Friday, February 3, 2023
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutएमडीए ने चलाया कई कालोनियों पर बुलडोजर

एमडीए ने चलाया कई कालोनियों पर बुलडोजर

- Advertisement -
  • मेरठ विकास प्राधिकरण उपाध्यक्ष अभिषेक पांडेय के निर्देशन में अवैध कॉलोनी की ध्वस्त

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: मेरठ विकास प्राधिकरण (एमडीए) उपाध्यक्ष अभिषेक पांडेय के निर्देशन में शनिवार को अवैध कालोनियों पर बुलडोजर चलाकर ध्वस्तीकरण अभियान चलाया। दर्जन भर से ज्यादा अवैध कालोनियों पर बुलडोजर चलाकर साइट आॅफिस, सड़कें और मुख्य गेट को तोड़ दिया। इसके अलावा कई स्थानों पर व्यवसायिक दुकानों का निर्माण किया गया था, उन्हें भी प्राधिकरण इंजीनियरों की टीम ने पुलिस फोर्स की मौजूदगी में बुलडोजर चलाकर गिरा दिया।

परतापुर स्थित भूड़बराल में रमेश एन्क्लेव कॉलोनी करीब 20000 वर्ग मीटर में निर्मित की जा रही थी। ये कॉलोनी अरविंद सिंघल की बताई गई है, जिसे प्राधिकरण ने सड़कों और साइट आॅफिस को गिरा दिया। चार खंभा रोड फतेहपुर रोड पर समर गार्डन स्थित फारुख की करीब 3500 वर्ग मीटर में विकसित की जा रही थी। अवैध कॉलोनी पर निर्मित की जा रही सड़क का ध्वस्तीकरण कर दिया।

इसी तरह से सदाकत व सबउद्दीन की कॉलोनी ग्राम बजोट में करीब 9000 वर्ग मीटर में विकसित की जा रही थी, इस कॉलोनी को प्राधिकरण ने बुलडोजर चलाकर ध्वस्त कर दिया। इस दौरान एक्सईएन निरंकार सिंह तोमर, सोमेंद्र प्रताप ,संजीव कुमार तिवारी, ओमपाल सिंह आदि मौजूद रहे। जोन-बी मामेपुर में करीब 6000 वर्ग मीटर में अवैध कॉलोनी विकसित की जा रही थी, जिसे यशपाल सिंह नामक व्यक्ति विकसित कर रहे थे। इस पर प्राधिकरण का बुलडोजर चला।

कॉलोनी के गेट और साइट आॅफिस को गिरा दिया गया। डाबका एनएच-58 बाइपास स्थित योगेश की अवैध कॉलोनी पर प्राधिकरण ने बुलडोजर चला दिया। करीब 2000 वर्ग मीटर में अवैध कॉलोनी विकसित की जा रही थी। इस दौरान कार्यवाहक चीफ इंजीनियर वीके सोनकर, अवर अभियंता वेद प्रकाश अवस्थी, राकेश पंवार आदि मौजूद रहे।

गंगानगर स्थित सत्येंद्र सिंह आदि ट्रांसलम एकेडमी एमआईटी कॉलेज के सामने बिना तलपट मानचित्र स्वीकृत कराए करीब 20000 वर्ग मीटर जमीन में आवासीय भूखंडों का नव सर्जन किया जा रहा था तथा सड़क नालिया एवं विकास कार्य किए गए थे। इस कॉलोनी की दुकानें, सड़के, साइट आॅफिस, बाउंड्री वाल आदि को तोड़ दिया गया।

…यहां सेटिंग का चला बुलडोजर

भाजपा जिला पंचायत सदस्य विकास उपाध्याय की अवैध कॉलोनी पर सेटिंग का बुलडोजर चला। जिला पंचायत सदस्य के भाई सुभाष उपाध्याय अवैध कॉलोनी काट रहे है। इस कॉलोनी पर कार्रवाई के नाम पर एमडीए की टीम ने आॅफिस, नाली और प्लॉट की बाउंड्री को ध्वस्त कर दिया है। कॉलोनी के गेट पर बनाई गयी दुकानों को नहीं तोड़ा गया। यहां पर सिर्फ खानापूर्ति करने के लिए शटर को तोड़ दिया। दुकानों को नहीं गिराया।

महज खानापूर्ति कर सभी दुकानों के शटर तोड़ दिए और दुकानों के ऊपर लेंटर पर केवल बुलडोजर ने पंजे मारे गए। यही हाल मवाना रोड स्थित ट्रांसलम एकेडमी परिसर में अवैध रूप से विकसित की जा रही है यश कुंज कॉलोनी का हुआ। यहां भी एमडीए की टीम कॉलोनी में बनाई गईं सड़क को खोदकर खानापूर्ति कर चलती बनी, जबकि कॉलोनी में मार्केट का निर्माण किया गया हैं। इसका किसी तरह का मानचित्र स्वीकृत नहीं हैं। ग्राम मामेपुर में सरकारी तालाब की जमीन पर बनाई जा रही यशपाल चौधरी की साई ग्रीन कॉलोनी को एमडीए की टीम पूरा ध्वस्त करके लौटी,

जिसमें बाउंड्रीवाल, मैन गेट और प्लॉट के लिए खोदी गई बुनियाद ध्वस्त कर दी। सवाल ये है जब यश कुंज कॉलोनी में दुकानें पर बुलडोजर क्यों नहीं चलाया गया? जोनल वीके सोनकर ने गंगानगर थाना प्रभारी से पहले तो यह कह दिया कि निर्माणाधीन दुकानें खाली कराओ…बुलडोजर चलेगा, लेकिन फिर किसका फोन उनके पास आया, इसके बाद दुकानों को नहीं तोड़ा गया।

इसमें भी जोनल और बिल्डर के बीच सेटिंग का खेल हो गया। उस पर बुलडोजर क्यों नही चला? यह बड़ा सवाल हैं। इसी प्रकार अम्हेड़ा में भी अवैध मार्केट ध्वस्त नहीं की गई। कॉलोनी के बाहर गेट पर सिर्फ शटर तोड़कर खानापूर्ति की गई। क्या शटर अवैध थे और दुकानों ठीक थी? इसमें भी एमडीए के जोनल वीके सोनकर की भूमिका व जेई वेदप्रकाश अवस्थी की भूमिका पर सवाल उठ रहे हैं।

अवैध कॉलोनी पर चला एमडीए का बुलडोजर

मेरठ विकास प्राधिकरण (एमडीए) की ओर से चलाए गए विशेष अभियान के तहत अवर अभियंता संजय वशिष्ठ ने बताया कि भावनपुर थाना क्षेत्र स्थित गढ़ रोड पर कालोनाइजर अशोक सैनी काफी समय से अवैध रूप से कालोनी काट रहे थे। जिस पर विभाग के अधिकारियों ने कई बार चेतावनी भी दी। इसके बावजूद कालोनाइजर कालोनी काटते रहे।

जिसके चलते अवर अभियंता संजय वशिष्ठ अपनी टीम के साथ-साथ भारी पुलिस बल की मौजूदगी में बुलडोजर लेकर पहुंचे और कालोनी की चार दीवारी, सड़क, पाइप लाइन व प्लाट की नींव तक को उखाड़ते हुए ध्वस्तीकरण किया गया। हालांकि सूचना पर पहुंचे कालोनाइजर व उसके समर्थकों ने एमडीए की कार्रवाई को रोकने का भरक प्रयास किया, लेकिन अवर अभियंता ने उसकी एक नहीं सुनी। वहीं, एमडीए के अवर अभियंता संजय वशिष्ठ से जानकारी करने पर बताया कि उक्त कालोनी को मेरठ निवासी अशोक सैनी काट रहा है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments