Sunday, November 28, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमेरठ का स्वच्छता सर्वेक्षण में 27वीं रैंक

मेरठ का स्वच्छता सर्वेक्षण में 27वीं रैंक

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: मिनिस्ट्री ऑफ  हाउसिंग एंड अर्बन अफेयर्स द्वारा देश के 4,203 स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 की स्वच्छता रैंकिंग का परिणाम शनिवार को दिल्ली के विज्ञान भवन में राष्ट्रपति ने घोषित किया। इसमें मेरठ शहर को फास्टेस्ट मूवर बिग सिटी आवार्ड से नवाजा गया।

मेरठ कैंट को स्वच्छता सर्वेक्षण में पूरे देश में दूसरा स्थान मिला। इसके साथ ही मेरठ को स्वच्छ सर्वेक्षण में 3598.23 अंक मिले हैं। जिसके चलते मेरठ ने 27वीं रैंक हासिल की है। यह अवार्ड मेरठ शहर की ओर से नगरायुक्त व मेयर ने संयुक्त रूप से प्राप्त किया। छावनी की ओर से कैंट बोर्ड अध्यक्ष व सीईओ ने अवार्ड प्राप्त किया।

यह मेरठवासियों के लिये गर्व की बात है कि मेरठ स्वच्छता सर्वेक्षण में पूरे देश में 27वें नंबर पर है और मेरठ कैंट बोर्ड पूरे देश की छावनियों में दूसरे नंबर पर है। शनिवार को दिल्ली विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पुरस्कारों की घोषणा की।

प्रदेश के नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने वाराणसी की मेयर मृदुला जायसवाल के साथ अधिक आबादी वाले शहरों की श्रेणी में नम्बर वन बेस्ट गंगा टाउन का अवार्ड राष्ट्रपति से ग्रहण किया। मेरठ को फास्टेस्ट मूवर बिग सिटी के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

यह पुरस्कार 10 लाख से 40 लाख आबादी वाले शहरों की श्रेणी के तहत मिला। मेरठ को 10 लाख से अधिक की आबादी वाले शहरों में सबसे तेज स्वच्छता में आगे बढ़ने पर यह अवार्ड दिया गया। पिछले वर्ष जहां मेरठ शहर 41वें स्थान पर था। वहीं, इस साल मेरठ पूरे देश में 27वें स्थान पर रहा। उत्तर प्रदेश में मेरठ पांचवें स्थान पर रहा। इसके साथ ही मेरठ को जीएफसी वन स्टार और ओडीएफ प्लस प्लस प्रमाणकरण भी मिला।

महापौर और नगर आयुक्त ने लिया सम्मान

नगर निगम की ओर से महापौर सुनीता वर्मा व नगर आयुक्त मनीष बंसल अवार्ड लेने पहुंचे। बता दें कि इस बार 2021 के स्वच्छ सर्वेक्षण के लिए निगम ने बड़े पैमान पर तैयारियां की थीं। जिनमें प्रमुख रूप से डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन सभी वार्डों में अधिकतम घरों तक पहुंचाने का प्रयास किया। ओडीएफ प्लस प्लस के लिए सामुदायिक व सार्वजनिक शौचालयों को आधुनिक तरीके से बनाया गया।

जिसका परिणाम स्वरूप ओडीएफ प्लस प्लस फ्री वाले शहरों की श्रेणी में आने में कामयाब हुए। पुराने कूड़े के निस्तारण के लिए गांवड़ी में पूर्व से ही प्लांट स्थापित किया गया है। जिससे कूड़े के लगे ढेर का निस्तारण संभव हो पाया। लोहियानगर में आधुनिक कूड़ा निस्तारण प्लांट की स्थापना की गई। त्वरित रूप से वहां कूड़े के लगे ढ़ेर का निस्तारण भी किया जा रहा है।

विभिन्न सोसाइटी, विभिन्न प्रतिष्ठानों व लोगों के बीच में स्वच्छता की जागरूकता के लिए शपथ दिलाई गई। नगरायुक्त मनीष बंसल ने इस अवार्ड के लिये नगर निगम की पूरी टीम को बधाई दी और सभी अधिकारियों व सफाई कर्मियों को भी इसके लिये बधाई दी। टीम की लगातार मेहनत और प्रयास से यह उपलब्धि हासिल हुई है। कई नये सुधार और कार्य किये जाएंगे। जिससे अगले साल और अच्छी रैंक प्राप्त हो सके।

सफाई कर्मचारियों ने किया धन्यवाद

मेरठ: स्वच्छता सर्वेक्षण में मेरठ की 27वीं रैंक आने पर सफाई कर्मचारी संघ के महामंत्री कैलाश चंदौला ने नगरायुक्त समेत सभी अधिकारियों का धन्यवाद दिया व सभी सफाई कर्मचारियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि मेरठ का नंबर आना एक बड़ी बात है। इसमें अधिकारियों के नेतृत्व में सफाई कर्मचारियों ने अपना विशेष योगदान दिया है। कोरोना के दौर में भी सफाई कर्मचारी दिन रात कार्य में लगे रहे। एसोसिएशन के अन्य सदस्यों सुंदर लाल भुरंडा, टीसी मनोठिया सभी ने अधिकारियों व सफाई कर्मचारियों को बधाई दी।

ये रहा मेरठ का रिजल्ट

  • यूएलबी कोर्ड 800716
  • वार्डों की संख्या 90
  • शहर की जनसंख्या 1305429
  • सिटीजन वाइस 1157.17

ओडीएफ प्लस प्लस रेटिंग

  • 2019 286
  • 2020 260
  • 2021 में नेशनल रैंक 27
  • 2021 में स्टेट रैंक 06

कैंट क्षेत्रों की रैंक

  • अहमदाबाद नंबर-1
  • मेरठ कैंट नंबर-2
  • दिल्ली कैंट नंबर-3
  • देओलाली कैंट नंबर-4
  • पशमारीह कैंट नंबर-5

स्वच्छता सर्वेक्षण में मेरठ छावनी देश में दूसरे स्थान पर

मेरठ के नाम एक और उपलब्धि जुड़ गई है। मेरठ कैंट को स्वच्छता के मामले में 62 छावनियों में से दूसरा स्थान हासिल हुआ है। मेरठ कैंट से कैंट बोर्ड अध्यक्ष ब्रिगेडियर अर्जुन सिंह राठौर और कैंट बोर्ड सीईओ नवेन्द्र नाथ दिल्ली विज्ञान भवन पहुंचे। यहां उन्होंने अवार्ड प्राप्त किया। राष्ट्रपति द्वारा मेरठ कैंट का नाम दूसरे स्थान पर आने की घोषणा के बाद से ही यहां मेरठ में कैंट बोर्ड कार्यालय में जश्न का माहौल रहा।

कैंट बोर्ड कार्यालय में सभी कर्मचारियों ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर सभी का मुंह मीठा कराया गया। बता दें कि कैंट बोर्ड स्वच्छता सर्वेक्षण को लेकर पहले से तैयारी कर रह था। कैंट बोर्ड की ओर से सभी वार्डों में सफाई व्यवस्था की जिम्मेदारी अधिकारियों को सौंपी गई थी। यहां सभी वार्डों, क्षेत्र के नालों आदि की सफाई समय से पूरी कराई जा रही थी।

इसके साथ ही क्षेत्र में प्लास्टिक कचरे को भी एकत्र कर यहां अलग से योजना बनाई जा रही थी। कैंट के सफाई कर्मचारियों और अधिकारियों की ही मेहनत का फल है कि कैंट बोर्ड को पूरे देश में दूसरा नंबर मिला है।

कैंट बोर्ड सीईओ नवेन्द्र नाथ ने इसके लिये सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को बंधाई दी है साथ ही बोर्ड के सफाई कर्मचारियों को इसका श्रेय दिया है। उन्होंने कहा कि कैंट के अधिकारियों और कर्मचारियों ने पूरी मेहनत के साथ कार्य किया है जिसका यह नतीजा है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments