Sunday, May 26, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutरिटायर्ड फौजी ने किया आत्मदाह का प्रयास

रिटायर्ड फौजी ने किया आत्मदाह का प्रयास

- Advertisement -
  • फौजी चीख-चीखकर बोला-मुझे मरने दो, खरखौदा पुलिस सुनवाई नहीं कर रही

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: खरखौदा क्षेत्र गांव कैली निवासी एक रिटायर्ड फौजी ने अपनी पत्नी सहित एसएसपी आॅफिस पर पहुंचकर अपने ऊपर पेट्रोल डालकर आत्मदाह का प्रयास किया। फौजी द्वारा आत्मदाह करते देख पुलिस आॅफिस पर हड़कंप मच गया। आनन फानन में पुलिसकर्मियों ने फौजी पर पानी डालकर उसे बचाया।

फौजी का आरोप है कि खरखौदा पुलिस पुत्रवधू और उसके परिवार वालों पर कार्रवाई नहीं कर रही। जबकि सभी ने मिलकर उसके घर में घुसकर तोड़फोड़ करते हुए मारपीट कर नकदी लूट ली थी। फौजी चीख चीखकर कह रहा था कि मुझे मरने दो। खरखौदा पुलिस उसकी सुनवाई नहीं कर रही।

खरखौदा थाना क्षेत्र गांव कैली निवासी वीरेन्द्र सिंह पुत्र जहान सिंह भूतपूर्व सैनिक है। वीरेन्द्र सिेंह अपनी पत्नी सरिता देवी के साथ सुबह एसएसपी आॅफिस पहुंचा और वहां जाते ही उसने अपने शरीर पर पेट्रोल डालकर आत्मदाह का प्रयास किया। व्यक्ति को अपने शरीर पर पेट्रोल डाल आत्मदाह प्रयास करते देखा तो पुलिस आॅफिस पर तैनात पुलिसकर्मियों में हड़कंप मच गया। एसएसपी के पीआरओ और तमाम पुलिसकर्मी दौड़ते हुए आत्मदाह करने वाले फौजी के पास पहुंचे और उसे बचाते हुए शरीर पर कंबल डाल दिया।

15 1

उसके बाद उस पर पानी डालकर उसे बचाया। रिटायर्ड फौजी ने बताया कि उसके बेटे नीतिश मलिक की शादी 6 माह पूर्व वैशाली पुत्री अनिल निवासी कुनकुरा थाना इंचोली के साथ हुई थी। शादी के बाद से ही बहू वैशाली ने उनके बेटे नीतिश के साथ मारपीट व गालीगलौच शुरु कर दी थी। वह पूरे परिवार के साथ कू्ररता का व्यवहार करती थी। एक बार उनके बेटे नीतिश को जहर देकर मारने का प्रयास किया। उसके बाद पति नीतिश व परिवार वालों के साथ मारपीट कर दहेज एक्ट का मुकदमा खरखौदा थाने में दर्ज कराया था।

फौजी वीरेन्द्र का आरोप है कि 30 जुलाई को वैशाली अपने साथ गौरव अमित, विपिन, सुनीता,तजेन्द्र, आशु, निशा आदि को साथ लेकर उनके घर पहुंची। वहां आते ही उन्होंने उनके घर के सीसीटीवी कैमरे तोड़ डाले। परिवार में पत्नी सरिता देवी व बेटी रितिका के साथ मारपीट की। उसकी दुकान में तोड़फोड़ करते हुए एक लाख की नकदी लूट ली और उसके साथ भी मारपीट की।

पुलिस नहीं कर रही सुनवाई

रिटायर्ड फौजी का आरोप है कि उस दिन उसने 112 पर पर भी फोन किया। लेकिन पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। उसने कई बार बार खरखौदा पुलिस से कार्रवाई की मांग की। लेकिन पुलिस उसकी सुनवाई नहीं कर रही। इसलिए वह एसएसपी आॅफिस पर इच्छामृत्यु की मांग करने पहुंचा था।

पुलिस का बयान

खरखौदा निवासी नीतिश के ऊपर उसकी बहू द्वारा जनपद अलीगढ़ में एक दहेज का मुकदमा लिखवाया गया है। फौजी के बेटे नीतिश द्वारा द्वारा बिना तलाक लिए एक दूसरी युवती वैशाली निवासी इंचौली के साथ शादी कर ली गई। दूसरी युवती द्वारा भी बेटे और फौजी ससुर पर दहेज संबंधी मुकदमा खरखौदा थाने पर दर्ज कराया गया है। जिसमें परिवार न्यायालय में मध्यस्थता में कार्रवाई चल रही है।

जिस वजह से मुकदमे की कार्रवाई रुकी है। वादी ससुर द्वारा अपनी बहू को बुलाकर लिखित में उसका सामान वापस किया गया था। बावजूद उसके बहू पर एक मुकदमा पंजीकूत कराया गया है। उसमें पुलिस स्तर से कोई कार्रवाई नहीं की जा सकती। पुत्रवधू पर दबाव बनाने के लिए आत्महत्या जैसी कार्रावाई का प्रयास करता है।

उत्पीड़न से आहत युवक ने किया आत्मदाह का प्रयास

जानी खुर्द: कलंजरी के एक युवक ने चोरी के आरोप के चलते पुलिस व बिल्डर के उत्पीड़न से आहत होकर अपने ऊपर ज्वलनशील पदार्थ डालकर आग लगाकर आत्मदाह का प्रयास किया गया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर युवक की जान बचाई। कलंजरी निवासी पंकज पुत्र जयवीर पांचली स्थित डिफेंस सिटी में संजीव त्यागी के साथ प्रॉपर्टी का काम करता है। डिफेंस सिटी में ही संजीव रस्तोगी भी मकान बनाकर बेचने का काम करते हैं। संजीव रस्तोगी का दो दिन पहले बोर्ड व बिजली का तार चोरी हो गये थे।

17 1

इस चोरी में पंकज पर आरोप लगाकर जबरन उससे सुभारती चौकी पर तैनात दारोगा जितेंद्र ने संजीव रस्तोगी को 15 हजार रुपये दिला दिए। पंकज चोरी के आरोप व 15 हजार के दंड से दो दिन से आहत था। शुक्रवार को वह बागपत बाइपास पुल पर पहुंचा और अपने ऊपर ज्वलनशील पदार्थ डालकर आत्मदाह का प्रयास करने लगा। जानकारी पाकर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और आत्मदाह कर रहे पंकज को बचा लिया। समाचार लिखे जाने तक पुलिस पंकज को थाने लाकर जानकारी जुटा रही है। वहीं, पंकज थाने पर भी दारोगा जितेंद्र पर उत्पीड़न का लगातार आरोप लगा रहा है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments