Wednesday, May 29, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutचतुर सऊदी की ‘चतुराई’ के आगे दुनिया चकराई

चतुर सऊदी की ‘चतुराई’ के आगे दुनिया चकराई

- Advertisement -
  • हज यात्रियों को एयर फेयर के फेर में फंसा खुद अपना खजाना भर रही सऊदी सरकार

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: हज जैसी पवित्र यात्रा के साथ खुद सऊदी सरकार खिलवाड़ करने पर तुली हुई है। ‘एयर फेयर’ के खेल में दुनिया भर के लाखों हज यात्रियों को एक प्रकार से लूटने वाली सऊदी सरकार सिर्फ अपने खजाने को भरने पर लगी है। सऊदी एयरलाइंस की देखा देखी दुनिया भर की दूसरी एयरलाइंस भी हज यात्रा के दौरान अपने हवाई किराए में बेतहाशा वृद्धि कर देती हैं। वहीं, दूसरी ओर सऊदी सरकार की ढुलमुल नीतियों के चलते सऊदी में दुनिया भर से पहुंचने वाले हज यात्री खुद को ठगा-सा महसूस कर रहे हैं।

इस पूरे प्रकरण पर आॅल इंडिया मिल्ली काउंसिल के अध्यक्ष कारी शफीकुर्रहमान कासमी सऊदी सरकार की इन नीतियों की जमकर आलोचना करते हैं। कारी शफीक हज व उमरा के लिए प्राइवेट टूर भी आॅपरेट करते हैं। वो कहते हैं कि सऊदी सरकार सबसे पहले हज के लिए टिकट डिक्लेयर करती है। उसके बाद दुनिया भर की अन्य एयरलाइंस सऊदी एयरलाइंस के किराय का विश्लेषण करने के बाद अपनी अपनी एयरलाइंस के एयर फेयर की घोषणा करती हैं।

33 11

कारी शफीक के अनुसार इस बार हज कमेटी आॅफ इंडिया ने देश भर के सभी हज यात्रियों को सऊदी पहुंचाने का जिम्मा सऊदी एयरलाइन को ही सौंपा है। आइए समझते हैं कि इसके पीछे पूरा खेल क्या है। दरअसल, सऊदी के दोनों शहरों मक्का एवं मदीना में गैर मुस्लिमों का प्रवेश पूरी तरह से वर्जित है और सऊदी सरकार ने इसी बात का फायदा उठाने के लिए इस साल से एक नया नियम लागू कर दिया है।

इस नियम के तहत दुनिया भर से आने वाली हज फ्लाइट्स जहां पहले अन्य एयरपोर्ट्स के साथ साथ जद्दा एयरपोर्ट पर लैंड करती थीं। वहीं इस साल से सभी हज फ्लाइट्स सीधे मदीना एयरपोर्ट पर लैंड कर रही हैं। यहां समझने वाली बात यह है कि चूंकि मदीना में गैर मुस्लिम का का प्रवेश वर्जित है

और दुनिया भर के अनेक मुल्कों से आने वाला फ्लाइट स्टाफ गैर मुस्लिम होता है लिहाजा वो मदीना में प्रवेश नहीं कर सकते। जिस कारण हज यात्रियों के लिए यह मजबूरी हो जाती है कि वो सिर्फ सऊदी एयरलाइंस से ही हज यात्रा कर सकते हैं। सऊदी सरकार इसी मजबूरी का पूरा फायदा उठाती है और मनमाने ढंग से अपनी एयरलाइंस का किराया तय करती है।

भारतीय हज यात्री करेंगे सऊदी पर धनवर्षा!

इस साल भारत से लगभग पौने दो लाख हज यात्री सऊदी अरब में पवित्र हज यात्रा पर जा रहे हैं। कारी शफीक उर रहमान कासमी के अनुसार इनमें लगभग सवा लाख हज यात्री हज कमेटी आॅफ इण्डिया से तथा लगभग 50 हजार हज यात्री प्राइवेट टूर एंड ट्रैवल्स एजेंसियों के माध्यम से हज यात्रा कर रहे हैं।

एक हज यात्री की यात्रा पर औसतन तीन लाख 43 हजार रुपये के लगभग खर्चा आ रहा है। यहां काबिल ए गौर बात यह है कि सभी पौने दो लाख हज यात्री सऊदी एयरलाइंस से ही सऊदी पहुंच रहे हैं लिहाजा यह पौने दो लाख भारतीय हज यात्री सऊदी सरकार के खजाने को भरेंगे और उन्हें इस साल अरबों रुपये का राजस्व देंगे।

हज यात्री दिल्ली एयरपोर्ट पर खुद करा रहे अपनी फजीहत

हज यात्रा पर जाने वाले यूपी हरियाणा के कई हज यात्री खुद दिल्ली एयरपोर्ट पर अपनी फजीहत करा रहे हैं। यूपी और हरियाणा के कई हज यात्री ऐसे हैं जो लगेज रूल को फॉलो नहीं कर रहे हैं। यह हज यात्री अपने सामाने को थैलों, कट्टों और बोरियों में भरकर दिल्ली के इंदिरा गांधी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर ला रहे हैं और इनमें से कई हज यात्रियों ने अपना सामान रस्सियों से बांध रखा है।

31 11

इस संबंध में सोशल मीडिया पर भी इस प्रकार की कई वीडियो वायरल हो रही हैं। इन वीडियो में हज यात्रियों से अपील की जा रही है कि वो हज यात्रा के दौरान लगेज रूल को फॉलो करें। दरअसल, इस समय प्रतिदिन सैकड़ों हज यात्री हज के लिए उड़ान भर रहे हैं। उत्तर प्रदेश और हरियाणा के हज यात्रियों की फ्लाइट दिल्ली एयरपोट से है। हो यह रहा है कि यूपी और हरियाणा के ग्रामीण इलाकों के अधिकतर हज यात्री अपने सामान को ब्रीफकेस अथवा सूटकेस की बजाय बोरियों, कट्टों और थैलों में भरकर एयरपोर्ट पर ला रहे हैं तथा यह सामान रस्सियों से बंधा हुआ है।

32 9

एयरपोर्ट पर इस प्रकार के लगेज को स्वीकार नहीं किया जा रहा है जिसके चलते उक्त हज यात्री भी परेशान हो रहे हैं। इस प्रकार के केस बढ़ते देख अब एयरपोर्ट प्रशासन ने टर्मिनल पर ही साफ सुथरे कार्टन का इंतेजाम किया है और जो यात्री अपने सामान को बोरियों व कट्टों में बांध कर ला रहे हैं उन्हें खुलवाकर पुन: कार्टन में ढंग से पैक करवाया जा रहा है। मेरठ के भी लगभग आधा दर्जन हज यात्रियों के सामान को खुलवाकर कार्टन में पैक करवाया गया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments