Tuesday, October 26, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsShamliगोपाष्टमी पर गाय माता की पूजा-अर्चना

गोपाष्टमी पर गाय माता की पूजा-अर्चना

- Advertisement -
  • विधायक तेजेंद्र निर्वाल ने झाल में की गाय पूजा

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: गोपाष्टमी के पर्व पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर जनपद में सरकारी गौशालाओं में गायों की पूजा-अर्चना की गई। साथ ही, उनको हरा चारा और गुड़ खिलाया गया। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गौ पालन गौ आधारित अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए रविवार को गोपाष्टमी पर्व मनाने के निर्देश दिए थे जिसके तहत जिलाधिकारी जसजीत कौर ने सभी ग्राम प्रधानों एवं अधिकारियों को गौशालाओं में गोपाष्टमी पर्व मनाने के आदेश दिए।

रविवार को गौशालाओं में गोपाष्टमी पर्व मनाया गया। इस दौरान सदर सीट से भाजपा विधायक तेजेंद्र निर्वाल ने विधानसभा क्षेत्र के गांव झाल में गोपाष्टमी पर गाय की पूजा अर्चना की। उसको तिलक कर गुड और हरा चारा खिलाया। इस दौरान विधायक तेजेंद्र निर्वाल ने अपने संबोधन में गाय के महत्व पर प्रकाश डाला।

गाय की पूजा और टीकाकरण

ऊन: गांव रंगाना में गोपाष्टमी पर्व पर पूजा अर्चना की गई। गौशाला की साफ सफाई कराई गई। पूजा अर्चना के बाद उपस्थित लोगों को गोपालन का महत्व को उत्पादों एवं गो आधारित जैविक षि को बढ़ावा देने के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। साथ ही, गौ पालन में जन सहभागिता बढ़ाने का आह्वान किया गया। इस अवसर पर गायों को हरे चारे, चुनी चोकर एवं गुड खिलाकर माला पहनाई गई। चिकित्सा प्रभारी डा. हमेन्द्र द्वारा गोवंशों का चिकित्सा परीक्षण किया गया। सभी गोवंश को मुंह पका खुर पका के टीके लगाए गए। इस अवसर पर ग्राम प्रधान रमेश उपाध्याय, सचिव इसरार अहमद आदि ग्रामीण उपस्थित रहे।

गौशाला में मनाया गया गोपाष्टमी पर्व

कैराना: रविवार को नगर के देवी मंदिर रोड स्थित गौशाला में गोपाष्टमी पर्व मनाया गया। इस अवसर पर गायों की पूजा-अर्चना की गई। महिलाएं व पुरुष भक्तगण अलसुबह से ही गौशालाओं में पहुंचे और गायों की विधिवत पूजा-अर्चना कर गायों को हरा चारा, हरी सब्जियां, गुड़ व दलिया आहार खिलाकर गोपाष्टमी मनाई। गोपाष्टमी के अवसर पर अनेक भक्तों ने गौशाला समिति को नकदी एवं हरे चारे से भरी गाड़ी उपलब्ध करवाकर सहायता की। अमित ने बताया कि भगवान श्रीष्ण ने जिस दिन से गायों को पालन करना शुरू किया था, उसी दिन को गोपाष्टमी पर्व के रूप में मनाया जाता हैं। गौशाला में मौजूद 46 गायों की भक्तगणों ने पूजा अर्चना कर उन्हें आहार खिलाया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments