Sunday, July 21, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMuzaffarnagarमोरना क्षेत्र की दुकानों पर खुलेआम हो रहा है घरेलू सिलेंडर का...

मोरना क्षेत्र की दुकानों पर खुलेआम हो रहा है घरेलू सिलेंडर का उपयोग

- Advertisement -
  • प्रशासन घरेलू रसोई गैस की कालाबाजारी रोकने में हो रही नाकाम
  • मोरना क्षेत्र में हो रहा गैस का अवैध धंधा, प्रशासन को नही कार्रवाई करने की फुर्सत

जनवाणी संवाददाता |

मोरना: रसोई घरों में इस्तेमाल होने वाली गैस का मोरना क्षेत्र में धड़ल्ले से दुरुपयोग हो रहा है। क्षेत्र में होटलों से लेकर चाय नाश्ता की दुकान पर धड़ल्ले से घरेलू रसोई गैस का उपयोग किया जा रहा है। होटल वालों की तरफ विभाग के संबंधित अधिकारी अपनी नजरें इनायत करने में लगे हुए हैं, जिसके चलते होटल व दुकान मालिक बेखौफ होकर घरेलू सिलेंडर का उपयोग कर रहे हैं। व्यावसायिक सिलेंडर का उपयोग ना होने से राजस्व को भी बड़ा नुकसान हो रहा है। घरेलू सिलेंडर पर सब्सिडी लेकर व्यापारी पैसा कमाने में लगे हुए हैं।

मोरना ब्लॉक में लगभग 50 से अधिक ग्राम पंचायतें व एक नगर पंचायत पड़ती है, जिसमे प्रत्येक ही ग्राम पंचायत में हलवाई, चाय नाश्ता, खाने के होटल बने हुए हैं। इन सभी कामों में व्यवसायिक सिलेंडर का उपयोग न होकर घरेलू सिलेंडरों का उपयोग किया जा रहा है। सरकारी शासनादेश के अनुसार 5 किलो व 14.5 किलो वाला गैस सिलेंडर घरेलू रसोई उपयोग में लिया जाता है। घरेलू गैस पर सरकार द्वारा सब्सिडी दी जाती है, जब जाकर घरेलू सिलेंडर उपलब्ध होता है।

सरकार द्वारा व्यवसाय सिलेंडर 19 किलो का होता है, जिस पर सरकार द्वारा किसी भी प्रकार की सब्सिडी नहीं दी जाती है तथा दुकानों पर व्यवसायिक सिलेंडर का उपयोग किया जाता है। सिलेंडर की कीमत घरेलू सिलेंडर के हिसाब से अधिक होती है। व्यवसायिक सिलेंडर की कीमत अधिक होने के कारण होटल चाय नाश्ता हलवाई व अन्य दुकानें व्यवसायिक सिलेंडर का उपयोग न कर घरेलू सिलेंडर का उपयोग कर राजस्व को भारी नुकसान पहुंचा रहे हैं।

घरेलू सिलेंडर आसानी से उपलब्ध हो जाता है। घरेलू सिलेंडर की क्षेत्र में कालाबाजारी धड़ल्ले से की जा रही है। क्षेत्र के कुछ होटल व चाय नाश्ते वाले केवल दिखाने के लिए व्यावसायिक सिलेंडर अपनी दुकान के आगे रख देते हैं, लेकिन उसका इस्तेमाल नहीं करते हैं। मोरना क्षेत्र में घरेलू गैस सिलेंडर का धंधा बड़ी संख्या में फल-फूल रहा है, लेकिन प्रशासन को इस और ध्यान देने की फुर्सत नहीं लग रही है। इसी चीज का फायदा उठाकर होटल चाय नाश्ता हलवाई व अन्य लोग इसका फायदा उठाकर धड़ल्ले से घरेलू गैस सिलेंडर का उपयोग कर रहे हैं। प्रशासन द्वारा अगर इस ओर ध्यान दिया गया, तो घरेलू गैस सिलेंडर का दुरुपयोग न होकर व्यवसायिक गैस सिलेंडर के वितरण में भी तेजी आएगी और सरकार को राजस्व का फायदा मिलेगा।

वर्जन

पूर्ति निरिक्षक जानसठ विकास कुमार ने बताया कि किसी भी खाने पीने वाली दुकानों पर घरेलू सिलेंडर का उपयोग नहीं किया जा सकता। अगर कोई उपयोग कर रहा है, तो जानकारी कर उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। दुकानों पर केवल व्यावसायिक सिलेंडर ही उपयोग होगे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments