Tuesday, December 7, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMuzaffarnagarकिसानों व पत्रकार की अस्थियां शुकतीर्थ में हुई विसर्जित

किसानों व पत्रकार की अस्थियां शुकतीर्थ में हुई विसर्जित

- Advertisement -
  • लखीमपुर में कुचले गये किसानों व पत्रकार की अस्थियां शुकतीर्थ लेकर पहुंचे थे भाकियू अध्यक्ष
  • भाकियू के पूर्व मंडलाध्यक्ष राजू अहलावत को बताया धोखेबाज
  • भाजपा पर जमकर बरसे किसान यूनियन के अध्यक्ष, बताया तानाशाह

जनवाणी संवाददाता |

मोरना: लखीमपुर के तिकुनिया मोड़ पर गाड़ी से कुचलकर मारे गये चार किसानों व एक पत्रकार की अस्थियों का विसर्जन बुधवार को शुकतीर्थ स्थित गंगा में किया गया। इन अस्थियों को भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चैधरी नरेश टिकैत अपने साथियों के साथ लखीमपुर से शुकतीर्थ लेकर पहुंचे थे। अस्थियों का गंगा में विसर्जन किये जाने के साथ ही उनकी आत्मा की शान्ति के लिए प्रार्थना भी की गई।

गौरतलब है कि 3 अक्टूबर केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री के कार्यक्रम का किसानों द्वारा विरोध किया गया था। इस विरोध के बाद लखीमपुर खीरी के तिकुनियां मोड़ पर तेज गति से आई एक गाडी किसानों को रोंदती हुई चली गई थी। इस घटना में 8 लोगों की मौत हो गई थी। मरने वालों में 4 किसान व एक पत्रकार शामिल थे। इस घटना को अंजाम देने में वालों केंद्रीय मंत्री टेनी के बेटे आशीष मिश्र मोनू का नाम भी प्रकाश में आया है।

इस मामले में एसआईटी द्वारा जांच की जा रही है। किसानों की मौत के बाद किसान संगठनों में भारी रोष है। इस घटना के तुरन्त बाद किसान नेता लखीमपुर खीरी पहुंच गये थे। इसी के साथ ही विपक्षी दलों ने भी लखीमपुर खीरी केन्द्र सरकार को कटघरे में खड़ा किया था। बुधवार को लखीमपुर खीरी कांड में मारे गये चार किसानों व एक पत्रकार की अस्थियों को लेकर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चैधरी नरेश टिकैत गाड़ियों के काफिले के साथ धार्मिक नगरी शुकतीर्थ पहुंचे, जहां पर वह गंगा घाट पर पहुंचे एक नांव में अपने साथियों के साथ सवार हुए तथा गंगा में सभी की अस्थियों को विसर्जित किया।

इस दौरान घटना में मारे गये सभी किसानों व पत्रकार की आत्मा की शान्ति के लिए प्रार्थना भी की गई। इस दौरान नरेश टिकैत के साथ धीरज लाठियांन, योगेश शर्मा, विकास चैधरी, सर्वेंद्र राठी, भरतवीर आर्य, सुरेंद्र चैधरी, पलविंदर, सरदार, पुष्पेंद्र उर्फ बिट्टू प्रधान, अशोक कप्तान राठी, मुकेन्द्र ,सन्दीप तोमर, गोल्डी राठी, प्रदीप शर्मा, अमीर सिंह, सरदार आदि सेकड़ों कार्यकता मौजूद रहे।

राजू अहलावत धोखेबाज, अब भाजपा को न दे धोखा

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि राजू अहलावत ने भारतीय किसान यूनियन को धोखा दिया है। राजू अहलावत से उम्मीद है कि अब वह भाजपा को इस तरह का धोखा न दे दें। उन्होंने कहा कि सरकार अपनी हठधर्मिता के चलते देश का नास करने पर तुली हुई है।

सरकार को किसानों से बात करनी चाहिए, क्योंकि बिना बातचीत के यह रास्ता नहीं निकल सकता है। किसानों को कृषि बिलों का विरोध करते हुए एक साल होने जा रहा है, परन्तु सरकार किसानों की सुनने के लिए तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि किसान तब तक आंदोलन करेगा,ज जब तक कृषि कानून वापिस नहीं हो जाते।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि राजू अहलावत द्वारा किसानों के धरने को राजनीतिक बताया गया है, यदि उन्हें यह धरना राजनीतिक नजर आ रहा था, तो वह यह सलाह पहले दे सकते थे। यदि उन्होंने यह सलाह दी है, तो इस पर विचार किया जायेगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments