Saturday, December 4, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsBijnorज्ञान का सच्चा नूर मगर खामोश किताबें...

ज्ञान का सच्चा नूर मगर खामोश किताबें…

- Advertisement -
  • पुस्तकों से ही हमारी विकास यात्रा संभव होती है: सूर्यमणि रघुवंशी
  • सरस्वती पुस्तकालय के 104 वें स्थापना दिवस पर हुआ कवि सम्मेलन

जनवाणी संवाददाता |

नजीबाबाद: सरस्वती पुस्तकालय नजीबाबाद के 104 वां स्थापना दिवस पर आयोजित कवि सम्मेलन और सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि सूर्यमणि रघुवंशी ने कहा कि पुस्तकें किसी भी व्यक्ति के लिए उसकी साथी ही नहीं होती बल्कि पुस्तकों से ही हमारी विकास यात्रा संभव होती है। इस मौके पर कवियों ने अपनी रचनाओं से पुस्तकों का महत्व बताया वहीं सामाजिक विसंगतियों पर भी प्रहार किए। वहीं पुस्तकालय के छह वरिष्ठ सदस्यों को सम्मानित किया गया।

पूरी खबर के लिए पढ़े जनवाणी
एजेन्ट गुप्ता जी 9639005146

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments