Wednesday, January 19, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeCoronavirusओमिक्रॉन का बढ़ा खतरा, मुंबई में अफ्रीकी देशों से पहुंचे 1000 यात्री

ओमिक्रॉन का बढ़ा खतरा, मुंबई में अफ्रीकी देशों से पहुंचे 1000 यात्री

- Advertisement -
  • केवल 466 के नाम मिले, 100 लोगों की हुई जांच

जनवाणी ब्यूरो |

नई दिल्ली: कोरोना का ओमिक्रॉन स्वरूप दुनिया के लिए बड़ा खतरा बनता जा रहा है। इसे रोकने के लिए तमाम देशों की सरकारें प्रयास भी कर रही हैं। वहीं एक समय पर देश में कोरोना के मामले बढ़ने को लेकर जिम्मेदार ठहराई गई आर्थिक राजधानी मुंबई में इसे लेकर एक बार फिर लापरवाही देखने को मिल रही है। इसका खुलासा भी बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के एक वरिष्ठ अफसर ने किया है।

बीएमसी के वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को जानकारी दी कि ओमिक्रॉन स्वरूप सामने आने वाले अफ्रीकी देशों से पिछले 15 दिनों में कम से कम 1,000 यात्री मुंबई आए हैं। उन्होंने कहा कि मुंबई नागरिक निकाय को इनमें से 466 की सूची मिली थी, इनमें से कम से कम 100 यात्रियों के स्वाब के नमूने एकत्र किए गए।

बृहन्मुंबई नगर निगम के अतिरिक्त नगर आयुक्त सुरेश काकानी ने बताया कि हवाईअड्डा प्राधिकरण ने सूचित किया है कि पिछले एक पखवाड़े में करीब 1,000 यात्री अफ्रीकी देशों से मुंबई पहुंचे थे, लेकिन उसने अब तक केवल 466 ऐसे यात्रियों की सूची सौंपी है।

काकानी ने कहा कि 466 यात्रियों में से 100 मुंबई के ही रहने वाले हैं। हमने पहले ही उनके स्वाब के नमूने एकत्र कर लिए हैं। कल या परसों तक, उनकी रिपोर्ट आने की उम्मीद है। इससे यह स्पष्ट हो जाएगा कि वे सभी कोरोना वायरस से संक्रमित हैं या नहीं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने पिछले हफ्ते ओमिक्रॉन को ‘चिंता के प्रकार’ के रूप में वर्गीकृत किया था। काकानी ने कहा कि यदि उनकी परीक्षण रिपोर्ट नकारात्मक है, तो कोई समस्या नहीं होगी। हालांकि डब्ल्यूएचओ की सलाह के अनुसार, महानगरपालिका सकारात्मक नमूनों में एस-जीनोम के गायब होने की जांच कराने जा रही है।

उन्होंने कहा कि यदि एस-जीन गायब मिलता है, तो उस स्थिति में, यह माना जाता है कि वह (यात्री) संक्रमित (ओमिक्रॉन स्वरूप से) हो सकता है। काकानी ने कहा कि जीनोम अनुक्रमण की जांच से ही संक्रमण की पुष्टि होगी। काकानी ने कहा कि संक्रमित यात्रियों, चाहे रोगसूचक हों या स्पर्शोन्मुख हों, को उपनगरीय अंधेरी के सिविक-संचालित सेवन हिल्स अस्पताल में महानगरपालिका की संस्थागत संगरोध सुविधा में स्थानांतरित कर दिया जाएगा।

काकानी के मुताबिक ओमिक्रॉन को लेकर बढ़ती चिंताओं के बीच बीएमसी ने सभी पांच अस्पतालों और जंबो सुविधाओं को तैयार कर रखा है। संरचनात्मक ऑडिट, फायर ऑडिट, ऑक्सीजन सप्लाई सिस्टम ऑडिट के अलावा पर्याप्त दवाओं के स्टॉक और मैनपावर की नियुक्ति के लिए उपाय किए जा रहे हैं।

पांच जंबो सेंटर पहले से ही काम कर रहे हैं। हमें सुविधाओं को अपग्रेड करना होगा। एक या दो वार्ड पहले से ही सक्रिय हैं, लेकिन जब भी जरूरत होगी, हम उन्ही जंबो सुविधाओं में और वार्डों को सक्रिय कर सकते हैं।

मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने कोरोनावायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट के मद्देनजर मुंबई हवाई अड्डे पर किए जा रहे उपायों का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि अधिकारियों ने मुझे बताया है कि वे आगमन पर प्रत्येक यात्री का परीक्षण करते हैं और उन्हें एकांतवास के लिए भेजते हैं।अब तक, मुंबई में ओमाइक्रोन का कोई मामला नहीं है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments