Friday, June 14, 2024
- Advertisement -
HomeNational Newsजानिए, रत्नेश्वर मंदिर के तिरछा खड़ा होने का रहस्य?

जानिए, रत्नेश्वर मंदिर के तिरछा खड़ा होने का रहस्य?

- Advertisement -

नमस्कार, दैनिक जनवाणी डॉट कॉम वेबसाइट पर आपका हार्दिक स्वागत और अभिनन्दन है। वाराणसी के रत्नेश्वर मंदिर का नाम तो सभी से सुना ही होगा लेकिन शायद ही आप मंदिर की खासियत के बारे जानते होंगे। भारत का सबसे पुराना शहर वाराणसी में वैसे तो कई प्रसिद्ध और प्राचीन मंदिर हैं। लेकिन यहां के रत्नेश्वर मंदिर को तिरछा खड़ा होने के कारण हर वर्ष लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं। तो आइये जानते है इस रहस्य के बारे में…

22 15

रत्नेश्वर मंदिर के तिरछा खड़ा होने के पीछे भी एक कहानी है। बताया जाता है कि यह मंदिर राजा मानसिंह के एक सेवक ने अपनी माता रत्नाबाई के लिए बनवाया था। इस मंदिर को बनवाने के बाद उस सेवक ने बड़े गर्व से घोषणा की।

सेवक ने कहा कि उसने अपनी मां का कर्ज उतार दिया है। कहा जाता है कि व्यक्ति के मुंह से जैसे ही यह शब्द निकले, वैसे ही मंदिर पीछे की ओर झुकने लगा। जिसका अर्थ यह निकाला गया कि मां के कर्ज को कभी चुकाया नहीं जा सकता है। वर्ष के ज्यादातर समय इस मंदिर का गर्भगृह गंगा के जल के नीचे रहता है।

23 15

बताया जाता है कि रत्नेश्वर मंदिर भी अन्य मंदिरों की तरह सीधा था लेकिन वर्तमान में यह तिरछा खड़ा है। कहा जाता है कि एक बार घाट के ढह जाने से यह मंदिर झुक गया था। तब से लेकर आज तक यह मंदिर तिरछा है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments