Sunday, January 23, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMuzaffarnagarचुनाव निगरानी में लापरवाही हुई तो न पाएंगे अधिकारी

चुनाव निगरानी में लापरवाही हुई तो न पाएंगे अधिकारी

- Advertisement -
  • एडीईओ ने अधिकारियों की बैठक कर चुनाव आयोग के नियमों का पढ़ाया पाठ

जनवाणी संवाददाता  |

मुजफ्फरनगर: उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने अधिकारियों की बैठक कर उन्हें चुनाव आयोग के निर्देशों से अवगत कराया। उन्होंने स्पष्ट रूप से बताया कि यदि चुनाव निगरानी में किसी तरह की भी चूक पाई जाएगी तो संबंधित अधिकारी के खिलाफ निश्चित रूप से कार्रवाई की जाएगी।

उप जिला निर्वाचन अधिकारी नरेन्द्र बहादुर सिंह ने भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों के क्रम मे अगामी विधानसभा निर्वाचन को शुचितापूर्ण एवं पारदर्शी ढंग से सम्पन्न कराने के उददेश्य से फलाईंग स्क्वयर्ड, स्टैटिक टीम, सहायक व्यय प्रेक्षक, वीडियो निगरानी, लेखा टीम एवं वीडियो अवलोकन टीम, के प्रभारी अधिकारियों के साथ जिला पंचायत सभागार में कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि फलाईग स्क्वयार्ड व स्टैटिक टीम अपनी डयूटी जिम्मेदारी से निभाये। उन्होने कहा कि अगर अवैध शराब, शस्त्रों का जखीरा व भारी मात्रा मे कैश आदि मिलता है इसके सम्बन्ध में तत्काल जानकारी देगे । इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं करेगे।

उन्होने कहा कि सभी टीमों को अपने स्तर से चैमुखी गतिमान बनने की जरूरत है। सभी अपने अपने डयूटी क्षेत्र में मुस्तैद रहेंगे तथा अपनी मुस्तैदी व क्षमता का सबूत अपने कार्य से देगे। उन्होंने निर्देश दिये कि आदर्श आचार सहिंता का किसी भी स्तर पर उल्लंघन नहीं होने दिया जायेगा। उन्होने कहा कि सभी प्रकार की क्रिया-प्रक्रिया को कैमरे में उतारा जायेगा।

उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि टीमों का यह दायित्व होगा कि किसी की भी प्रकार की छोटी-बडी रैली, जनसभा छूटने नहीं पाये। इसी प्रकार प्रत्याशियों की प्रत्येक गतिविधि पर भी पकड बनायी जायेगी। प्रत्याशियों के काफिले में यदि बिना स्वीकृति प्राप्त वाहन मिलते है तो उनकी चैकिंग कर रिर्टनिंग अधिकारी को सूचित करे ताकि उनको सीज किया जा सकेे।

उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने निर्देश दिये कि उडन दस्ता टीम से कोई भी जन सभा न छूटे तथा इस प्रकार वीडियोग्राफी करें कि पण्डाल, कुर्सी, वहां पर वाहनों के नम्बर प्लेट सहित भोजन आदि के सम्बन्ध में भी पूरी जानकारी वीडियो में आनी चाहिए।

उन्होंने निर्देश दिये कि प्रत्येक होर्डिग्स, रैली व वालपेंटिग आदि को भी वीडियो में कैद करें ताकि उनका आंकलन कर सकें।

उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि प्रत्येक दिन वीडियोग्राफी की रिर्पोटिंग रिटर्निंग आफिसर को उपलब्ध करायी जायेगी तथा अपने रिटर्निग आफिसर से जन सभा व रैली आदि की तिथि व समय अवश्य नोट करेगे तथा उसी अनुरूप टीम अपनी रणनीति तैयार करेंगे। उन्होने कहा कि चैंकिग करते वक्त व्यवहार नरम रखेें।

बैठक में प्रभारी अधिकारी/ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर, जिला निर्वाचन कंट्रोल सेन्टर ने पीपीटी के माध्यम सें सि-विजिल ऐप के बारे में जानकारी उपलब्ध कराई। उन्होने बताया कि इस ऐप के माध्यम से प्राप्त होने वाली शिकायतों के निस्तारण हेतु 100 मिनट का समय निर्धारित किया गया है जिसमें उडन दस्ता टीम के माध्यम से शिकायत प्राप्त होने की स्थिति में 30 मिनट के अन्दर शिकायत पर कार्यवाही करते हुए विवरण को अपने रिर्टनिंग अधिकारी को अग्रेसित कर शिकायत का निस्तारण करायेगें।

शिकायतकर्ता उक्त जियो बेस्ड ऐप के माध्यम से, जो कि निर्धारित स्थान पर ही लाइव फोटो, वीडियों एवं वाॅइस रिकार्ड करते हुए अपनी शिकायत कर सकता है।

बैठक में नगर मजिस्ट्रेट श्री अनूप कुमार, वरिष्ठ कोषाधिकारी संतोष कुमार, समस्त उपजिलाधिकारी सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments