Saturday, May 21, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -spot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutयूपीटीईटी: केंद्रों पर ठिठुरते पहुंचे अभ्यर्थी

यूपीटीईटी: केंद्रों पर ठिठुरते पहुंचे अभ्यर्थी

- Advertisement -
  • देर से पहुुंचने वाले अभ्यर्थियों को नहीं मिला प्रवेश
  • कई केंद्रों पर प्रवेश को लेकर हुआ हंगामा
  • गेट फांदकर अंदर पहुंची महिला अभ्यर्थी

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: जिले में खराब मौसम और हंगामे के बीच रविवार को टीईटी की परीक्षा शुरु हुई। परीक्षा के लिए अभ्यर्थियों को डेढ़ घंटे पहले केंद्रों पर पहुंचने के निर्देश शासन की ओर से दिए गए थे। जिसके चलते सुबह 9:30 बजे ही कई केंद्रों के गेट बंद कर दिए गए। वहीं, बारिश की वजह से कई केंद्रों पर अभ्यर्थी समय से नहीं पहुंच सके। जिसके बाद केंद्रों पर देर से आए अभ्यर्थियों को प्रवेश नहीं दिया गया। इसी के बीच कई केंद्रों पर हंगामा भी देखने को मिला।

बता दें कि गत 28 नवंबर को आयोजित होने वाली परीक्षा में परीक्षा के दिन ही पेपर लीक हो जाने की वजह से परीक्षा को रद कर दिया गया था। इसी वजह से इसबार परीक्षा के बाद अभ्यर्थियों की उत्तर पुस्तिकाएं यानि ओएमआर शीट कैमरे की निगरानी में सील की गई। पहली पाली के लिए जिले में 54 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे और दूसरी पाली के लिए 41, सुबह की पाली में 54 केंद्रों के लिए 26375 छात्र-छात्राएं पंजीकृत थे जिसमें से 22844 परीक्षा देने पहुंचे और 3531 छात्र-छात्राओं ने परीक्षा से किनारा किया।

वहीं, दूसरी पाली की बात करे तो उसके लिए 41 केंद्रों पर 20173 पंजीकृत थे जिसमें 17327 परीक्षा देने पहुंचे और 2846 ने परीक्षा छोड़ी। परीक्षा के दौरान केंद्रों पर पूरे इंतजाम किए गए थे। परीक्षा केंद्रों पर अभ्यर्थियों की नकल के साथ मास्क और तापमान भी चेक किया गया। वहीं, फोटोयुक्त आवेदन पत्रों की जांच के बाद ही प्रवेश दिया गया। हर केंद्र के बाहर पुलिस कर्मी भी तैनात रहे।

परीक्षा में हिंदी रही आसान, गणित के प्रश्नों ने उलझाया

यूपीटीईटी पहली पाली यानि की प्राथमिक स्तर की परीक्षा सुबह 10 से 12:30 बजे तक संचालित की गई। जीआईसी से परीक्षा देकर निकले परीक्षार्थियों के अनुसार पिछली बार वाले लीक हुए पेपर से प्रश्नपत्र थोड़ा कठिन था, लेकिन फिर भी कुछ सेगमेंट काफी आसान रहा। अनामिका ने बताया कि वैसे तो प्रश्नपत्र आसान था, लेकिन गणित के कुछ प्रश्नों को घुमाफिराकर प्रस्तुत किया गया था।

जिन्हें हल करने में सभी को थोड़ी परेशानी का सामना करना पड़ा। इससे पहले वाला पेपर भी दिया था, लेकिन वह लीक हो गया था अब इस पेपर से नंबर आने की उम्मीद है। अंजली ने बताया कि पेपर में कुछ कमेंट काफी आसान थे। हिंदी, संस्कृत और सीडीपी के प्रश्न पिछली बार से ज्यादा आसान थे। यह भी कह सकती हूं कि जो तैयार किया पेपर में उसमें से आया। अरविंद ने बताया कि गणित के प्रश्नों को हल करने में समस्या हुई। ईबीएस के प्रश्न भी थोड़ा कठिन थे।

कई केंद्रों पर हुआ हंगामा

बारिश की वजह से कई केंद्रों पर अभ्यर्थी देर से पहुंचे और उनको प्रवेश नहीं दिया गया। जिसके बाद छात्र-छात्राओं ने केेंद्र के बाहर जमकर हंगामा किया। परतापुर बाइपास स्थित बीआईटी ग्लोबल और लाल कुर्ती एसएसडी ब्यॉज इंटर कॉलेज में आधा घंटे तक जमकर हंगामा हुआ।

क्योंकि यहा परीक्षा शुरू होने के आधा घंटे पहले प्रवेश बंद कर दिया गया था। अभ्यर्थियों ने मौसम का हवाला देते हुए प्रवेश देने की मांग भी की, लेकिन उनको प्रवेश नहीं दिया गया। जिसके बाद अभ्यर्थियों ने केंद्र के गेट पर चढ़कर कूदने का प्रयास भी किया। इस दौरान पुलिस भी मौके पर पहुंची। पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने किसी तरह स्थिति को संभालने की कोशिश की।

केेंद्रों पर कोरोना कक्ष भी बनाया

परीक्षा के दौरान केंद्रों पर कोरोना कक्ष भी बनाया गया। शासन की ओर से सभी केंद्र व्यवस्थापकों को निर्देश दिए गए थे कि खांसी और जुखाम वाले अभ्यर्थियों को अलग से कक्ष में बैठाकर परीक्षा कराई जाए ताकि कोरोना से अन्य अभ्यर्थियों का बचाव हो सकें।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments