Monday, October 25, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutदुष्कर्म की शिकार छात्रा की मौत, कुटी पर लगाया जाम

दुष्कर्म की शिकार छात्रा की मौत, कुटी पर लगाया जाम

- Advertisement -
  • पोस्टमार्टम महिला डाक्टर की मौजूदगी में हुआ, बिसरा सुरक्षित
  • आरोपी सूरज फरार ई-रिक्शा चालक डर कर भागा
  • जीआईसी से निकलते ही अगवा करने का आरोप

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: राजकीय इंटर कालेज से परीक्षा देकर निकली इंटर की जिस छात्रा को अगवा कर दुष्कर्म कर बेहोशी की हालत में फेंक दिया था, उसे ई-रिक्शा चालक ने बेहोशी की हालत में उठाकर घर छोड़ा था, उस छात्रा की इलाज के दौरान आनंद अस्पताल में मौत हो गई। छात्रा के परिजनों ने दुष्कर्म का आरोप लगाया था।

एसपी सिटी का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि भले नहीं हुई है, लेकिन छात्रा की मौत को गंभीरता से लिया गया है। आरोपी जाहिदपुर निवासी सूरज को पकड़ने के लिये पुलिस की कई टीमें लगा दी गई है। वहीं, पोस्टमार्टम के बाद जब छात्रा का शव कुटी स्थित आवास पर लाया गया तो परिवार की कुछ महिलाओं ने जमकर हंगामा कर जाम लगाया। बाद में पुलिस अधिकारियों के आश्वासन के बाद जाम खोल दिया गया। बाद में छात्रा का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

गत बुधवार शाम राजकीय इंटर कॉलेज में परीक्षा देकर लौट रही छात्रा निवासी मोहल्ला कुटी थाना नौचंदी को टेम्पो चालक द्वारा गलत दिशा में ले जाकर नशीला पदार्थ खिलाया गया। उसके बाद दुष्कर्म किया गया और सड़क पर छोड़कर चला गया था। युवती को एक ई-रिक्शा चालक ने सड़क से उठाया और उसके घर पहुंचाया था। युवती की हालत देख परिजन तुरंत ही नौचंदी क्षेत्र के गुरुद्वारा रोड पर डा. अशोक गर्ग के यहां ले गए।

वहां से उसे तत्काल जिला अस्पताल रेफर किया गया, लेकिन हालत अधिक खराब होने के कारण युवती को मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। परिजनों ने दावा किया कि उनकी बेटी की आंखों की रोशनी जा चुकी है। छात्रा को मेडिकल में इलाज चल रहा था जिसकी शुक्रवार दोपहर मौत हो गई। दलित छात्रा की मौत की खबर लगते ही हड़कंप मच गया। लखनऊ से पुलिस महानिदेशक मुकुल गोयल ने भी जानकारी ली।

जिस वक्त छात्रा के शव का पोस्टमार्टम हो रहा था। उस वक्त सुरक्षा के कड़े प्रबंध किये गए थे। कुटी चौराहे पर कई दलित दारोगा माहौल को देखते हुए लगाए गए थे। पोस्टमार्टम के बाद शव को कुटी स्थित आवास पर लाया गया। जहां महिलाओं ने हंगामा करते हुए जाम लगा दिया। सीओ सिविल लाइन ने महिलाओं को आश्वासन दिया कि आरोपी सूरज जाटव को हर हाल में पकड़ लिया जाएगा। इसके बाद महिलाओं ने जाम खोल दिया। बाद में पुलिस ने सूरज के परिवार के कई लोगों को थाने पर बैठा लिया।

बेहद शातिर है आरोपी सूरज

छात्रा की मौत के लिये जिम्मेदार सूरज जाटव की शिनाख्त उस ई-रिक्शा चालक ने कर दी है, जिस पर बैठ कर छात्रा आई थी। दिन भर की मशक्कत के बाद पुलिस के हत्थे ई-रिक्शा चालक लग गया। उसे जब सूरज की फोटो दिखाई गई तो उसने पहचान लिया और कहा कि यह युवक ही छात्रा के साथ बैठकर आया था।

छात्रा की तबीयत काफी खराब लग रही थी और वो उसे पकड़े हुए बैठा था। सूरज ने रिक्शा में बैठे एक युवक से मोबाइल लेकर छात्रा के घर फोन करके बताया कि तबीयत बहुत ज्यादा खराब है, कुटी पर आ जाओ। सूरज शनि मंदिर के पास उतरकर भाग गया। एसपी सिटी ने बताया कि 25 वर्षीय सूरज की छवि बहुत खराब है और कई लड़कियों की जिंदगी खराब कर चुका है। उसके खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

सीसीटीवी फुटेज की कहानी

छात्रा के परिजनों ने पुलिस को जो जानकारी दी थी उसे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज झुठला रही है। छात्रा का कहना था कि जीआईसी से निकलने के बाद उसे सारे टेम्पो भरे हुए मिले। जबकि फुटेज में दिख रहा है छात्रा पैदल जा रही है और खाली टेम्पो निकल रहे हैं। छात्रा के पीछे सूरज भी चलता हुआ दिख रहा है।

छात्रा ने कहा कि गांधी आश्रम चौपले पर उसे टेम्पो चालक बेहोशी की हालत में छोड़ गया। जबकि चौराहे पर किसी ने भी इस घटना की पुष्टि नहीं की। एक ई-रिक्शा चालक ने छात्रा को जरूर घर पहुंचाया। सवा चार बजे जीआईसी से निकलने के बाद छात्रा साढ़े आठ बजे के करीब अपने घर पहुंची। उस वक्त उसकी आंखों में काफी परेशानी थी। गंभीर हालत में उसे मेडिकल में भर्ती कराया गया। जहां उसकी मौत हो गई।

आरोपी सूरज के चाचा ने बात की

जिस वक्त छात्रा के घर वाले पुलिस से शिकायत दर्ज कराने गए तभी आरोपी सूरज के चाचा ने मृतका के भाई से फोन पर बात करके कहा कि जब तुम्हारी लड़की घर पहुंच गई है, फिर क्यों पुलिस से शिकायत कर रहे हो। इस पर मृतका के भाई ने चाचा को हड़काते हुए कहा कि तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई फोन करने की। तुम सबको उठवाउंगा। गुरुवार को छात्रा के घर वालों ने आरोपी सूरज को लेकर ज्यादा जोर नहीं दिया था। छात्रा की मौत के बाद अब सूरज मुख्य आरोपी बन गया है। पुलिस ने आरोपी को पकड़ने के लिये दबिशें दी, लेकिन सूरज मोबाइल बंद करके फरार हो गया। पुलिस परिवार के लोगों को उठा लाई है।

मनोरोग विशेषज्ञ ने छात्रा से की बात

एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि छात्रा की हालत को देखते हुए शहर के वरिष्ठ मनोरोग विशेषज्ञ डा. सम्यक जैन को छात्रा से बात करने के लिये मेडिकल भेजा गया था। उन्होंने बातचीत के बाद बताया था कि छात्रा की हालत देखकर लग रहा है कि छात्रा के शरीर में जहर है और उसकी हालत बेहद गंभीर है। डाक्टर ने बताया कि छात्रा की मौत सेफ्टी शॉक से हुई है।

पोस्टमार्टम में महिला डाक्टर भी

छात्रा की मौत के बाद संभावित बवाल से बचने के लिये पुलिस ने छात्रा के पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी बनवाई और इस दौरान एक महिला डाक्टर को भी रखा। पुलिस ने इससे पहले छात्रा के मेडिकल परीक्षण में चार स्लाइड जांच के लिये फॉरेंसिक लैब भिजवा दी है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments