Saturday, June 22, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMuzaffarnagarभारतीय किसान यूनियन ने एसएसपी आफिस घेरा

भारतीय किसान यूनियन ने एसएसपी आफिस घेरा

- Advertisement -
  • किसानों की समस्याओं का निस्तारण न होने से नाराज हैं किसान
  • पुलिस प्रशासन हुआ चैकन्ना, शहर में बढ़ाई गयी सुरक्षा

जनवाणी संवाददाता |

मुजफ्फरनगर: बुढ़ाना शुगर मिल द्वारा किसानों के गन्ना भुगतान न किये जाने, दस साल पुराने ट्रैक्टरों को बंद किये जाने व किसानों की अन्य समस्याओं को लेकर किसानों में आक्रोश है। भारतीय किसान यूनियन टिकैत के बैनर तले सोमवार को किसानों ने जनपद के एसएसपी कार्यालय का घेराव का प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है। जनपद के विभिन्न कोनों से किसान एसएसपी कार्यालय पहुंच रहे हैं।

किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए कलेक्ट्रेट में सीओ सदर के नेतृत्व में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। इसके अलावा शहर के चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात किया गया है, ताकि प्रदर्शन के दौरान किसी तरह का कोई उपद्रव न हो सके।

बता दें कि किसानों की मासिक पंचायत के दौरान भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रªीय प्रवक्ता चैधरी राकेश टिकैत द्वारा घोषणा की गयी थी कि किसानों के साथ साजिश की जा रही है। इस दौरान राकेश टिकैत ने मंत्री पर भी आरोप लगाये थे कि या तो मंत्री किसानों के साथ साजिश कर रहे हैं या फिर मंत्री के साथ साजिश हो रही है।

राकेश टिकैत ने 23 अक्तूबर को एसएसपी आफिस का गेट तोड़कर प्रदर्शन करने की बात कही थी। राकेश टिकैत के आह्वान पर सोमवार को भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने एसएसपी आफिस पहुंचना शुरू कर दिया है। भारी संख्या में किसान एसएसपी आफिस पहुंच रहे हैं।

इस प्रदर्शन में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत के अलावा राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत भी मौजूद रहेंगे और किसानों को संबोधित करेंगे। किसानों के धरना प्रदर्शन को देखते हुए जिला प्रशासन चैकन्ना है और कलेक्ट्रेट परिसर में बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है। इसके अलावा शहर के चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल को तैनात किया गया है।

बता दें कि बुढ़ाना शुगर मिल पर भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता पिछले चार महीने से धरना दे रहे हैं, परन्तु अभी तक उनका कोई समाधान नहीं हो सका है। इसके अलावा जिला गन्ना अधिकारी कार्यालय पर भी भाकियू कार्यकर्ता धरना प्रदर्शन कर रहे हैं, परन्तु अभी तक उनका समाधान नहीं हो पाया है।

पुरकाजी में भी ठेकेदारों द्वारा रास्ता अवरूद्ध किये जाने पर जब किसानों ने विरोध किया, तो किसानों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया गया। इसके अलावा दस सवाल पुराने ट्रैक्टरों को बंद किये जाने का मुद्दा भी है। उक्त सभी मामलों को लेकर प्रदर्शन किया जा रहा है।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के अनुसान फिलहार एक दिवसीय धरना-प्रदर्शन है, जिसमें अधिकारियों से बातचीत की जायेगी। यदि बातचीत से कोई मसला हल नहीं होगा, तो यूनियन के पदाधिकारियों के साथ वार्ता कर आंदोलन की रणनीति बनायी जायेगी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments