Wednesday, December 1, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutभाकियू के कब्जे में रहेगा हाइवे

भाकियू के कब्जे में रहेगा हाइवे

- Advertisement -
  • संभलकर निकले, आप जाम में फंसे तो पैदा हो सकती है बड़ी मुश्किलें

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: यदि आप एनएच-58 से निकलने वाले है तो संभलकर जाइये। क्योंकि आज हाइवे पर भाकियू का डेरा रहेगा। ये डेरा एक-दो दिन नहीं, बल्कि अनिश्चितकालीन रहेगा। ऐसा भाकियू ने ऐलान किया है। मेरठ में जिटौली के सामने भाकियू अपना डेरा लगाकर बैठ जाएगी तथा पूरी तरह से हाइवे को बंद रखा जाएगा।

इस दौरान आप जाम में फंसे तो बड़ी मुश्किल पैदा हो सकती है। इसलिए हाइवे से नहीं गुजरे तो बेहतर होगा। मुश्किल तब होने वाली है क्योंकि 27 नवंबर को विवाह समारोह भी बहुत है, ऐसे में विवाह समारोह में शिरकत करने वालों को दिक्कतें पैदा होगी। यही पर नहीं, बल्कि बागपत में हरियाणा बॉर्डर को भाकियू बंद करेगी।

वहां से किसी का भी आवागमन नहीं होगा। भाकियू यूपी-हरियाणा बार्डर पर निवाड़ा चेक पोस्ट के निकट यमुना पुल पर धरना देगी और आक्रोश जताया जाएगा। भाकियू ने आंदोलन की रणनीति तैयार की है और वेस्ट यूपी में मेरठ, बागपत, मुजफ्फरनगर व गाजियाबाद समेत अन्य जनपदों में भी हाइवे पर धरना देकर बैठेंगे। यह धरना सुबह 11 बजे से चालू होगा।

भाकियू का यह आंदोलन अनिश्चित कालीन होगा। भाकियू का यह आक्रोश हरियाणा में किसानों की हाइवे पर एंट्री नहीं करने देने पर फूटा है। किसानों ने ऐलान कर दिया है कि हाइवे से उन्हें नहीं जाने दे रहे है तो हरियाणा के जो भी एंट्री प्वांइट है, उनमें हरियाणा के लोगों की एंट्री पूरी तरह से बंद कर दी जाएगी।

हाइवे जाम किये जाएंगे। भाकियू के इस ऐलान से सरकार के लिए बड़ी मुश्किल खड़ी होगी। अब आंदोलनकारी भाकियू कार्यकर्ताओं से पुलिस-प्रशासन कैसे निपटेगा, ये बड़ा सवाल है। ऐसे में पुलिस ने भाकियू कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज किया तो आंदोलन उग्र भी हो सकता है। एनएच-58 पर जिटौली में धरना चलेगा।

यह जानकारी भाकियू जिलाध्यक्ष मनोज त्यागी ने दी है। जनपद के तमाम पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं को इसकी जानकारी दे दी है। पूरी रणनीति के साथ भाकियू नेता व कार्यकर्ता मैदान में उतर रहे हैं। बागपत जनपद में भी भाकियू की ओर से यूपी-हरियाणा बॉर्डर सील किया जाएगा।

भाकियू के बागपत जिलाध्यक्ष प्रताप गुर्जर ने बताया कि सभी जनपदों में आंदोलन होंगे। बागपत जनपद में यूपी-हरियाणा बॉर्डर पर निवाड़ा में यमुना नदी पुल पर धरना दिया जाएगा। जनपदभर के पदाधिकारी, कार्यकर्ता, किसान इस धरने में शामिल होंगे। दोपहर करीब 11 बजे से धरना दिया जाएगा। इस धरने को लेकर रणनीति तैयार कर ली गई है।

आज शुभ मुहुर्त में होगी परेशानी

शुक्रवार को शादी का शुभ मुहुर्त भी है और काफी संख्या में शादियों के आयोजन भी हैं। भाकियू के आंदोलन से कहीं न कहीं सड़कें प्रभावित होंगी और कार्यक्रम में जाने वालों को कड़ी मशक्कत का सामना करना पड़ेगा। देखा जाए तो मेरठ, बागपत मुजफ्फरनगर, शामली, सहारनपुर में आने वाले अधिकांश वाहन हाइवे पर रोके जाएंगे।

बागपत के निवाड़ा पुल से पूरी तरह से आवागमन बंद रखा जाएगा। निवाड़ा पुल पर भाकियू के धरने से हरियाणा की ओर से आने वालों के लिए और बागपत की ओर से जाने वालों के लिए एक बार एक्सप्रेस वे ही रह जाएगा। वहां से जाने के लिए दूरी भी काफी होगी। लोगों को कार्यक्रमों में समय पर पहुंचना बहुत कठिन होगा।

दिल्ली-देहरादून हाइवे पर चक्का जाम करेंगे किसान

किसानों को दिल्ली जाने से रोकने के लिए पुलिस द्वारा किये गये बल प्रयोग की निंदा करते हुए किसानों की समस्याओं को लेकर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत ने गुरुवार को आंदोलन का ऐलान करते हुए दिल्ली देहरादून हाइवे चक्का जाम करने की तैयारी का आह्वान किसानों से किया है।

गुरुवार को उन्होंने शहर के सर्कूलर रोड स्थित अपने आवास पर किसानों और यूनियन पदाधिकारियों के साथ मीटिंग करते हुए 27 नवम्बर को हाइवे पर चक्का जाम का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि प्रदेशव्यापी इस आंदोलन के अन्तर्गत मुजफ्फरनगर में कल नावला कोठी ही चक्का जाम आंदोलन कर मुख्य केन्द्र रहेगा।

राकेश टिकैत ने जानकारी देते हुए कहा कि मंसूरपुर थाना क्षेत्र के नावला कोठी के पास राजमार्ग को पूरी तरह जाम किया जाएगा और किसान अपने खाने-पीने के सामान के साथ मौजूद रहेंगे। जो भी राष्ट्रीय स्तर पर किसान संगठनों द्वारा निर्णय लिया जाएगा उसका पालन होगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments