Thursday, October 21, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमेडिकल में नॉन कोविड मरीजों पर मंडराया बड़ा खतरा

मेडिकल में नॉन कोविड मरीजों पर मंडराया बड़ा खतरा

- Advertisement -
  • कोविड-19 संक्रमितों के बीच ही रहेंगे अब नॉन कोविड मरीज

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: मेडिकल में नॉन कोविड-19 मरीजों पर भी अब संक्रमण का खतरा मंडरा रहा है। नॉन कोविड मरीजों के साथ पुरानी बिल्डिंग में संक्रमित मरीजों को रखा जाएगा। इसकी तैयारी की जा रही हैं। जबकि नयी सुपर स्पेशियलिटी बिल्डिंग में कुछ अन्य मरीजों को रखे जाने की योजना पर काम चल रहा है। यदि कोविड-19 संक्रमित पुरानी बिल्डिंग की चौथी मंजिल पर शिफ्ट किए जाते हैं तो इसको वहां पहले से रखे गए नॉन कोविड मरीजों में संक्रमण को लेकर बड़ा खतरा हो सकता है।

पुरानी बिल्डिंग में सैकड़ों मरीज

मेडिकल की जिस पुरानी बिल्डिंग में कोरोना संक्रमित मरीजों को शिफ्ट किए जाने की बात कही जा रही है। उसमें नॉन कोविड मरीजों की संख्या की यदि बात की जाए तो यह सैकड़ों में है। दरअसल मेडिकल की पुरानी बिल्डिंग में ही मरीजों को ज्यादा रखा जाता है वहीं पर उनका इलाज किया जाता है। ज्यादातर बीमारियों का इलाज इसी बिल्डिंग में किया जाता है।

पुरानी बिल्डिंग के वार्ड

पुरानी बिल्डिंग के यदि वार्ड की बात की जाए तो उनमें गायनिक, फिमेल सर्जिकल, न्यूरो ब्लाक सर्जरी, ग्राउंड फ्लोर पर हड्डी वार्ड, आईटी वार्ड। इसके अलावा एमबीसी, ह्यूमन मैटा बॉलिक वार्ड, बाल रोग, न्यूरो सर्जरी, टीबी व स्किन वार्ड तथा आंख और ईएनटी वार्ड हैं जहां मरीज रखे जाते हैं।

क्या कहता है प्रोटोकॉल

कोविड-19 आइसोलेशन वार्ड बनाने के लिए जो प्रोटोकॉल जारी किया गया है उसके मुताबिक जिस बिल्डिंग में कोरोना संक्रमित के लिए आइसोलेशन वार्ड बनाया जाए उस बिल्डिंग में अन्य मरीज नहीं रखे जा सकते हैं। कोविड संक्रमित ही वहां रखे जाने चाहिए। हालांकि माना जा रहा है कि संक्रमण के प्रभाव के कम होने के चलते संभवत प्रोटोकॉल में कुछ बदलाव किए गए हैं।

पुरानी बिल्डिंग में तैयारी

मेडिकल की जिस पुरानी बिल्डिंग की चौथी मंजिल पर कोविड-19 संक्रमितों को शिफ्ट किए जाने की बात कही जा रही है। बताया गया है कि वहां तमाम तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं। साफ-सफाई के अलावा करीब 50 बेड का एक वार्ड भी तैयार किया गया है। सूत्रों ने जानकारी दी है कि एक जनवरी तक यहां संक्रमितों को शिफ्ट करने का प्लान है। हालांकि इसमें अब कुछ देरी की बात कही जा रही है।

प्राचार्य ने किया इनकार

इस संबंध में जब मेडिकल प्राचार्य डा. ज्ञानेन्द्र कुमार से बात की गयी तो उन्होंने इस प्रकार की किसी योजना या तैयारी ने इनकार किया। उन्होंने बताया कि अभी तो ऐसा कुछ नहीं होने जा रहा है। सुपर स्पेशियलिटी में ही अभी संक्रमितों को रखा जाएगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments