यापारियों में आक्रोश हैं। संयुक्त व्यापार संघ ने बैठक में पूर्व चेयरमैन सुनील प्रकाश, संयुक्त व्यापार संघ अध्यक्ष सुधीर गर्ग ने कहा कि जिस तरह खुलेआम बदमाशों ने व्यापारी को गोली मारकर आसानी से फरार हो गए। पुलिस ने तीन दिन में बदमाशों को गिरफ्तार नहीं किया तो व्यापारी आंदोलन करने पर मजबूर होंगे।

अपराधी और अपराध दोनों बेकाबू, देहात में एक और बड़ी वारदात

देहात में अपराधी और अपराध दोनों बेकाबू हो गए हैं। कब, कहां किसका मर्डर कर दिया जाए, कुछ नहीं कहा जा सकता। दीपावली के बाद भी बड़ी मात्रा में विस्फोटक सामग्री में विस्फोट की घटनाओं ने हिलाकर रख दिया है। सैनी गांव में अपहरण के बाद युवक की हत्या कर दी गई।

परीक्षितगढ़ कस्बे में एडीजी स्थापना के ममेरे भाई को लूट में विफल रहने पर बदमाशों ने दुस्साहसिक ढंग से गोली मारकर सनसनी पैदा कर दी। दिन दहाड़े हुई इस वारदात से व्यापारी वर्ग दहशत में आ गया। व्यापारियों ने पुलिस के खिलाफ बाजार बंद करने की भी धमकी दी है। आखिर देहात क्षेत्र पुलिस के काबू से कैसे निकल रहा है? अपराधी व अपराध, दोनों ही देहात में बेकाबू होते जा रहे हैं।

देहात में बढ़ते अपराध ने आला अफसरों को भी बैचेन कर दिया है। बड़ी मात्रा में देहात क्षेत्र में विस्फोटक सामग्री पुलिस ने एकत्र कैसे होने दी? क्योंकि पहले सरधना में विस्फोट हुआ, जिसमें दो लोगों की जान चली गई। अब फलावदा के रसूलुपर में विस्फोट हुआ। यहां भी दो लोगों की जान चली गई। पुलिस ने पहले दिन इस पर लापापोती करते हुए सिलेंडर फटना बताकर जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लिया।

जब विस्फोटक सामग्री में विस्फोट हुआ तो फिर पुलिस ने कहानी झूठी क्यों तैयार की? अब दोनों ही मामलों में पुलिस पर कार्रवाई कर दी तथा एफआईआर भी दर्ज की। बेकाबू होते देहात क्षेत्र के अपराधियों पर नकेल कसने की आवश्यकता है। इसमें एडीजी स्तर के अधिकारियों को हस्तक्षेप करना होगा, तभी देहात काबू में आ सकता है।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments