Sunday, April 21, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutजुमे की नमाज को लेकर प्रशासन अलर्ट

जुमे की नमाज को लेकर प्रशासन अलर्ट

- Advertisement -
  • शहर को सात जोन, 15 सेक्टर में बांटा
  • नुपुर शर्मा विवाद को लेकर प्रशासन लापरवाही बरतने के मूड़ में नहीं
  • ड्रोन से की गई निगरानी, भारत बंद की अफवाह फैलाने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई
  • पुलिस, प्रशासन ने किया पैदल मार्च, धार्मिक स्थलों पर तैनात होगी फोर्स

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: पैगंबर मौहम्मद साहब पर भाजपा प्रवक्ताओं के द्वारा की गई विवादित टिप्पणी को लेकर चल रहे तनाव को देखते हुए शुक्रवार को होने वाली जुमे की नमाज को लेकर जनपद में हाई अलर्ट कर दिया गया है। शहर के संवेदनशील इलाकों में ड्रोन कैमरे की मदद से छतों की निगरानी की गई। पूरे शहर को सात जोन और 15 सेक्टर में बांटा गया है।

भारत बंद की अफवाह उड़ाने वालों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई कर मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिये गए हैं। शहर के धार्मिक स्थलों पर चौकसी बढ़ा दी गई है। इसको लेकर गुरुवार को पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने पैदल मार्च कर लोगों को शांति बनाये रखने का आह्वान किया। साथ ही लाउडस्पीकर से शहर के प्रमुख बाजारों में व्यापारियों को ऐलान करा दिया है।

17 7

एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया कि आज भारत बंद की अफवाह फैलाई जा रही है। जबकि ऐसा किसी भी संगठन ने आह्वान नहीं किया है। एसएसपी ने कहा कि कोई भी अफवाहों पर ध्यान न दे। बाजार रोजाना की तरह अपने समय अनुसार खुलेंगे और बंद होंगे। किसी ने भी जबरदस्ती बाजार बंद कराने का प्रयास किया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी और इसके लिये पुलिस बल लगाया गया है।

उन्होंने बताया कि सुरक्षा के हिसाब से शहर में सात जोन और 15 सेक्टर तथा 44 सब सेक्टर बनाए गए है। प्रत्येक जोन की जिम्मेदारी एएसपी और सेक्टर की जिम्मेदारी सीओ को दी गई। सब सेक्टर पर थाना प्रभारी खुद मौजूद रहेंगे। जोन और सेक्टर पर पुलिस के साथ प्रशासनिक अफसर भी मौजूद रहेंगे।

उसके अलावा सभी संवेदनशील प्वाइंओं पर तीन कंपनी आरएएफ और पीएसी लगाई गई है। इसके अलावा एसएसपी प्रभाकर चौधरी, डीएम दीपक मीणा, एसपी सिटी विनीत भटनागरऔर एसपी देहात केशव कुमार पुलिस बल के साथ मौजूद रहेंगे। एडीजी राजीव सभरवाल और आईजी प्रवीन कुमार भी नमाज अदा करने तक मूवमेंट पर रहेंगे।

तीन कंपनी आरएएफ होगी तैनात

एसएसपी ने बतया कि 7 जोन-15 सेक्टर-44 सब सेक्टर -3 कंपनी आरएएफ और पीएसी-9 सीओ, 4 एएसपी-40 इंस्पेक्टर-126 दारोगा-500 सिपाही-250 महिला पुलिस-4 प्वाइंटों पर रिजर्व में पुलिस रहेगी।

ड्रोन उड़ाकर घरों की छतों की निगरानी की गई

प्रशासन ने शहर के अतिसंवेदनशील क्षेत्रों लालकुर्ती, कोतवाली, लिसाड़ीगेट और देहलीगेट, सदर और सोतीगंज में ड्रोन उड़ाकर मकानों की छतों की निगरानी की गई है। ताकि मकानों की छतों पर पत्थर न रखे गए हो। सीएए की हिंसा के दौरान मकानों की छतों से पथराव किया गया था। इसी के चलते मकानों की छतों पर पत्थर रखने वालों के खिलाफ भी संबंधित थाने में मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

15 8

पुलिस की चार टीमें ड्रोन उड़ाकर निगरानी में लगी हुई है। इसके अलावा तमाम कबाड़ियों पर नजर रखी जा रही है। इसके अलावा उन लोगों पर भी नजर रखी जा रही है जो सोशल मीडिया के जरिये जहर फैलाने का काम करते हैं। जब पुलिस ड्रोन से निगरानी कर रही थी तब लोगों में इस बात की जिज्ञासा थी कि आखिर क्या हो रहा है। पुलिस ने कबाड़ियों से कहा भी छतों पर अगर पत्थर आदि मिले तो गंभीर नतीजे भुगतने के लिये तैयार रहना।

मोबाइल से स्टेटस डिलीट कराया

लालकुर्ती पुलिस ने क्षेत्र के कई लोगों के मोबाइल पर भारत बंद के लगे स्टेटस को हटवाया। पुलिस ऐसे लोगों के घर गई और उनके परिजनों को कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी और डिलीट करवाया। इसी तरह नौचंदी, लिसाड़ीगेट, ब्रह्मपुरी और सदर पुलिस ने भी ऐसे अभियान चलाये।

मवाना पुलिस ने निकाला फ्लैग मार्च

मवाना: भारत बंद के चलाए जा रहे वायरल मैसेज के मद्देनजर पुलिस-प्रशासनिक अधिकारी अलर्ट मोड़ पर नजर आया। आज भारत बंद के चलाए जा रहे वायरल मैसेज के मद्देनजर नगर क्षेत्र में थाना प्रभारी विष्णु शर्मा ने कप्तान प्रभाकर चौधरी के निर्देश पर पुलिस बल को लेकर नगर में फ्लैग मार्च निकाला और शरारती तत्वों पर शिकंजा कसने के आदेश दिए हैं। इसको देखते हुए पुलिस की मैसेज वायरल को लेकर सोशल मीडिया पर पैनी नजर है। मैसेज वायरल करने वालों को पुलिस तलाश करने में जुटी है। नगर क्षेत्र के कई इलाकों में फ्लैग मार्च कर सुरक्षा का जायजा लिया।

प्रशासन सतर्क, मांगी बरेलवी लोगों की सूची

माछरा: कानपुर की घटना के बाद प्रशासन सतर्क हो गया है। जिला और ब्लाक में शासन ने बरेलवी लोगों की सूची तैयार करनी शुरू कर दी है। क्षेत्रीय एलआईयू दारोगा ने जानकारी देते हुए बताया कि कानपुर की घटना के बाद शासन से आदेश आया है कि अपने क्षेत्र के उन लोगों की सूची तैयार की जाए जो बरेलवी मसलक के हैं। इसको लेकर कस्बे और क्षेत्र में बरेली मसलक के लोगों की जांच पड़ताल की जा रही है। मगर बरेलवी संबंधित लोगों की इस क्षेत्र में कोई जानकारी प्राप्त नहीं हुई है। अगर कोई व्यक्ति क्षेत्र में बरेली मसलक का सामने आता है तो उसकी सूची तैयार कर शासन को भेज दी जाएगी और उस पर प्रशासन की नजर रहेगी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments