Thursday, January 27, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliजनपद की चीनी मिलों पर 211 करोड़ बकाया

जनपद की चीनी मिलों पर 211 करोड़ बकाया

- Advertisement -
  • 31 दिसंबर तक 25.5 करोड़ के भुगतान का आश्वासन
  • किसान यूनियन के साथ मिल प्रतिनिधियों की बैठक

जनवाणी संवाददाता  |

शामली: मंगलवार को कलक्ट्रेट पर किसान यूनियन का कलक्ट्रेट पर धरना प्रदर्शन हुआ। धरने के बाद एडीएम शामली बिजेंद्र सिंह तथा जिला गन्ना अधिकारी विजय बहादुर सिंह के अलावा जनपद की तीनों चीनी मिलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक हुई। बैठक में गत पेराई सत्र के गन्ना भुगतान पर मुख्य रूप से चर्चा हुई। साथ ही, चीनी मिल प्रतिनिधियों की ओर से आगामी 31 दिसंबर तक 25.5 करोड़ रुपये का बकाया गन्ना भुगतान किए जाने का आश्वासन दिया।

इसके अलावा एसडीएम शामली के नेतृत्व में एक कमेटी का गठन किया जाएगा। कमेटी तीनों तीनों मिलों के गोदामों का निरीक्षण कर एक रिपोर्ट देगी। रिपोर्ट में देखा जाएगा कि किस मिल में कितना स्टॉक है और उसने कितना भुगतान किया है। इसके बाद मिल प्रतिनिधियों और किसान यूनियन के पदाािकारियों की अगली बैठक आगामी 10 जनवरी को होगी। कमेटी जब निरीक्षण करेगी उसकी वीडियोग्राफी होगी और मीडिया को भी साथ जाने की परमिशन होगी। इस बात पर भी सहमति बनी।

बैठक में अपर जिलाधिकारी संतोष कुमार सिंह, जिला गन्ना अधिकारी विजय बहादुर सिंह, शामली चीनी मिल के जीएम केन डा. कुलदीप पिलानिया, ऊन चीनी मिल से जीएम केन अनिल कुमार अहलावत के अलावा थानाभवन चीनी मिल के प्रतिनिधि उपस्थित रहे। किसानों में किसान यूनियन राष्ट्रीय अध्यक्ष सवित मलिक, राष्ट्रीय महासचिव संजीव लिलौन, प्रदेश सचिव शोएब खान जिलाध्यक्ष अमित निर्वाल, रिशिपाल मलिक, जयपाल सिंह, ऋषिपाल बालियान, जितेंद्र, राजेंद्र सिंह, यामीन चौधरी, पंकज सीरोहा आदि मौजूद रहे।

गन्ना मंत्री से आज मिलेंगे किसान

प्रदेश के कैबिनेट गन्ना मंत्री सुरेश राणा बुधवार को गन्ना समिति शामली के नए भवन के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम में आएंगे। किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सवित मलिक ने बताया कि कार्यक्रम के बाद किसानों का एक प्रतिनिधि मंडल गन्ना मंत्री से भेंट कर उनसे बकाया गन्ना भुगतान की मांग करेगा।

मुकदमे वापस लिए जाने की मांग

किसान यूनियन ने अपर जिलाधिकारी संतोष कुमार सिंह के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेजे ज्ञापन में किसान आंदोलन के समय दर्ज हुए मुकदमें वापस किए जाने की मांग की है। इसके अलावा किसान आंदोलन के समय निरस्त शस्त्र लाइसेंस भी बहाल किए जाने की मांग की।

ज्ञापन में गत पेराई सत्र के साथ-साथ वर्तमान पेराई सत्र का गन्ना भुगतान को अविलंब दिलाया जाए तथा आवारा गोवंश द्वारा फसलों के किए जा रहे नुकसान का मुआवजा पीड़ित किसानों को दिए जाने की मांग भी की है। ज्ञापन सौंपने वालों में किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सवित मलिक, ऋषिपाल सिंह, जयपाल सिंह, संजीव लिलौ, मुरसलीन अंसारी, उमर अंसारी आदि शामिल रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments