Monday, March 8, 2021
Advertisment Booking
Home Uttar Pradesh News Bijnor किसान महासभा में किसानों की नब्ज टटोल गईं प्रियंका गांधी

किसान महासभा में किसानों की नब्ज टटोल गईं प्रियंका गांधी

- Advertisement -
+1

जनवाणी संवाददाता |

चांदपुर: नगर के रामलीला मैदान में आयोजित कांग्रेस की किसान महासभा में प्रियंका गांधी बाईस मिनट के संबोधन में किसानों की नब्ज टटोल गई। पूरे संबोधन में उन्होंने जहां केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा वहीं किसानों की पैरवी करती नजर आई।

कृषि कानून के विरोध में किसान संगठनो के दिल्ली में ढाई माह से चल रहे धरना प्रदर्शन की खुलकर वकालत करते हुए किसानों की नब्ज टटोलकर वह प्रदेश में मरणासन्न हो चुकी कांग्रेस को संजीवनी देने में लग गई है।

नगर के रामलीला मैदान में जिलाध्यक्ष शेरबाज पठान के नेतृत्व में संपन्न हुई किसान सभा में प्रियंका गांधी किसानों की पैरवी करती नजर आई। उन्होंने सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों को जहां पूरी तरह से किसान विरोधी बताया वही तीनों कानूनों से किसानों के स्थान पर प्रधानमंत्री के पूंजीपति मित्रों की आय दुगनी होने का दावा किया। उन्होंने कहा कि सरकार बड़ी सोच समझकर किसानों से बिना पूछे तीन कृषि कानून लेकर आई है जिससे किसानों का तो भला नहीं होगा, लेकिन प्रधानमंत्री के पूंजीपति मित्रों का बेड़ा पार हो जाएगा।

प्रियंका गांधी ने अपने संबोधन में सरकार द्वारा लाए गए तीनों कानूनों के संबंध में विस्तार से बताया और साथ ही उन्होंने कहा कि यदि सरकार ने काले कानून वापस नहीं लिए तो इससे किसान बर्बादी के कगार पर पहुंच जाएंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस किसानों के साथ पूरी तरह से खड़ी है और जब तक सरकार कानून वापस नहीं लेगी कांग्रेस पीछे नहीं हटेगी।

उनका कहना था कि किसान कड़ाके की सर्दी में खुले आसमान के नीचे दिल्ली की सड़कों पर आंदोलन कर रहे हैं। केंद्र सरकार व देश के प्रधानमंत्री किसानों की पूरी तरह से अनदेखी करने में लगे हैं । उन्होंने कहा कि आने वाला समय किसानों का होगा और किसान अपना बदला लेकर रहेंगे।

नरेंद्र मोदी ने करोड़ो युवाओ को रोजगार दिलाने का भरोसा दिया था । लेकिन जब से सरकार में आए हैं तब से उन्होंने रोजगार दिलाने के लिए एक भी नई फैक्ट्री नहीं लगाई है । बल्कि कांग्रेस के शासनकाल में लगाए गए उद्योग धंधों को बेचने में लगे हैं। केंद्र सरकार ने किसान ही नहीं बल्कि मजदूरों व व्यापारियों की कमर तोड़ कर रख दी है। किसान आंदोलन के दौरान दो सौ से अधिक किसान शहीद हो गए हैं, लेकिन केंद्र सरकार व प्रधानमंत्री के पास उन्हें श्रद्धांजलि देने तक का वक्त नहीं है।

संसद में किसानों के लिए मौन धारण करने की बात कही जाती है तो सत्ताधारी पार्टी के सांसद व मंत्री उसे नकार देते हैं । सड़क से लेकर संसद तक किसानों का अपमान किया जा रहा है। कांग्रेस पार्टी इसे कभी भी बर्दाश्त नहीं करेगी। किसान महासभा को प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ,सांसद इमरान प्रतापगढ़ी , शाहिद सिद्दीकी , इमरान मसूद , नूरबानो , ओमवती सिंह आदि ने संबोधित किया ।

शेरबाज का कद बढा गई प्रियंका गांधी

नगर में आयोजित किसान महासभा में प्रियंका गांधी ने महासभा के आयोजक शेरबाज पठान की पीठ थपथपा कर उनका कद बढ़ा दिया। रामलीला मैदान में आयोजित किसान महासभा में भीड़ देखकर कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष खुश नजर आई।उन्होंने पार्टी के जिलाध्यक्ष शेरबाज पठान से कुछ क्षणों के लिए गुफ्तगू भी की इससे शेरबाज पठान का कद बढ़ा है ।

कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच हुई किसान महासभा

किसान महासभा में प्रियंका गांधी के आने से पुलिस प्रशासन पूरी तरह से सतर्क रहा। रामलीला मैदान के चप्पे-चप्पे पर पुलिस व पीएसी के जवान तैनात थे। सुरक्षा के लिहाज से रामलीला मैदान व उसके आसपास चार पुलिस क्षेत्राधिकारियो के साथ ही 16 निरीक्षक, 50 उपनिरीक्षक तथा ढाई सौ पुलिसकर्मियों के साथ ही पीएसी के जवान तैनात किए गए थे।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments