Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeNational Newsअभी तक 11 मृतकों में से किसी की नहीं हुई शिनाख्त, DNA...

अभी तक 11 मृतकों में से किसी की नहीं हुई शिनाख्त, DNA जांच से होगी पहचान

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

नई दिल्ली: बाहरी दिल्ली के अलीपुर इलाके की पेंट फैक्टरी में लगी आग में मरने वालों की संख्या 11 हो गई है। शुक्रवार तड़के पुलिस ने फैक्टरी से चार अन्य शव बरामद किए। इससे पहले गुरुवार रात दमकल कर्मियों ने सात शवों को बाहर निकाला था। मृतकों में 10 पुरुष और एक महिला शामिल है।

मृतकों के शव 80 फीसदी से ज्यादा झुलसे हैं। इससे अभी तक किसी भी शव की शिनाख्त नहीं हो सकी है। इसके लिए अब पुलिस सभी शवों की डीएनए जांच करवाकर उनकी पहचान कराएगी। वहीं, हादसे में एक महिला और दिल्ली पुलिस के सिपाही समेत चार लोग घायल हो गए। घायलों का लोक नायक अस्पताल व सफदरजंग अस्पताल में इलाज चल
रहा है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि जांच में पता चला है कि हरियाणा के सोनीपत निवासी अखिल जैन फैक्टरी के मालिक हैं। पुलिस ने फैक्टरी मालिक के खिलाफ धारा 304 (गैर इरादतन हत्या) और 308 (गैर इरादतन हत्या का प्रयास) के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस अखिल जैन की तलाश कर रही है। जैन के मोबाइल की आखिरी लोकेशन हादसे के वक्त फैक्टरी के पास की है। इसके बाद से मोबाइल बंद है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि गुरुवार शाम 5.25 बजे पुलिस और दमकल विभाग को नेहरू एंक्लेव, दयाल मार्केट स्थित एक पेंट की फैक्टरी में भीषण आग लगने की जानकारी मिली। इसके बाद अलीपुर थाने की पुलिस और दमकल की आधा दर्जन गाड़ियां मौके पर पहुंच गई। पुलिसकर्मियों ने देखा कि फैक्टरी में रखे केमिकल ड्रम में धमाका हो रहा है, जिससे आग फैक्टरी के सामने के मकानों, नशा मुक्ति केंद्र और दुकानों में फैल गई है।

पुलिस कर्मियों ने जान पर खेलकर नशा मुक्ति केंद्र और मकानों में फंसे चार पांच लोगों को बाहर निकाला। इसमें से दो महिला समेत तीन लोग झुलस गए थे। घायलों को पुलिस ने तुरंत लोकनायक अस्पताल में भर्ती कराया। लोगों को बचाने के दौरान अलीपुर थाने में तैनात सिपाही करमवीर (35) भी झुलस गए। उनको सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दूसरी तरफ झुलसे अन्य लोगों की पहचान ज्योति (42), दिव्या (20), मोहित सोलंकी (34) के रूप में हुई है। इनका लोकनायक अस्पताल में इलाज चल रहा है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि आग बुझाने के दौरान केमिकल ड्रम में हुए धमाके से फैक्टरी की छत और दीवार भरभराकर गिर गई। इसमें फैक्टरी में काम करने वाले कई लोग फंस गए। आग बुझाने के बाद दमकल कर्मियों ने तलाशी अभियान चलाया। रात 11 बजे तक सात शवोें को बाहर निकाल लिया गया था।

फैक्टरी में लगा लोहा और फर्श गर्म होने के बाद जेसीबी मंगाकर मलबे में दबे लोगों की तलाश शुरू की गई। इसी बीच एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई और राहत बचाव का काम शुरू किया। एनडीआरएफ की टीम ने देर रात को चार अन्य शव को निकाल लिया। पुलिस अधिकारी का कहना है कि परिजनों के मुताबिक अभी कुछ लोग लापता हैं। इनकी तलाश के लिए फैक्टरी के मलबे को हटाने का काम जारी है।

अभी तक किसी शव की शिनाख्त नहीं हो सकी है। इसके लिए डीएनए जांच करवाई जाएगी। इसके बाद ही शवों का पोस्टमार्टम होगा। अभी सभी शव बाबू जगजीवन राम अस्पताल की मोर्चरी में रखे हुए हैं। मामला दर्ज कर पुलिस हादसे की वजहों की जांच कर रही है।         -राजीव रंजन, अतिरिक्त पुलिस आयुक्त, दिल्ली पुलिस

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments