Thursday, February 22, 2024
HomeNational Newsचट्टानों का सीना चीर बाहर निकले सभी मजदूर, पूरा हुआ रेस्क्यू ऑपरेशन

चट्टानों का सीना चीर बाहर निकले सभी मजदूर, पूरा हुआ रेस्क्यू ऑपरेशन

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

उत्तरकाशी: आज मंगलवार को रेस्क्यू ऑपरेशन पूरा हुआ और चट्टानों का सीना चीर कर सभी 41 मजदूर बाहर निकल आए। जिले की सिलक्यारा सुरंग में फंसे 41 श्रमिकों को बचाने लिए केंद्र और राज्य सरकार की टीमें जी जान से दिन रात जुटी हुई थीं। खास बात ये रही कि अमेरिकी ऑगर मशीन फेल होने के बाद हाथ से खुदाई करने वाली रैट माइनर्स की टीम खेवनहार बनी। इसमें भारतीय सेना ने भी टीम की मदद की।

15 10

रैट माइनर्स एक विशेषज्ञों की टीम है जो खोदाई में एक्सपर्ट होती है। एनएचआईडीसीएल के एमडी महमूद अहमद और उत्तराखंड सरकार के सचिव डॉ. नीरज खैरवाल ने बताया, यह टीम एक मीटर प्रतिघंटा के हिसाब से खोदाई करने में माहिर है।

11 12

बता दें कि 12 नवंबर को दिवाली के दिन उत्तरकाशी की निर्माणाधीन सुरंग में भूस्खलन होने से 41 श्रमिक अंदर ही फंस गए थे। 17 दिन से सभी बाहर निकले की उम्मीद लगाए रहे। उन्हें बाहर निकालने की पूरी कोशिशें होती रहीं, लेकिन हर बार कोई न कोई बाधा आने से सफलता नहीं मिल रही। 17वें दिन टीम को सफलता मिली।

14 11

बता दें कि पहले अमेरिका से मंगाई गई ऑगर मशीन से सुरंग में पाइप डाला जा रहा था, लेकिन लक्ष्य से 12 मीटर पहले ही बाधाएं आने की वजह से मशीन काम नहीं कर पाई। इसके बाद रैट माइनर्स की टीम को बुलाया गया था।

12 13

सुरंग में फंसे मजदूरों को बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन में केंद्र व राज्य सरकार की 20 एजेंसियां जुटी रहीं। वहीं, सीएम धामी समेत राज्य सरकार के कई अधिकारी सिलक्यारा में ही डटे रहे। पीएम मोदी भी सीएम धामी से फोन पर सिलक्यारा का पल पल का अपडेट लेते रहे।

13 13

टनल के बाहर बाबा बौखनाग का मंदिर भी स्थापित किया गया। बाबा बौखनाग क्षेत्र के ईष्टदेव हैं। सभी स्थानीय लोग दिन रात श्रमिकों की सलामती के लिए पूजा पाठ करते रहे। वहीं, टीम भी मशीनों का इस्तेमाल करने से पहले पूजा करती रही।

सुरंग में फंसे मजदूर निकले बाहर, सीएम धामी से मिले

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments