Sunday, August 7, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeCoronavirusसहारनपुर में कोविड टीकाकरण का शुरू हुआ विशेष अभियान

सहारनपुर में कोविड टीकाकरण का शुरू हुआ विशेष अभियान

- Advertisement -
  • आम लोगों को बूस्टर डोज के लिए स्वास्थ्य विभाग दे रहा जोर

जनवाणी संवाददाता |

सहारनपुर: स्वास्थ्य विभाग कोविड टीकाकरण से छूटे लोगों के लिए ठोस कदम उठा चुका है। मसलन, टीकाकरण का विशेष अभियान सोमवार से शुरू कर दिया गया। यह अभियान 24 जून तक चलेगा। सेहत विभाग ने स्वास्थ्य टीमों का इस बाबत गठन भी कर दिया है। यह टीमें घर-घर जाकर दस्तक देंगी। टीकाकरण से छूटे लोगों को टीकाकरण के प्रति जागरूक करेंगी और टीका भी लगाएंगी।

देशभर में 16 जनवरी 2021 से टीकाकरण अभियान शुरू हुआ था। सहारनपुर में पांच जून 2022 तक 54,68,986 लोगों को टीकाकरण हो चुका है। इसमें पहली डोज 29,01,974 और दूसरी डोज 25,08,788 लोगों ने लगवाई है। जबकि 58,224 लोगों ने बूस्टर डोज लगवाई है। जिसमें स्वास्थ्य विभाग के 13,856 ने पहली और 14,066 ने दूसरी डोज लगवाई है। जबकि 12,768 ने बूस्टर डोज लगवाई है। 15,688 फ्रंट लाइन वर्करों ने पहली और 16,065 ने दूसरी डोज लगवाई है। जबकि 28,776 ने बूस्टर डोज लगवाई है।

बता दें कि जिले में 60 प्लस के 2,92,095 ने पहली और 2,77,603 ने दूसरी डोज के बाद 20,575 ने बूस्टर डोल लगवाई है। 45 से 59 आयु वर्ग में 5,46,265 ने पहली और 5,20,211 ने दूसरी डोज के बाद दो लोगों ने ही बूस्टर डोज लगवाई है। 18 से 44 आयु वर्ग के 16,97,520 ने पहली और 14,96,069 ने दूसरी डोज लगवाई। जबकि तीन लोगों ने ही बूस्टर डोज लगवाई है। 15 से 17 आयु वर्ग के 2,12,12 ने पहली और 1,50,815 ने दूसरी डोज लगवाई है। जबकि 12 से 14 आयुवर्ग के 1,24,338 ने पहली और 33,959 ने दूसरी डोज लगवाई है।

जिले में स्वास्थ्य कर्मचारियों और फ्रंट लाइन वर्करों को सरकार के आदेश के बाद बूस्टर डोज लगवा दी गई। लेकिन आम नागरिक ने बूस्टर डोज लगवाने के लिए कोई प्रयास नहीं किये। हालांकि स्वास्थ्य विभाग ने भी बूस्टर डोज लोगों को लगवाने के लिए जोर देता रहा है।

सीएमओ डा.संजीव मांगलिक का कहना है कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अनुपालन में कम कवरेज वाले लक्षित क्षेत्रों में कार्य योजना बनाकर अभियान चला दिया गया है। अभियान 24 जून तक चलेगा। अभियान में 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग, 15-17 आयु वर्ग एवं 12-14 आयु वर्ग के अंतर्गत टीका लगने से छूटे लोगों को टीका लगाया जाएगा। छूटे हुए लाभार्थियों को आशा एवं अन्य फ्रंटलाइन वर्कर द्वारा घर-घर दस्तक देकर टीका लगवाने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments