Thursday, January 27, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutरहिए सतर्क! कोरोना केस 1000 के पार, सक्रिय केस 5000 पार

रहिए सतर्क! कोरोना केस 1000 के पार, सक्रिय केस 5000 पार

- Advertisement -
  • 1212 नए संक्रमित, 5192 होम आइसोलेशन में, 32 नए भर्ती, जनपद में 5224 कोरोना संक्रमण की चपेट में

जनवाणी संवाददाता  |

मेरठ: बुधवार को सैंपल की जांच बढ़ते ही जिले में संक्रमितों की संख्या में बड़ा उछाल आ गया। मंगलवार को जहां 876 केस मिले थे। वहीं, बुधवार को 1212 नए मामले सामने आए हैं।

ऐसी स्थिति में जल्द कोरोना से राहत मिलती नहीं दिख रही है। जनपद में अब कुल सक्रिय मरीज 5224 हो गए हैं। होम आइसोलेशन में 5192 लोग हैं। गनीमत है कि बुधवार को भी किसी मरीज की मौत की पुष्टि नहीं है।

सर्विलांस अधिकारी डा. अशोक तालियान ने बताया कि बुधवार को 7694 के सैंपल की जांच में 1212 लोगों की रिपोर्ट में कोरोना की पुष्टि हुई है। मंगलवार के मुकाबले जांच और केस दोनों में बढ़ोत्ती हुई है।

मंंगलवार को 6995 सैंपल की जांच में 876 संक्रमित मिले थे। उन्होंने बताया कि 55 लोगों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी देकर घर भेज दिया गया जबकि 32 नए मरीजों को अस्पताल में भर्ती किया गया है।

8012 लोगों के सैंपल जांच को लैब भेजे गए हैं। वहीं, सरधना क्षेत्र में बढ़ते कोरोना केस ने स्वास्थ्य विभाग की भी चिंता बढ़ा दी है। बुधवार को भी सरधना में चार लोग कोरोना पॉजिटिव निकले। जिनमें सीएचसी पर तैनात लैब टेक्नीशियन शामिल है। जांच रिपोर्ट आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने सभी को होम आइसोलेट करा दिया।

इसके साथ आज 110 लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए। सरधना में रोजाना हो रही जांच में कोरोना के केस लगातार बढ़ते जा रहे हैं। बढ़ते केस ने स्वास्थ्य विभाग की मुश्किल भी बढ़ा दी है।

बुधवार को स्वास्थ्य विभाग द्वारा कुल 110 लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए। वहीं, एक दिन पूर्व जांच के लिए भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट आने पर पता चला कि चार लोग कोरोना पॉजिटिव हैं।

जिनमें एक सीएचसी पर तैनात एलटी, एक कस्साबान, एक स्वामियान तथा एक केस भामौरी गांव में है। जांच रिपोर्ट आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने सभी को होम आइसोलेट कर दिया। इस संबंध में सीएचसी प्रभारी डा. सचिन कुमार का कहना है कि चार केस सामने आए हैं। सभी को होम आइसोलेट करा दिया गया है।

सैंपल की जांच बढ़ते ही केस में उछाल

मंगलवार के मुकाबले बुधवार को कोरोना सैंपल की जांच बढ़ते ही केस भी बढ़ गए हैं। मंगलवार को कुल 6995 की जांच में 876 संक्रमित थे। बुधवार को 7694 सैंपल की जांच में रिपोर्ट में 1212 मामले निकले हैं। मंगलवार से केवल 500 अधिक लोगोें की बुधवार को जांच सामने आई, जिसमें साढ़े तीन के आसपास केस बढ़े हैं।

कंकरखेड़ा 113 और पल्हैड़ा में 99 केस निकले

शहर में संक्रमितों का सबसे बड़ा स्थान बुधवार को कंकरखेड़ा क्षेत्र रहा। यहां के 113 मामले सामने आए हैं। पल्हैड़ा 99 केस के साथ दूसरे नंबर पर रहा। इसके अलावा जयभीमनगर 91, जाकिर कालोनी 80, राजेन्द्र नगर 70, मलियाना 66, पुलिस लाइन 65, नंगला बट्टू 55, साबुन गोदाम 54, लल्लापुरा 43, कैं ट 43 और रजबन क्षेत्र में 40 संक्रमित मिले हैं। वहीं, देहात क्षेत्र के दौराला में 44 सर्वाधिक केस रहे।

नगर निगम में बनी कोविड हेल्प डेस्क

शहर में कोरोना के मामले बढ़ने पर सरकारी विभागों ने सावधानी बरतना शुरू कर दिया है। बुधवार को नगर निगम में कोरोना हेल्प डेस्क स्थापित कर दफ्तरों में आने वालों के बुखार की जांच की गई। वहीं, सैनिटाइज कराकर मास्क पहने वालों को प्रवेश दिया गया।

शहर में कोरोना का संक्रमण अधिक फैल रहा है। सबसे अधिक मामले शहरी क्षेत्र से ही कोरोना के निकल रहे हैं। जयभीमनगर, राजेन्द्र नगर, पुलिस लाइन, लल्लापुरा, जाकिर कालोनी, तारापुरी, ब्रह्मपुरी, संजय नगर, पल्हैड़ा ऐसे क्षेत्र हैं, जहां से अभी तक सबसे अधिक केस सामने आए हैं।

नगर निगम में शहरी क्षेत्र के लोगों का आगमन अधिक होता है। इसके दृष्टिगत सभी मुख्य दफ्तरों के बाहर कोविड हेल्प डेस्क बनाई गई है। जहां पर बुखार की जांच के लिए कर्मचारियों की टीम बैठा दी गई हैं। अब थर्मामीटर से शरीर का तापमान चेक करके बाद ही सैनिटाइज कराकर आने वालों को दफ्तरों में प्रवेश दिया जा रहा है।

44वीं वाहिनी में और मिले 77 जवान संक्रमित

पीएसी की 44वीं वाहिनी में बुधवार को बड़ी संख्या में और संक्रमित मिले हैं। यहां मंगलवार को भी जवानों में कोरोना बम फूट था और 49 जवान संक्रमण से ग्रस्त मिले थे। इसके बाद से बटालियन में हड़कंप मचा हुआ है। बुधवार को 77 और जवानों के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद अभी तक दोनों बटालियन में करीब 200 जवान संक्रमित हो चुके हैं।

स्वास्थ्य विभाग की टीमें जवानों की जांच करने में लगी हुई हैं। बता दें, मंगलवार को मोदीपुरम स्थित छठी वाहिनी पीएसी में 50 और हापुड़ रोड स्थित 44वीं पीएसी वाहिनी में 49 जवानों में जांच के बाद कोरोना की पुष्टि हुई थी।

कोरोना की दूसरी लहर के समय भी पीएसी के जवान बड़ी संख्या में पॉजिटिव मिले थे। तीसरी लहर में एक बार फिर पीएसी के जवान कोरोना से बड़ी संख्या में संक्रमित मिल रहे हैं।

83 और बच्चे संक्रमण मिले

तीसरी लहर में बच्चे भी काफी संख्या में कोरोना संक्रमित पाए जा रहे हैं। बुधवार को 83 और बच्चों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। सोमवार को बच्चों के 103 केस और मंगलवार को 63 के संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी। स्वास्थ्य विभाग ने सभी संक्रमित 18 वर्ष से कम आयु के बताए हैं। संक्रमित मरीजों में बुधवार को 437 महिला और 779 पुरुष हैं।

रेलवे स्टेशनों पर नहीं हो रही कोरोना जांच

जिले में कोरोना की रफ्तार बेकाबू हो चुकी है, पिछले कुछ दिनों में ही संक्रमितों की संख्या हजारों तक जा पहुंची। स्वास्थ्य विभाग व प्रशासन इस पर लगाम लगाने के लिए सभी तरह के कदम उठाने के दावे कर रहा है, लेकिन इनमें कितनी सच्चाई है।

इसकी पोल खोल रहे हैं रेलवे स्टेशन। बुधवार को मेरठ में कोरोना संक्रमण के केसों ने 12 सौ को पार कर लिया। प्रशासन द्वारा लगातार बढ़ रहे कोरोना केसों के लिए आम लोगों को भी जिम्मेदार बताया है, लेकिन मेरठ के सिटी व कैंट रेलवे स्टेशनों पर प्रशासन खुद जिम्मेदार नजर आता दिखाई दिया।

यहां पर बाहर से आने वाले यात्रियों की न तो कोरोन जांच की जा रही है, न ही टेम्परेचर आदि लेने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम तैनात है। इस तरह की बड़ी लापरवाही कहीं जिले का दूसरी लहर की तहर गंभीर स्थिति मे न डाल दे इसको लेकर प्रशासन को उचित कदम उठाने की जरूरत है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments