Friday, May 31, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutसुविधा नहीं, अब शहर में जाम लगा रहे ई-रिक्शा

सुविधा नहीं, अब शहर में जाम लगा रहे ई-रिक्शा

- Advertisement -
  • डीएम के आदेश पर भी नहीं हुई अपंजीकृत ई-रिक्शा पर कार्रवाई
  • शहर में जाम का कारण बन रहे ई-रिक्शा

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: ई-रिक्शा जनता की सुविधा के लिए संचालित किये गए थे, लेकिन अब ई-रिक्शा जाम की समस्या पैदा कर रहे हैं। जिधर देखो, उधर ई-रिक्शा के चलते जाम लग रहे हैं। 20 हजार ई-रिक्शा शहर की सड़कों पर दौड़ रहे हैं। इनमें से सिर्फ छह हजार ई-रिक्शा के ही पंजीकरण आरटीओ में हैं, लेकिन फिर भी अवैध दौड़ने वाले ई-रिक्शा को नहीं रोका जा रहा हैं।

ये तो तब है, जब डीएम दीपक मीणा अधिकारियों की बैठक लेकर सीधे एसपी ट्रैफिक को बिना पंजीकरण दौड़ रही ई-रिक्शा पर कार्रवाई करने की जिम्मेदारी दे चुके हैं, लेकिन फिर भी कोई कार्रवाई इन ई-रिक्शा के खिलाफ नहीं हो रही हैं। आखिर कब होगी कार्रवाई? जनता की सुविधा के लिए चलाये गए ये ई-रिक्शा जनता की परेशानी का सबब बन गए हैं। जिस चौराहे का भी अधिकारी औचक निरीक्षण करेंगे, उसी चौराहे पर ये ई-रिक्शा की भीड़ मिलेगी। जो सड़कों पर जाम की समस्या पैदा कर रहे हैं।

03 6

जाम से निपटने की तमाम रणनीति अधिकारी बना रहे हैं, लेकिन जाम से शहर को मुक्ति नहीं मिल पा रही हैं। आखिर जाम की समस्या से निजात दिलाने की दिशा में कब होगी कार्रवाई? ई-रिक्शा पर कार्रवाई आरंभ होते ही कुछ हद तक शहर में जाम की समस्या से जनता को राहत आवश्य मिलेगी। क्योंकि पंजीकरण छह हजार का और शहर में ई-रिक्शा दौड़ रहे हैं बीस हजार। इस सत्यता को भी अधिकारी स्वीकार कर रहे हैं, लेकिन इसके बाद भी इन ई-रिक्शा पर कानून की चाबुक नहीं चल रही हैं।

इन चौराहों पर सर्वाधिक अराजकता का माहौल

बेगमपुल चौराहे से लेकर जीरो माइल्स तक जाम की समस्या हैं, जहां पर सर्वाधिक अरातकता ई-रिक्शा चालकों की दिखाई देती हैं। बेगमपुल के ठीक ऊपर ई-रिक्शा खड़े कर दिये जाते हैं। पीएल शर्मा रोड के टी-प्वाइंट तक ई-रिक्शा खड़े रहते हैं। यहां से निकलना भी मुश्किल हैं। ट्रैफिक पुलिस भी यहां रहती हैं, लेकिन यहां का ट्रैफिक कंट्रोल नहीं हो पाता हैं। वजह चाहे जो हो, लेकिन यहां ट्रैफिक का हाल बुरा हैं।

इससे आगे बढ़ते हैं। जीरो माइल्स पर भी ई-रिक्शा कैंट क्षेत्र व मैन रोड पर खड़ी कर दी जाती हैं। हापुड अड्डा भी ई-रिक्शा चालकों की अराजकता की चपेट में हैं। वहां भी ट्रैफिक अनियंत्रित हैं। मेडिकल के सामने के हालात भी कुछ वैसे ही हैं, लेकिन यहां पर ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की ड्यूटी तो लगी हैं, लेकिन ई-रिक्शा चालकों पर कानून की चाबुक नहीं चल रही हैं।

बेगमपुल पर ई-रिक्शा से लग रहा जाम, पुलिस बनी तमाशबीन

मेरठ: शहर में बेतहाशा दौड़ रहे ई-रिक्शा से हर कोई परेशान है। सड़कों पर बेलगाम दौड़ते ई रिक्शा से टैÑफिक पुलिस भी जानबूझकर अंजान बनी है। वहीं, बेगमपुल पर सैकड़ों ई-रिक्शाओं का जमावड़ा लोगों के लिए जी का जंजाल बन गया है। वहीं, जाम के लिए जिम्मेदार ई-रिक्शाओं पर टैÑफिक पुलिस तमाशबीन बनी है। बेमगपुल पर हापुड़ रोड को जाने वाली रोड और दिल्ली रोड जगत सिनेमा के सामने ई-रिक्शाओं का जमावड़ा सुबह से रात तक देखा जा सकता है।

04 5

टैÑफिक में आवागमन में बाधक बने ये ई-रिक्शा सुबह से ही सड़कों के बीच खड़े हो जाते हैं। जिससे सड़कों पर दूर-दूर तक वाहनों की लंबी कतारें लग जाती है। जिसके चलते बेगमपुल पर जाम की समस्या उत्पन्न हो जाती है। सड़कों पर बेतरबीब दौड़ रहे ये ई-रिक्शा टैÑफिक पुलिस के सामने से होकर गुजर जाते हैं। नियम विरुद्ध दौड़ रहे ये ई-रिक्शा ट्रैफिक के लिए मुसीबत बने हैं। यही वजह है कि आवागमन में लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। टैÑफिक पुलिस इन ई-रिक्शाओं पर कार्रवाई करने के बजाय इन पर पूरी तरह मेहरबान है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments