Saturday, June 22, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsSaharanpurविभिन्न मांगो को लेकर तौललिपिकों ने की अनिश्चितकालीन हडताल

विभिन्न मांगो को लेकर तौललिपिकों ने की अनिश्चितकालीन हडताल

- Advertisement -
  • चीनी मिल सीसीओ बोले – तौललिपिकों की सेलेरी पहले ही बढी हुई है

जनवाणी संवाददाता |

नानौता: किसान सहकारी चीनी मिल के क्रय केन्द्र व मिल गेट के तौल लिपिकों ने अपनी विभिन्न मांगों को लेकर हडताल करते हुए धरना-प्रदर्शन किया। तो वहीं एक मांग पत्र मिल प्रधान प्रबंधक के नाम देकर कहा कि यदि उनकी मांगे पूरी न हुई तो हडताल अनिश्चितकालीन हो जाएगी। उधर तौल कार्य बंद होने के चलते किसानों को परेशानियों का सामना करना पडा।

पूर्व निर्धारित सूचनानुसार नानौता चीनी मिल के तौल लिपिक मंगलवार को मिल गेट पर अनिश्चितकाल के लिए हडताल कर धरना देते हुए एक ज्ञापन मिल प्रधान प्रबंधक के नाम दिया। सभी तौललिपिकों का कहना था कि हम तौललिपिकों को बताया गया था कि उनका वेतन 12 हजार रूपये प्रतिमाह होगा। लेकिन अब तौललिपिकों को वेतन मात्र 8500 रूपये ही दिया जा रहा है। इसीलिए सभी को वेतन 12 हजार रूपये दिया जाएं। मिल गेट पर कार्यरत तौल लिपिकों की पूर्व की भांति ड्यूटी गेट पर तथा बाह्य क्रय केन्द्रों पर तौल करने वाले कर्मचारियों की ड्यूटी चार्ट कंप्यूटर से लाटरी द्वारा अलग-अलग निकाली जाएं। हमारे वेतन से ईपीएफओ की कटौती कराई जाएं तथा यूएएन नंबर प्रदान किए जाएं। सभी तौलकर्मियों ने चेताया कि यदि उनकी मांगे पूरी नहीं हुई तो हडताल मंगलवार से अनिश्चितकाल में बदल जाएगी।

जिसकी पूरी जिम्मेदारी प्रबंधक मंडल की होगी। हडताल करने वालों में अंकुश खटाना, प्रदीप, संजीव, मांगेराम, सोनू, मोहित, प्रवेश, जोनी, बिट्टू, महिपाल सिंह, राजकुमार, गगन, अंकुर, राहुल, जयकुमार, जोगिंदर, मनोज, अमित प्रधान, अंजेश, अनुप, गौरव आदि उपस्थित रहे।

क्या बोले चीनी मिल मुख्य गन्ना अधिकारी –

चीनी मिल के सीसीओ मदनपाल राणा ने बताया कि तौललिपिकों से वार्ता हुई है। इनकी पहले सेलेरी साढे सात हजार के लगभग थी। अब बेसिक, पीएफ आदि को मिलाकर करीब साढे दस हजार रूपये बन रही है। इससे अधिक बढाना मैनेजमंेट की हद से बाहर है। उन्होनें कहा कि शाम तक हडताल खुलने की उम्मीद है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments