Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
HomeNational Newsबैसाखी पर्व के असली जश्न को देखने के लिए करें यहां की...

बैसाखी पर्व के असली जश्न को देखने के लिए करें यहां की सैर

- Advertisement -

नमस्कार, दैनिक जनवाणी डॉट कॉम वेबसाइट पर आपका हार्दिक स्वागत और अभिनन्दन है। भारत में दिवाली, होली और ईद जितने उत्साह के साथ मनाई जाती है उतने ही उत्साह के साथ बैसाखी का त्यौहार भी मनाया जाता है। बैसाखी सिख धर्म के लोगों के लिए दिवाली की तरह ही बड़ा पर्व है।

19 6

वैसे तो यह त्योहार पूरे भारत वर्ष मे मनाया जाता है, परंतु पंजाब और हरियाणा मे इस त्योहार की धूम कुछ और ही रहती है। यह पर्व हर साल 14 अप्रैल को मनाया जाता है। ऐसे में अगर आप भी इस त्योहार के असली जश्न को देखना चाहते हैं तो आप इन जगहों पर घूमने का प्लान बना सकते हैं…

चंडीगढ़

चंडीगढ़ भी बैसाखी के मौके पर पंजाबी रंग में रंगी नजर आती है। यहां पर बैसाखी पर ट्रडिशनल के साथ ही मॉर्डन रंग देखने को मिलते हैं। इस खास दिन को जितने शानदार रूप में बड़ी उम्र के लोग मनाते हैं उतने ही हर्ष से यंग जनरेशन भी मनाती है। ऐसे में चाहे पार्टी का मन हो या फिर बैसाखी सेलिब्रेशन के पारंपरिक रंग देखने हो दोनों के लिए ही यह शहर बेस्ट है।

20 7

जालंधर

पंजाब के सबसे बड़े औद्योगिक शहर जालंधर में बैसाखी को जिस ढंग से मनाया जाता है वैसा रूप आपको और कहीं शायद ही देखने को मिले। चाहे ग्रामीण इलाका हो या शहरी यहां हर जगह इस पर्व का उत्साह देखने को मिलता है। इस पर्व के लिए यहां विशेष पार्टियां भी आयोजित की जाती हैं जहां पर लोग पंजाबी म्यूजिक के धुनों पर नाचते हुए बैसाखी को सेलिब्रेट करते हैं।

पिंजौर

चंडीगढ़ से मात्र 22 किलोमीटर की दूरी पर स्थित पिंजौर उत्तर भारत के एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल में से एक है। इस खूबसूरत और प्राचीन शहर में भी बैसाखी को भव्य रूप में मनाया जाता है। यहां पर राज्य पर्यटन विभाग विशेष रूप से मेले का आयोजन भी करता है, जिसमें बड़ी संख्या में लोग पहुंचते हैं।

22 5

बैसाखी मेले में लोकल डिश के साथ ही स्थानीय चीजें भी मिलती हैं जिन्हें लोग खरीद सकते हैं। इस दौरान लगातार बजते पंजाबी म्यूजिक से आप इस उत्सव की फील में डूब जाएंगे।

अमृतसर

दुनिया के प्रसिद्ध टूरिस्ट स्पॉट में से एक गोल्डन टेंपल इसी शहर में है। पंजाब के अमृतसर स्थित गोल्डन टेंपल के दर्शन करने दुनियाभर से लोग आते हैं। बैसाखी के मौके पर इस जगह को और भी खूबसूरती से सजाया जाता है।

21 9

इस विषेश पर्व पर बड़ी संख्या में लोग गुरू का आशीर्वाद लेने पहुंचते हैं। बैसाखी पर आपको इस गुरुद्वारे में काफी ज्यादा भीड़ मिलेगी, लेकिन यकीन मानिए यह एक्सपीरिंयस आप जिंदगीभर नहीं भुला पाएंगे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
4
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments