Saturday, December 4, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerut90 फीसदी फास्टैग से चल रहा टोल प्लाजा

90 फीसदी फास्टैग से चल रहा टोल प्लाजा

- Advertisement -
  • मात्र 10 फीसद ही कैश लैस से चल रहा टोल, प्लाजा के फास्टैग होने के कारण विवादों में आई कमी

मुसाहिद हुसैन |

मोदीपुरम: एनएच-58 स्थित सिवाया टोल प्लाजा अब 90 फीसदी फास्टैग से चल रहा है। जबकि 10 फीसद ही कैश लैस से इस समय प्लाजा चल रहा है। प्लाजा के फास्टैग होने के कारण अब यहां विवादों में भी कमी आई है। क्योंकि कैश लैस होने के कारण यहां अधिकांश झगडे फसाद रहते थे। जिसके चलते अब इन विवादों से भी टोल प्लाजा को छुटकारा मिलेगा। देशभर के टोल को केंद्रीय परिवहन मंत्रालय द्वारा फास्टैग की सुविधा शुरू करने के निर्देश दिए गए थे।

विभागीय आदेश मिलने के बाद देशभर के टोल पर यह सुविधा शुरू कर दी गई। देश भर के लगभग 90 फीसद से अधिक टोल पर फास्टैग की सेवा पहले ही शुरू हो चुकी है। कुछ टोल ऐसे है। जहां अब भी 10 फीसद कैस लैश से टोल चल रहा है। हालांकि अगर हम एनएच-58 स्थित सिवाया टोल प्लाजा की बात करे तो यहां 90 फीसदी फास्टैग से प्लाजा चल रहा है। अब मात्र 10 प्रतिशत ही टोल पर कैस वसूली हो रही है। हालांकि फास्टैग शुरू होने के बाद टोल पर काफी झंझटों से छुटकारा मिला है।

हाइवे के दोनों और कूड़ा-करकट बना परेशानी

टोल प्लाजा के पास स्थित नंद वाटिका कालोनी और सिवाया गांव के बाहर एवं वलीदपुर गांव के बाहर कूड़े-करकट के ढेर लगे हुए हैं। इन कूडेÞ-करकट के कारण जहां प्रदूषण में इजाफा हो रहा है। वहीं यह कूड़ा-करकट हवाओं के झोकों के कारण हाइवे पर आ जाता है। जिसके चलते हाइवे पर दुर्घटनाएं बढ़ जाती है।

ऐसे में कई भयंकर हादसे भी हाइवे पर हो चुके हैं, लेकिन उसके बाद भी इस समस्या से निजात नहीं मिली है। टोलवे कंपनी के अधिकारियों का साफ कहना है कि इसके लिए गांवों के प्रधानों और कालोनी के लोगों से कूड़ा-करकट न फैलाने का आग्रह किया गया है, लेकिन इस और किसी ने ध्यान नहीं दिया है। जिसके चलते परेशानी से जूझना पड़
रहा है।

अब मिलेगी टोल प्लाजा पर जाम से निजात

एनएच-58 पर सिवाया टोल प्लाजा पर रविवार और शनिवार को भयंकर जाम रहता है। जाम लगने के कारण यहां लोगों का हाल बेहाल हो जाता है। हालांकि टोल की 12 लाइनों में से दो लाइनों पर भारतीय किसान यूनियन का कब्जा है। जबकि 10 लाइन सुचारु है। जाम की बढ़ती परेशानी को देखते हुए टोल प्रबंधन ने अब जाम से निपटने के लिए दो लाइन अपोजिट साइड की रिजर्व में चलानी शुरू कर दी है।

15 कर्मचारियों को अतिरिक्त ट्रैफिक व्यवस्था के लिए लगा दिया गया है। इसके अलावा पुलिस की एक गाड़ी को भी टोल पर तैनात कराया है। इससे टोल पर लगने वाले जाम से काफी हद तक निजात मिल पाएगी। लोगों को आवागमन में परेशानी नहीं उठानी पड़ेगी।

टोल प्लाजा पर जाम से छुटकारा दिलाने के लिए 15 कर्मचारियों की अतिरिक्त ड्यूटी लगा दी गई है। दो अपोजिट लाइनों को रिजर्व के रूप में शुरू कर दी गई है। इससे जाम नहीं लगेगा। टोल पर 90 फीसदी फास्टैग शुरू हो गया है। अब मात्र 10 फीसद ही कैस लैस टोल पर चल रहा है। हाइवे पर जिन स्थानों पर कूड़ा-करकट फैला है। इसके लिए लोगों को जागरूक किया जा चुका है, लेकिन उसके बाद भी समस्या का समाधान करने में कोई सहयोग नहीं कर रहा है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments