Tuesday, June 28, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttarakhand NewsHaridwarराष्ट्रीय एकता और अखंडता के लिए डाँ मुखर्जी आदर्शों को अपनाना जरूरी

राष्ट्रीय एकता और अखंडता के लिए डाँ मुखर्जी आदर्शों को अपनाना जरूरी

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

हरिद्वार: आज भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान की अध्यक्षता में जिला भाजपा कार्यालय पर भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी का बलिदान दिवस गोष्ठी का आयोजन कर एवं पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धापूर्वक मनाया । इस अवसर पर पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं हरिद्वार के सांसद डा0 रमेश पोखरियाल निशंक ने डॉ० श्यामा प्रसाद मुखर्जी को नमन करते हुए कहा कि डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी का जन्म 6 जुलाई 1901 में कोलकाता में हुआ था ।

उन्होंने 1915 में मैट्रिक की परीक्षा पास की और 1921 में बी ए की उपाधि ली उनका जीवन परिचय देते हुए डॉक्टर निशंक ने बताया कि 1934 में 33 वर्ष की उम्र में मुखर्जी ने कोलकाता विश्वविद्यालय का पदभार संभाला ,प्रदेश में सबसे कम उम्र के कुलपति बनने का गौरव प्राप्त किया ।1947 में भारत के स्वतंत्र होने के पश्चात मुखर्जी हिंद महासभा मे थे। डा0 मुखर्जी,भीमराव अंबेडकर को कैबिनेट में शामिल करवाने में लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की निर्णायक भूमिका थी ।

उन्हें उद्योग एवं आपूर्ति मंत्री बनाया गया । 1951 में भारत में राष्ट्रवादी राजनीति की स्थापना के लिए जनसंघ की स्थापना की। डा0 मुखर्जी ने सदैव राष्ट्र की एकता को अपना लक्ष्य रखा। उस समय जम्मू कश्मीर में अलग झंडा अलग संविधान था। वँहा का मुख्यमंत्री वजीर ए आजम कहलाता था लेकिन मुखर्जी जम्मू कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाना चाहते थे वर्ष 1952 में जम्मू कश्मीर की रैली में उन्होंने कहा कि भारतीय संविधान में बदलाव की पुरजोर कोशिश करूंगा इस उद्देश्य की पूर्ति हेतु यदि बलिदान भी होना पड़ेगा तो पीछे नहीं हटूगा। वर्ष 1953 के दौरान डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने एक निशान ,एक प्रधान, एक विधान के नारे को लेकर आंदोलन किया ।

जम्मू कश्मीर में 11 मई 1953 को शेख अब्दुला सरकार ने गिरफ्तार कर लिया कुछ दिनों बाद 23 जून 1953 को डॉक्टर मुखर्जी की रहस्यमई परिस्थितियों में जेल में मृत्यु हो गई । आज उनके बलिदान दिवस पर हम उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित करते हैं एवं उनके बताए मार्ग पर चलने का प्रण करते हैं।इस अवसर पर भाजपा जिला अध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी पूर्व में जनसंघ के अध्यक्ष के रूप में उन्होने देश और समाज को मजबूत करने के लिए भारत की एकता और अखंडता के लिए अपने प्राणो का उत्सर्ग किया। प्रखर वक्ता एवं कुशल संगठनकर्ता के रूप में उनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। हमारे देश के प्रधानमंत्री उसी मूल मंत्र को लेकर देश को हर क्षेत्र में आगे बढाते हुए भारत को विश्व गुरु के रास्ते पर तेजी के साथ ले जा रहे हैं।

इस अवसर पर हम सभी ज्येष्ठ, श्रेष्ठ कार्यकर्ताओं को श्यामा प्रसाद मुखर्जी के जीवन चरित्र से प्रेरणा लेकर पार्टी को मजबूत करने का काम करना चाहिए। इस अवसर पर भाजपा जिला महामंत्री विकास तिवारी, आदेश सैनी, उपाध्यक्ष अनिल अरोड़ा, संदीप गोयल, जिला मंत्री आशु चौधरी, अनामिका शर्मा ,कार्यालय प्रभारी लव शर्मा, प्रदेश सह मीडिया प्रभारी सुनील सैनी, ओम प्रकाश जमदग्नि, रोहन सहगल, एससी मोर्चा के जिला अध्यक्ष तेलू राम, संजय सिंह, मंडल अध्यक्ष नागेन्द्र राणा, विमला ढौढियाल,नितीन चौहान, शर्मिला बगवानी, मनोज वर्मा कमल प्रधान, अनीता वर्मा, संजय वर्मा, संजीव त्यागी सहित भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments