Sunday, July 25, 2021
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsBijnorपत्नी की तहरीर पर डॉ पति के खिलाफ कई धाराओं में मुकदमा...

पत्नी की तहरीर पर डॉ पति के खिलाफ कई धाराओं में मुकदमा दर्ज

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

नजीबाबाद: सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र समीपुर में तैनात रहे व वर्तमान में कासमपुर गढ़ी स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात डॉ सर्वेश निराला के खिलाफ उनकी दूसरी पत्नी अर्चना सिंह की तहरीर पर पुलिस ने कई संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

शनिवार को कोतवाली थाना नजीबाबाद में दर्ज मुकदमे में अर्चना सिंह ने कहा है कि 22 जुलाई 2016 को पहले जब वह सीएमओ कार्यालय गाजियाबाद में तैनात थी और डॉ निराला भी वहां तैनात थे तो मुलाकात के दौरान खुद को अविवाहित बताते हुए उसे शादी करने के लिए तैयार कर लिया और 11 दिसम्बर 2017 वह भी हिन्दू रीति रिवाज से शादी कर उनके साथ रहने लगी।

दर्ज रिपोर्ट में कहा गया है कि वह जब भी गर्भवती होती तो डॉ सर्वेश निराला चालाकी से उसे नष्ट करा देते वहीं उसी बीच अक्टूबर 2018 को उनका बिजनोर ट्रांसफर होने के बाद उसका इस्तीफा दिलवा कर अपने साथ यहां ले आये और तभी जब उनके पहले से शादीशुदा होने की पोल खुली और उसने इस सम्बन्ध में पूछताछ की तो डॉ सर्वेश निराला ने उसको समझा बुझाकर शांत कर दिया और कहा उसका पहली पत्नी से कोई मतलब नहीं है परन्तु कुछ समय बाद उनका पहली पत्नी से मेल मिलाप हो गया और इस बात का विरोध करने पर डॉ निराला ने उसका उत्पीड़न शुरू कर दिया,मारपीट करने लगे,उसकी बगैर मर्ज़ी के अप्राकृतिक कुकर्म करने लगे।

आरोप है अभी कुछ दिन पूर्व समीपुर से डॉ निराला का ट्रांसफर कासिमपुर गढ़ी हो गया और वह यहीं सीएचसी नजीबाबाद पर रह रही थी तभी उसे अपने पति की कासिमपुर गढ़ी में रंगरलियां मनाने की सूचना मिली जिसका उसने विरोध किया तो आरोप है कि डा. सर्वेश निराला शराब पीकर 19 मई को समीपुर आये और उसके साथ गाली गलौच व मारपीट करने लगे और पाइप से मारपीट करते हुए धमकी दी आज तेरा किस्सा ही खत्म कर देता हूँ,इतना ही नहीं जान से मारने की नीयत से डा. निराला ने डंडे से प्रहार कर दिया जिसमें वह घायल हो गई।

शोर सुनकर बचाव को आये चिकित्साधिकारी डा. शील कुमार के साथ भी डा. सर्वेश निराला ने गाली गलौच की और उनके कमरे का दरवाजा तोड़ डाला। पत्नी के सूचना दिये जाने पर मौके पर पुलिस पहुंची तो डा. सर्वेश दीवार फांदकर फरार हो गये। पुलिस ने इस मामले में धारा 420,377,313,323,504,506 में रिपोर्ट दर्ज की है। वहीं बता दें कि इस मामले में एन्टी करप्शन ब्यूरो के संस्थापक इंजीनियर विकास आर्य का मुकदमा दर्ज कराने में काफी सहयोग रहा।

सभी आरोप निराधार: डॉ निराला

इधर इस पूरे प्रकरण में डॉ सर्वेश निराला ने अपना वीडियो जारी कर सभी आरोप गलत बताए है, उनका कहना है कि गाज़ियाबाद में मुलाकात के दौरान इनको ह्र्दय रोग की बीमारी के लिए ऑपरेशन को पैसे दिए थे जब भी पैसे वापसी की मांग करते है तो उन पर आरोप शुरू हो जाते है। उन्होंने पूरे मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments