Sunday, May 26, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh Newsशिव विवाह कथा सुनकर मंत्र मुग्ध हुए श्रोता

शिव विवाह कथा सुनकर मंत्र मुग्ध हुए श्रोता

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

बलरामपुर: भगवती गंज नगर के धर्मपुर में श्री झारखण्डेश्वर महादेव मंदिर मे महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर शिव महा पुराण कथा के पांचवे दिन कथा वाचक कथा व्यास भीष्म पितामह जी महाराज ने शिव विवाह की कथा सुनाई उन्होंने कहा कि आत्मा का परमात्मा से मिलन ही शिव में लीन हो जाना है भगवान शंकर वैराग्य के देवता माने गए है,परंतु शिव ने विवाह भी कर संसार को गृहस्थ आश्रम में रहकर भी वैराग्य व योग धर्म का अनुशरण करने का तरीका दिया कथा वाचक भीष्म पितामह महाराज जी ने कहा कि शिव परिवार में भगवान के वाहक नन्दी, मां पार्वती का शेर,गणेश जी का मूसक और कार्तिकेय का वाहन मोर है।

शिव के गले मे सर्प रहते हैं जो सभी विपरीत विचारधारा के बीच सामंजस्य रखना ही शिव पुराण सिखाता है भगवान के विवाह के वर्णन में मैनादेवी व हिमालय राज की पुत्री के रूप मे मां पार्वती का जन्म लेना प्रारम्भिक काल मे शिव की तपस्या करना,उसी दौरान तारका सुर के आतंक को खत्म करने के लिए शिव का तन्द्रा भंग हुई तब जाकर शिव पार्वती का विवाह हुआ।

92 2

इसी दौरान श्रद्धालुओं के बीच बहुत ही अच्छे अच्छे भजन सुनाएं जिसमें श्री झारखण्डेश्वर महादेव मंदिर धर्मपुर के महंत भोला बाबा,गेल्हापुर मंदिर के महंत बृजानंन्द महाराज,महेश मिश्रा प्रधान,सुनील कुमार गुप्ता,गौरी शंकर यादव,रवीन्द्र गुप्ता कमलापुरी प्रदेश महामंत्री अखिल भारतीय मानव कल्याण सेवा समिति,सोनू मिश्रा,अशोक गुप्ता,संतोष गुप्ता,केदार जयसवाल,देवता महाराज रघुनाथ मिश्र,मंगल प्रसाद वर्मा,शशि भूषण प्रधान अशोक गुप्ता,राधेश्याम कमलापुरी नीरज,शिव कुमार मिश्रा,भोला यादव,आलोक सिंह,मनोज गुप्ता,अमित केशरवानी,विक्की महेश्वरी,राकेश गुप्ता व कुसुम शुक्ला,नीता तिवारी,मीरा सिंह गीता,सुधा त्रिपाठी,उर्मिला, गुड़िया गुप्ता,कंचन गुप्ता,किरन गुप्ता,रिंकी गुप्ता,आदि काफी संख्या में लोग कथा सुनने के बाद प्रतिदिन कई हजारों की संख्या में लोग भंडारे का प्रसाद पाते हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments