Wednesday, July 24, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutनलकूप पर विद्युत मीटर लगाने के विरोध में हंगामा

नलकूप पर विद्युत मीटर लगाने के विरोध में हंगामा

- Advertisement -
  • जिला मुख्यालय पर किया कुशावली गांव के किसानों ने प्रदर्शन

जनवाणी संवाददाता |

सरधना: विद्युत विभाग द्वारा नलकूपों पर लगाए जा रहे मीटर का विरोध बढ़ता जा रहा है। शनिवार को कुशावली गांव के किसानों ने तहसील पहुंच कर प्रदर्शन किया। इसके बाद जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन करने गए। किसानों का कहना है कि सरकार अपने वादे से मुकर रही है। चुनाव में नलकूप की बिजली मुफ्त करने की बात कही थी। अब मीटर लगाकर किसानों पर बोझ डाला जा रहा है।

07 23

शनिवार को किसान मजदूर संगठन के नेतृत्व में कुशावली गांव के किसान तहसील पहुंचे। यहां उन्होंने कहा कि सरकार ने चुनाव के दौरान वादा किया था कि घरेलू विद्युत बिल आधा करने के साथ ही नलकूपों पर बिजली मुफ्त की जाएगी। मगर अब सरकार अपने वादे से पीछे हट रही है। घरेलू बिली आधा होना तो दूर नलकूपों पर मीटर लगवाए जा रहे हैं। जिससे किसानों में भारी आक्रोश है।

इस तरह से किसानों को राहत मिलने के बजाय बोझ ही बढ़ेगा। लगातार विरोध करने के बाद भी सरकार सुनने को तैयार नहीं है। उन्होंने यहां विरोध प्रदर्शन किया। इसके बाद जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन के लिए रवाना हुए। इस मौके पर मनोज कुमार, कुलदीप सोम, विक्रांत राणा, विवेक, ललित, विशाल, जोनी, सुभाष, अजब सिंह, विजयपाल आदि मौजूद रहे।

भाकियू की 27 की महापंचायत में भीड़ जुटाने को पंचायत

ऊर्जा भवन पर 27 जून को होने वाली भाकियू की महापंचायत को सफल बनाने के लिए गांव स्तर पर पंचायतों का सिलसिला आरंभ हो गया हैं। जंगेठी के प्राइमरी स्कूल के प्रांगण में हुई, जिसमें भाकियू की महापंचायत को लेकर मंथन किया। भाकियू मंडल उपाध्यक्ष रविन्द्र दौरालिया ने बताया कि 27 तारीख की ये पंचायत विद्युत विभाग द्वारा मेरठ मंडल सहित आसपास के मंडलों के देहात क्षेत्र के ट्यूबवेलो पर जबरन मीटर लगाने व विद्युत विभाग संबंधित किसानों की तमाम समस्याओ को लेकर आयोजित कि जा रही है।

08 25

भाकियू की यह पंचायत मंडल स्तर की होगी। भाकियू नेता विनोद जाटौली ने बताया कि काले कानूनों की वापसी की व्यस्तता के कारण काफी समय से ऊर्जा भवन पर भारतीय किसान यूनियन का हल्ला नहीं हुआ, जिस कारण विद्युत विभाग की किसानों के प्रति तानाशाही बढ़ गयी है। पंचायत की अध्यक्षता महकार सिंह व संचालन उज्जवल सरूरपुर ने किया। मंच, साउंड, भंडारा,पानी, पार्किंग, प्रचार आदि व्यवस्थाओं को लेकर गहन चर्चा के बाद जिला मेरठ के सक्रिय पदाधिकारियों को जिम्मेदारियां सौंपी गर्इं।

पंचायत में जगत सिंह राठी, पवन प्रधान, गजेन्द्र दबथुवा, सतीश इलमसिंह, प्रशांत सकौती, अशफाक प्रधान, डा. विकास, नरेश मवाना, मनोज सरूरपुर, सतवीर जंगेठी, बबलू जाटौली, सुशील पटेल, आकाश सिरोही, रामवीर, सोहित मवाना, गौरव तेवतिया, देशपाल हुड्डा, पदम सिंह, गजेन्द्र सिंह टांडा, विनेश प्रधान, बिट्टू जंगेठी, इन्द्रपाल, योगेन्द्र, शीन्टू, अमरीश, अमित, राजू, महेश, मनोज, राकेश, इकलौता, धीरेन्द्र छुर, नरेन्द्र दौरालिया, सुरेन्द्र, मयंक छिकारा, सुधीर बालियान, हर्ष यादव, वरुण राठी आदि शामिल रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments