Saturday, May 21, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -spot_img
Homeसंवादसप्तरंगइस इंडस्ट्री में हर पल जोखिम भरा है-आमिर खान

इस इंडस्ट्री में हर पल जोखिम भरा है-आमिर खान

- Advertisement -


आमिर खान की फिल्म ‘लालसिंह चड्ढा’ की रिलीज डेट इस साल बैसाखी के दिन 14 अप्रैल निर्धारित हो चुकी है। इसके पहले भी इस फिल्म की रिलीज डेट अनेक बार सामने आई लेकिन किसी न किसी कारण फिल्म उन तारीखों पर रिलीज न हो सकी। फिलहाल ‘लालसिंह चड्ढा’ के अपोजिट साउथ स्टार यश की ‘केजीएफचैप्टर 2’ ही रिलीज हो रही है। आमिर खान की पिछली फिल्म ‘ठग्स आॅफ हिंदोस्तान’ (2018) बॉक्स आॅफिस पर बुरी तरह फ्लॉप साबित हुई थी इसलिए ‘लालसिंह चड्ढा’ उनके कैरियर के लिए बेहद अहम है।

‘लालसिंह चड्ढा’ का निर्देशन अद्वैत चंदन द्वारा किया गया है। इसमें प्रीतम का म्यूजिक है और गीत आज के दौर के सबसे ज्यादा मकबूल गीतकार अमिताभ भट््टाचार्य ने लिखे हैं। इस फिल्म में आमिर के अपोजिट करीना कपूर होंगी। आमिर और करीना की जोड़ी, इसके पहले भी ‘थ्री ईडियट्स’ में जबर्दस्त धूम मचा चुकी है। फिल्म ‘लालसिंह चड्ढा’ को वायकॉम 18 स्टूडियो द्वारा प्रस्तुत किया जा रहा है। बहुत जल्दी आमिर खान और ‘लालसिंह चड्ढा’ की पूरी टीम देशभर में फिल्म का प्रमोशन शुरू करने वाली थी लेकिन ओमिक्र ोन के रूप में कोराना की तीसरी लहर की वजह से ऐसा नहीं हो सका।

प्रस्तुत है आमिर खान के साथ की गई बातचीत के मुख्य अंश:

चार साल के लंबे अरसे बाद आपकी फिल्म ‘लालसिंह चड्ढा’ आ रही है लेकिन आपने इसे साउथ सुपर स्टार यश की फिल्म ‘केजीएफ चैप्टर 2’ के अपोजिट रिलीज करने का जोखिम क्यों लिया?

हम जिस इंडस्ट्री में रह रहे हैं, वहां हर एक पल, जोखिम भरा ही तो है। यहां किसी भी समय किसी के साथ कुछ भी हो सकता है। ऐसे में भला क्या घबराना। वैसे भी साल में इतनी सारी फिल्में बनती हैं कि यह मुमकिन नहीं कि आप अकेले ही अपनी कोई फिल्म रिलीज कर सकें।

यश साउथ का जाना माना नाम है। इसके पहले भी वो 2018 में शाहरुख की ‘जीरो’ के अपोजिट ‘केजीएफचैप्टर 1’ ला चुके हैं। ‘जीरो’ जहां फ्लाप रही, वहीं यश की फिल्म सुपर हिट साबित हुई थी?

यश एक बहुत अच्छे एक्टर हैं और मैं उम्मीद करता हूं कि इस बार भी ‘केजीएफचैप्टर 2’ उतनी ही हिट साबित होगी लेकिन मुझे लगता है कि इससे, मुझे कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

आपकी फिल्म ‘लगान’ के बाद ‘लालसिंह चड्ढा’ ऐसी दूसरी फिल्म है, जिसकी शूटिंग में काफी अधिक वक्त लगा। आखिर इसकी वजह क्या थी?

बिलकुल, इसका काफी लंबा शैडयूल रहा। इसे हमने लगभग 200 दिनों में शूट किया। कोरोना लॉक डाउन के कारण शूटिंग शैडयूल काफी गड़बड़ा गए थे, और इसकी सबसे बड़ी वजह यही थी । इसके अलावा हमने इसे देश और विदेश के लगभग 100 लोकेशन्स पर बड़े पैमाने में शूट किया। इसलिए फिल्म का शैडयूल लंबा होता चला गया।

‘लालसिंह चड्ढा’ को हॉलीवुड फिल्म ‘फॉरेस्ट गंप‘ का हिंदी रीमेक कहा जा रहा है। ‘फॉरेस्ट गंप’ वह फिल्म थी, जिसने अपने नाम छह आॅस्कर अवार्ड किये थे। क्या आप ‘लालसिंह चड्ढा’ से भी उसी तरह की उम्मीद कर रहे हैं?

मैं अपनी किसी फिल्म के लिए कोई कसर नहीं रहने देता लेकिन किसी भी फिल्म का नतीजा हमारे हाथ में नहीं होता। वैसे मैं कभी अपनी फिल्म के नतीजे के बारे में नहीं सोचता। बस एक ही उम्मीद बंधी रहती है कि फिल्म आॅडियंस को पसंद आए और ऐसी उम्मीद इस बार भी कर रहा हूं।
कहा जा रहा है कि ‘लालसिंह चड्ढा’ के बाद अब आप रनबीर कपूर के साथ अगली फिल्म करने जा रहे हैं?

फिलहाल तो मैंने स्क्रिप्ट देखी है। स्क्रिप्ट मुझे अच्छी लगी है और मैं चाहता हूं कि फिल्म मैं खुद ही शुरू करूं। भूषण कुमार की ‘मोगुल’ भी मेरे पाइप लाइन में हैं। उस पर भी विचार हो रहा है। अब देखते हैं कि आगे क्या शुरू होता है।
भूषण कुमार का कहना है कि वह, ‘मोगुल’ अपने स्व पिता गुलशन से जुड़ी भावनाओं के लिए बनाना चाहते हैं। आपने अपनी ओर से भी फिल्म करने की इच्छा व्यक्त की है। क्या आपको यकीन है कि सिल्वर स्क्रीन पर आप हू ब हू म्यूजिक किंग गुलशन कुमार को प्रस्तुत कर सकेंगे ?

मैं शुरू से कोई भी किरदार निभाने के लिए कोशिश करता रहा हूं और इस बार भी करूंगा। मेरी कोशिश कितनी कामयाब हुई है, यह मैं नहीं आॅडियंस तय करेगी।

सुभाष शिरढोनकर


What’s your Reaction?
+1
0
+1
3
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments