Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutअतुल प्रधान की महापंचायत आज, आमरण अनशन जारी

अतुल प्रधान की महापंचायत आज, आमरण अनशन जारी

- Advertisement -
  • अतुल प्रधान के आमरण अनशन के सातवें दिन सपा के राष्टÑीय महासचिव चौधरी हरेंद्र मलिक भी पहुंचे

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: कलक्ट्रेट में सपा विधायक अतुल प्रधान के आमरण अनशन को रविवार को सातवां दिन था। अतुल प्रधान के आमरण अनशन को समर्थन देने वालों का लगातार सिलसिला जारी है। चिकित्सकों ने अतुल प्रधान के स्वास्थ्य का चेकअप किया तो उनके स्वास्थ्य में गिरावट दर्ज की, जिसके बाद उनको अस्पताल में भर्ती होने की सलाह भी दी। आज कलक्ट्रेट में होने वाली महापंचायत की सफलता को अतुल समर्थकों ने ताकत झोंक दी हैं। पुलिस-प्रशासन भी पूरी तरह से अलर्ट दिखाई दिया। पूरे मामले में खुफिया तंत्र भी पूरी तरह से पूरे प्रकरण पर नजर बनाए हुए हैं। शासन को मामले में अपडेट दे रहा है।

अतुल प्रधान के आंदोलन को विभिन्न पार्टी एवं संगठनों का समर्थन लगातार मिल रहा है। उधर, भाकियू के राष्टÑीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत के द्वारा भी कलक्ट्रेट धरना स्थल पर पहुंचकर जहां एक तरफ अतुल के आमरण अनशन को समर्थन दिया, वहीं उन्होंने अतुल प्रधान को आंदोलन के तौर तरीकों के बारे में भी बताया। उन्होंने आमरण अनशन की जगह भंडारा शुरू कर आंदोलन को लंबा चलाने की सलाह दी थी। न्यूटिमा के समर्थन में जो कुछ डाक्टर आंदोलन कर रहे हैं, उस पर टिकैत ने कहा कि वह उनके भी संपर्क में हैं।

05 13

वह चहाते हैं,कि समस्या का समाधान हो। क्योंकि दिल्ली व अन्य जगहों के मुकाबले मेरठ में सस्ता इलाज होने की बात पूर्व में सामने आती रही है। यदि अब उपचार एवं स्वास्थ्य जांच के नाम पर लूट जैसी बातें सामने आ रही हैं तो उन पर भी ध्यान दिया जायेगा। उन्होंने बातों ही बातों में बिना किसी पार्टी का नाम लिए बगैर 2024 के चुनाव में बीमारी से निजात दिलाने की बात कही थी। कहा कि यदि उपचार के दौरान यदि किसी की अस्पताल में मृत्यु होती है तो उसका बिना पेमेंट के शव देने से यदि अस्पताल संचालक या चिकित्सक शव देने से इंकार करता है

तो वह शव भी वहीं पर छोड़कर चले आयें। अतुल प्रधान से मिलने के लिए सपा के राष्टÑीय महासचिव चौधरी हरेंद्र मलिक भी पहुंचे। उन्होंने आंदोलन को लेकर अतुल की जमकर सराहना की और कहा कि पूरी पार्टी ही नहीं, बल्कि लगातार सभी वर्गों एवं संगठनों का समर्थन मिल रहा है। यह मुद्दा किसी पार्टी विशेष का नहीं, बल्कि गरीब आम जनता से जुड़ा हुआ बताया। भारतीय किसान यूनियन तोमर, किसान महासभा ने अपना समर्थन सौंपा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments