Saturday, May 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliडबल मर्डर में सिपाही और उसके पिता समेत तीन गिरफ्तार

डबल मर्डर में सिपाही और उसके पिता समेत तीन गिरफ्तार

- Advertisement -
  • यूपी पुलिस में तैनात सिपाही पूर्व आई चीफ की गार्द में था
  • गांव सल्फा के जंगल में हत्या कर फेंके गए थे पिता-पुत्र के शव

जनवाणी संवाददाता  |

कांधला: पिता-पुत्र की हत्या के मामले में फरार मुख्य आरोपी यूपी पुलिस के सिपाही को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हत्यारोपी सिपाही के पिता और उसके साथी को भी गिरफ्तार किया गया है। जबकि सिपाही के एक आरोपी भाई को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। पुलिस ने हत्यारोपियों के कब्जे से अवैध पिस्टल, एक सरकारी पिस्टल, कारतूस, घटना में प्रयुक्त कार आदि सामान बरामद किया है। पुलिस छह में से चार नामजदों को गिरफ्तार कर चुकी है जबकि उसकी सिपाही की पत्नी व मां की संलिप्तता की जांच की जा रही है।

शनिवार को कांधला थाना प्रभारी निरीक्षक श्यामवीर सिंह ने बताया कि बुधवार को थाना क्षेत्र के गांव सल्फा में गोली लगे पिता-पुत्र के शव मिले थे। जिनकी पहचान भूपेन्द्र व अर्जुन निवासी गांव छुर थाना सरधना हॉल निवासी सैनिक विहार कंकरखेडा मेरठ के रूप में हुई थी। मामले को लेकर पुलिस ने मृतक भूपेन्द्र की मां सुरेश देवी की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए फरार आरोपी सिपाही विक्रांत उसके पिता विरेन्द्र व साथी मोनू को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त कार, एक पिस्टल 32 बोर व दो जिंदा कारतूस, एक सरकारी पिस्टल 9 एमएम व नौ जिंदा कारतूस, कार के अंदर सिपाही विक्रांत की जली हुई कमीज की राख, कार की जली हुई सीट की राख व कार की कटी फटी हुई पिछली सीट तथा कार के अंदर से तीन खोखा कारतूस 32 बोर तथा हत्या में प्रयुक्त गाडी बरामद किए है। थाना प्रभारी ने बताया कि मुख्य अभियुक्त सिपाही विक्रांत ने बताया कि उसने भूपेन्द्र को पांच लाख 80 हजार रुपये अपने भाई की नौकरी लगवाने के लिए से दिए थे।

जिसको लेकर पिछले काफी समय से उनके बीच विवाद चल रहा था। मृतक भूपेन्द्र उसे दो लाख रूपए देने की बात कह रहा था। जबकि वह अपने पूरे पैसे मांग रहा था। जिसे लेकर विवाद हुआ था। जिसके बाद उसने अपने भाई पिता व एक साथी के साथ मिलकर भूपेन्द्र व अर्जुन की हत्या कर शव गांव सल्फा के जंगलों में फेक दिए थे। पुलिस ने तीनों अभियुक्तों को जेल भेज दिया है।

गौरतलब है कि पुलिस इससे पूर्व सिपाही विक्रांत के भाई अर्जुन को भी मामले में शुक्रवार को जेल भेज चुकी है। थाना प्रभारी ने बताया कि सिपाही की मां व पत्नी भी इस मुकदमें में नामजद हैं जिनकी संलिप्तता की जांच की जा रही है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments