Sunday, May 26, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutबिजली विभाग की टीम पर हमला, बंधक बनाया

बिजली विभाग की टीम पर हमला, बंधक बनाया

- Advertisement -
  • एक आरोपी गिरफ्तार, कटिया डालकर हो रही थी चोरी
  • मारपीट का वीडियो भी वायरल किया

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: देहली गेट के पूर्वा महावीर में शुक्रवार को कटिया डालकर लाइट चोरी से चलाने की शिकायत पर पहुंची बिजली विभाग की टीम को बंधक बनाकर हमला किया गया। घर के अन्दर महिलाओं और मकान मालिक ने मारपीट करते हुए जानलेवा हमला किया। इस दौरान आसपास के लोगों ने भी पहुंचकर टीम के साथ अभद्रता करते हुए मारपीट की।

सूचना पर विद्युत विभाग के वरिष्ठ अधिकारी देहली गेट पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे और बंधनमुक्त कराया। पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। फरार चल रहे आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। टीम को बंधक बनाकर मारपीट का वीडियो भी वायरल हो रहा है।

देहली गेट के पूर्वा महावीर में शैफुल्ला और उसका भाई जावेद रहता है। इनका बिजली का 14 हजार रुपए का बिल बकाया चल रहा था। जमा नहीं करने पर इनका घंटाघर बिजली घर की टीम ने चार दिन पहले कनेक्शन काट दिया था। यह कटिया डालकर अवैध रूप से लाइट चला रहे थे।

चेकिंग करने पहुंचे घंटाघर बिजली घर के जेई सुनील कुमार, लाइन मैन राकेश शर्मा, संविदा कर्मचारी सचिन अग्रवाल, ललित पुरी और जगवीर ने देखा कि कनेक्शन कटा होने के बावजूद कटिया डालकर लाइट चोरी से चला रखी है। कटिया उतारने के लिए कहा तो बातचीत करने के बहाने टीम को घर के अन्दर ले गए। आरोप है कि जावेद, शफैल्लुु और घर की महिलाओं ने शोर मचाकर आसपास के लोग भी एकत्र कर लिए और बंधक बनाकर मारपीट करी।

आरोप है कि ललित पुरी की जेब में रखे बकायेदारों के बीस हजार और मोबाइल भी छीन लिए। पुलिस मौके पर पहुंची तो बंधनमुक्त कराया। पुलिस ने मौके से जावेद को गिरफ्तार कर लिया, जबकि शैफुल्ला और अन्य आरोपी मौके से फरार हो गए। पुलिस ने जानलेवा हमला, सरकारी कार्य में बाधा और बिजली चोरी करने की गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। जेई और टीम को पीटते हुए सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हो रही है।

टीम को दी जान से मारने की धमकी

जेई और उनकी टीम को पूर्वा महावीर के लोगों ने जान से मारने तक की धमकी दे दी। उनका आरोप था कि उनके क्षेत्र में आकर ही बिजली का कनेक्शन काटते है और अन्य क्षेत्र में टीम नहीं जाती। पुलिस ने सरकारी कार्य की बाधा की धारा भी मुकदमें शामिल की है।

चेकिंग अभियान में 986 बिजली चोरी पकड़ी, मुकदमे दर्ज

पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के अन्तर्गत विद्युत चोरी पर आपेक्षित नियंत्रण लगाने एवं विद्युत लाइन हानियों को कम करने के उद्देश्य से अरविन्द मल्लप्पा बंगारी प्रबंध निदेशक के निर्देश पर विभाग द्वारा विद्युत चोरी रोको विशेष अभियान चलाया गया।

अभियान में विभागीय टीमों द्वारा कुल 6975 संयोजन चेक किये गये। जिसमें से 986 प्रकरणों में सीधे विद्युत चोरी पकड़ी गयी। जिसके विरुद्ध 961 प्रकरणों में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी एवं 13345 बकायेदारों के संयोजन विच्छेदित किये गये तथा 514.21 लाख की बकाया वसूली की गयी।

पावर कारपोरेशन के अभियान में 10 हजार एवं अधिक बकाये वाले गैर-सरकारी उपभोक्ताओं के संयोजन विच्छेदन के लिए अभियान चलाया जा रहा है। अवर अभियन्ता टीजी-2 को 10 हजार एवं अधिक बकाये वाले उपभोक्ताओं की सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये हैं।

अभियान में अवैध विद्युत उपयोग स्वीकृत विधा से भिन्न विधा में उपयोग इत्यादि करने पर नियमानुसार कार्रवाई सुनिश्चित की जा रही है। बकायेदारोें से बिल जमा करने के लिए अनुरोध किया जा रहा है बिल जमा न कराने की स्थिति में संयोजन विच्छेदन की कार्रवाई की जा रही है। त्रुटिपूर्ण बिलों को मौके पर सही कराया जा रहा है।

प्रबंधन द्वारा मुख्य अभियन्ता वितरण/ अधीक्षण अभियन्ता वितरण/अधिशासी अभियन्ता वितरण, उपखंड अधिकारी, अवर अभियंताओं को फील्ड में रहकर विद्युत चोरी एवं विद्युत संयोजनों पर बकाया धनराशि के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई के निर्देश दिये गये हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments