Tuesday, January 18, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutधनतेरस पर त्रिपुष्कर योग में करें खरीदारी तीन गुना होगा लाभ, मंगलवार...

धनतेरस पर त्रिपुष्कर योग में करें खरीदारी तीन गुना होगा लाभ, मंगलवार को शुरू हो रहा पांच दिवसीय दीपोत्सव

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: दीपोत्सव के पहले आपके घर धन वर्षा का खास योग आपके धन को तीन गुना कर देगा। दो नवंबर को होने वाली धनतेरस के शुभ योग से आपके घर लक्ष्मी का वास होगा। दो नवंबर को धनतेरस कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी को धनतेरस के रूप में मनाया जाएगा।

इस वर्ष कन्या राशि और हस्त नक्षत्र का संयोग मिल रहा है। त्रयोदशी तिथि दो नवंबर मंगलवार को दिन में 11:31 से शुरू होकर तीन नवंबर सुबह 9:02 बजे तक रहेगी। इस दिन मां लक्ष्मी, धनाध्यक्ष कुबैर की पूजा करनी चाहिए। इसी दिन आयुर्वेद के जन्मदाता भगवान धनवंतरी का समुद्र मंथन से प्राकट्य हुआ था।

धनतेरस के दिन बर्तन, सोना-चांदी,आभूषण, वाहन खरीदना मिट्टी के दीपक या घर का सामान खरीदना बेहद शुभ माना जाता है। धनतेरस के दिन बेहद शुभ समझा जाने वाले त्रिपुष्कर योग बन रहा है। त्रिपुष्कर योग में खरीदारी करने का लाभ तीन गुना तक बढ़ता है।

त्रिपुष्कर योग का लाभ दो नवंबर को सूर्योदय से लेकर दिन में सुबह 11:31 बजे तक ही है। ज्योतिचार्य अमित ने बताया कि दो नवंबर को भौम प्रदोष व्रत व्रत भी पड़ रहा है भौम प्रदोष के दिन घर, दुकान, जमीन या प्रॉपर्टी के क्षेत्र में निवेश करने से बड़ा लाभ मिलता है।

धनतेरस के दिन बर्तन, सोना-चांदी, आभूषण, वाहन खरीदना मिट्टी के दीपक या घर का सामान खरीदना बेहद शुभ माना जाता है।

इसलिए खरीदा जाता है बर्तन

आचार्य त्रिपाठी ने बताया कि धनतेरस के दिन बर्तन या धातु के सामान को खरीदने की परंपरा सदियों पुरानी है। धनतेरस के दिन धनवंतरी त्रयोदशी होती है। इस दिन ही वैद्यराज धनवंतरी का जन्म हुआ था।

प्राचीन काल में हमलोग धनतेरस या धनवंतरी जयंती मनाने के लिए नए पात्र खरीदते थे। उसमे शीतकाल में सेवन के लिए औषधि निर्मित किया जाता था। वर्तमान में इस परंपरा निर्वहन बर्तन और नए सामान को खरीदकर किया जाता है। धातु का सामान खरीदने से विशेष फल की प्राप्ति होती है।

धनतेरस पूजन का मुहूर्त

  • ४ शाम 6:05 बजे से शाम 7:58 बजे तक है।

खरीदारी का शुभ मुहूर्त

  • ४ अभिजीत मुहूर्तसुबह 11:27 बजे से दोपहर 12:12 बजे तक।

गोधूलि मुहूर्त

  • ४ शाम 5:12 बजे से 5:36 बजे तक।
  • ४ प्रदोष काल
  • ४ शाम 5:23 बजे से शाम 7:58 बजे तक।

वृषभ काल

४ शाम 6:05 बजे से रात्रि 8:01 बजे तक।

दीपावली मेले में रही सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम

मेरठ: भैंसाली मैदान में आयोजित दीपावली मेले में शनिवार को एक से बढ़कर एक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। मेला स्थल पर सुबह से ही स्कूली बच्चों की ओर से कार्यक्रम आयोजित हुआ। शाम के समय राजस्थानी लोक नृत्य व गायन कार्यक्रम का आयोजन हुआ।

जिसने लोगों को खूब आकर्षित किया। उधर, आज मेले में लेजर लाइट के माध्यम से अयोध्या और रामलीला का दृष्य दर्शाया जायेगा। शनिवार को स्वनिधि दीपावली महोत्सव मेले में कार्यक्रमों की शुरुआत छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर की।

इसके पश्चात् राजस्थानी लोक नृत्य प्रस्तुत कर कलाकारों ने यहां मौजूद लोगों को आकृषित किया। इसके उपरांत से एक से बढ़कर एक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ, जिसमें बच्चों ने अपनी प्रतिभा का जौहर दिखाया।

यहां गायन प्रतियोगिता का भी आयोजन हुआ जिसमें एक से एक बढ़कर प्रतिभागी शामिल हुआ और सबको झूमने पर मजबूर किया। यहां बता दें कि मेले में शनिवार को काफी संख्या में लोग पहुंचे। उधर, आज लेजर लाइट के माध्यम से अयोध्या व रामायण का सुदंर दृष्य प्रस्तुत किया जायेगा।

इसके लिये बंगलौर से टीम यहां पहुंच चुकि है। इस मौके पर नगरायुक्त मनीष बंसल, अपर ममता मालवीय, सहायक नगरायुक्त इंद्र विजय, सहायक नगरायुक्त ब्रजपाल सिंह समेत तमाम आलाधिकारी मौजूद रहे। इस मौके पर सैकड़ों की संख्या में मेले में लोगों ने पहुंचकर कार्यक्रम का लुत्फ उठाया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments