Sunday, February 28, 2021
Advertisment Booking
Home Uttar Pradesh News Meerut गांव में विधायक की नो एंट्री का लगेगा बोर्ड

गांव में विधायक की नो एंट्री का लगेगा बोर्ड

- Advertisement -
0
  • खरखाली गंगाघाट पर गमगीन माहौल में किया अंतिम संस्कार

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ/परीक्षितगढ़: गंगानगर थानार्गत ईशापुरम निवासी एक वरिष्ठ अधिवक्ता ने फांसी लगाकर आत्माहत्या कर ली थी। अधिवक्ता के कमरे से तीन पन्नों का पुलिस ने सुसाइड नोट भी बरामद किया था। जिस पर गंगानगर पुलिस ने हस्तिनापुर विधायक सहित 14 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की।

पोस्टमार्टम के बाद अधिवक्ता का शव रविवार को उनके पैतृक गांव ऐंचीखुर्द पहुंचा तथा शव को देखत ही परिजनों में कोहराम मच गया। मृतक के आवास पर हजारों लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। जहां गमगीन माहौल में शव का खरखाली गंगाघाट पर अंतिम संस्कार कर दिया गया तथा गांव में चूल्हे तक नहीं जले।

बता दे कि गंगानगर के ईशापुरम निवासी अधिवक्ता ओमकार तोमर ने अपने बेटे की शादी खतौली के गांव सिखेड़ा में हुई थी। बेटे की पत्नी स्वाति के साथ विवाद के चलते ससुराल पक्ष के लोगों ने ओमकार तोमर और उनके बेटे व परिवार के अन्य लोगों पर दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया था।

बताया जा रहा है कि मामले में हस्तिनापुर विधायक दिनेश खटीक ओमकार तोमर का उत्पीड़न कर रहे थे। उत्पीड़न से तंग आकर शनिवार को आत्महत्या कर ली थी तथा तीन पन्नों का सुसाइड नोट हस्तिनापुर विधायक दिनेश खटीक सहित 14 लोगों के नाम लिखे थे। पोस्टमार्टम के बाद अधिवक्ता ओमकार तोमर का शव जैसे ही उनके पैतृक गांव ऐंचीखुर्द पहुंचा तो परिजनों में कोहराम मच गया।

अधिवक्ता की पत्नी कुसुम व बड़ा बेटा बेटा लव व छोटा देवेश दहाड़ मारकर रोने लगे। खरखाली गांधीघाट पर बडेÞ पुत्र लव तोमर ने अधिवक्ता का अंतिम संस्कार किया। सांत्वना देने वालों में उपमुख्य न्यायधीश हाईकोर्ट इलाहाबाद कृष्ण पहल, भाजपा नेता मुखिया गुर्जर, सपा नेता प्रशांत गौतम, पूर्व कैबिनेट मंत्री शाहिद मंजूर, रालोद पश्चिमी उत्तर प्रदेश एससी/एसटी प्रकोष्ठ अध्यक्ष नरेंद्र खजूरी, पश्चिमी प्रदेश उपाध्यक्ष बिजेंद्र भाटी, चेयरमैन अमित मोहन टीपू, विपिन भड़ाना, सपा नेता किशोर वाल्मीकि सहित कई नेताओं ने शोकाकुल परिवार को सांत्वना दी।

सुप्रीम कोर्ट तक लड़ाई लडूंगा: लव कुमार

अधिवक्ता ओमकार तोमर के बड़े पुत्र लव तोमर इलाहाबाद हाईकोर्ट में अधिवक्ता है। लव कुमार ने कहा कि हस्तिनापुर विधायक दिनेश खटीक ने उनके परिवार को बर्बाद कर दिया। विधायक रोजना उनके घर पर गुंडों को भेजकर पैसा दिलाने की धमकी दिलाते थे। पिता के आत्महत्या करने में सबसे बड़ा हाथ निड़ावली के ग्राम प्रधान मुनेन्द्र सिंह व विधायक का है। अगर हमें इंसाफ नहीं मिला तो मैं सुप्रीम कोर्ट तक लड़ाई लडूंगा।

महापंचायत की तैयारी

अधिवक्ता ओमकार तोमर के बड़े पुत्र लव तोमर ने कहा कि सर्वसमाज की महापंचायत की जाएगी। जिसमें हस्तिनापुर विधायक की करतूत को पंचायत के सामने रखा जाएगा। वहीं, ग्रामीणों में विधायक के खिलाफ बड़ा जबरदस्त विरोध है। गांव के सभी लोगों ने निर्णय लिया है कि हस्तिनापुर विधायक दिनेश खटीक का गांव में नो एंट्री का बोर्ड लगाया जाएगा। किसी भी कीमत पर विधायक को माफ नहीं किया जाएगा।

 

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments