Thursday, December 9, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsSaharanpurशौचालय निर्माण के बाद भी ग्रामीणों को नहीं मिल रही धनराशि

शौचालय निर्माण के बाद भी ग्रामीणों को नहीं मिल रही धनराशि

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

साढौली कदीम: शौचालय निर्माण के बावजूद भी ग्रामीणों को धनराशि नहीं मिल पा रही है। पीड़ितों के अनुसार पिछले छ: माह से ग्राम पंचायत विकास अधिकारी शौचालय निर्माण की धनराशि देने के लिए चक्कर कटवा रहा है। आरोप लगाया कि शौचालय निर्माण के भुगतान के लिए अवैध पैसों की मांग भी कर रहा है।

विकास खंड साढौली कदीम के रसूलपुर ग्राम पंचायत के ग्रामीण दीपक कुमार, अजय कुमार, श्यामलाल, मनीष कुमार, नीटू, जावेद, आशा, निशा, शबनम, फुरकाना आदि ने बताया कि वे मेहनत मजदूरी कर अपना जीवन यापन कर रहे है। उनके पास शौचालय न होने के चलते ग्राम पंचायत चुनाव से पहले ग्राम पंचायत विकास अधिकारी ने उन्हें सरकारी शौचालय बनवाये जाने की बात कही थी तथा शौचालय निर्माण के बाद पूरा पैसा खाते में भेजे जाने का आश्वासन दिया था।

उन्होने मानकों के अनुसार शौचालय अन्यों से पैसा कर्ज ले तैयार करा लिया। जिसके बाद 28 अगस्त को ग्राम पंचायत विकास अधिकारी ने उन्हे 6-6 हजार रुपए के चैक देते हुए जल्द ही पूर्ण राशि का भुगतान कराये जाने का वायदा किया था। जब वह चैक खाते में जमा कराने के लिए बैंक ले गये तो बैंककर्मी ने चैक को गलत बताते हुए उन्हे निरस्त कर वापस कर दिया। उक्त चैक उन्होने ग्राम पंचायत विकास अधिकारी को दिखाये तो उन्होने उन्हे वापस जमा करते हुए जल्द ही पूरे भुगतान बारह हजार रुपये के चैक दिये जाने की बात कही।

लेकिन आज तक भी ग्राम पंचायत विकास अधिकारी ने उन्हे चैक या कोई धनराशि शौचालय निर्माण के लिए नहीं दी है। पीड़ितों ने बताया कि अब उक्त कर्मचारी भुगतान के नाम पर उनसे खर्चे की मांग कर लगातार रिश्वत की मांग रहा है। पीड़ितों ने खंड विकास अधिकारी को पत्र लिखते हुए आवश्यक कार्यवाही की मांग करते हुए उक्त धनराशि प्रदान कराये जाने की मांग कर आवश्यक कार्रवाई की मांग की है। उधर खंड विकास अधिकारी रविप्रकाश सिंह के अनुसार उन्हे उक्त मामले में आज शिकायत मिली है जांच कर आवश्यक एवं कठोर कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments