Tuesday, April 23, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliचौधरी छोटूराम ने किसानों को अन्याय से लड़ना सिखाया: अशोक

चौधरी छोटूराम ने किसानों को अन्याय से लड़ना सिखाया: अशोक

- Advertisement -
  • चौधरी छोटूराम की 75 वीं जयंती पर सपाइयों ने किया नमन

जनवाणी संवाददाता |

शामली: रविवार को समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालय पर सभा को सम्बोधित करते हुए निवर्तमान जिलाध्यक्ष अशोक चौधरी ने श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि चौधरी छोटूराम किसानों के पहले नेता थे जिन्होंने उनकी पीड़ा एवं उत्पीड़न को समझा तथा उसे दूर करने के लिए न केवल आन्दोलन किए बल्कि राजनीति शक्ति हासिल कर 1937 मे पंजाब प्रांत के मंत्री बने।

मंत्री रहते हुए उन्होंने किसानों एवं मजदूरों के हित में कई कानून बनवाए। इस दौरान अरूण कुमार ताना ने श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उनके नारे ‘ऐ भोले किसान दो बात मान लें एक बोलना सीख, एक दुश्मन पहचान ’ ने भारत में किसान राजनीति की नींव रखी। चौ. किरणपाल मलिक ने कहा कि चौधरी छोटूराम ने उस समय में ग्रामीण अंचलों के युवाओं के लिए शिक्षा की नींव रखी तथा कई शहरों में जाट कालेज एवं बोर्डिंग हाउस शुरू किए। उन्होंने गरीब बच्चों की शिक्षा के लिए फंड की स्थापना की जिसकी सहायता से गरीब परिवारों के बच्चों ने पढ़ लिख कर नाम कमाया।

हरिकिशन पंवार ने कहा कि चौधरी छोटूराम ने मंडी एक्ट की स्थापना की जिसके कारण किसानों को मंडी में होने वाली लूट से मुक्ति मिली। गोपाल करोड़ी ने बताया चौारी छोटूराम को श्रमिकों के कल्याण के लिए लाए गए कानून बनाया। प्रोफेसर सुधीर पंवार ने अपने संदेश में कहा कि चौधरी छोटूराम ने साहूकार पंजीकरण एक्ट,1934, गिरवी जÞमीनों की मुफ्त वापसी एक्ट 1938, कृषि उत्पाद मंडी अधिनियम 1938 के माध्यम से किसानों को सैंकड़ों सालों से चले आ रही साहूकारों की गÞुलामी से आजाद किया।

इस अवसर पर बिजेंद्र पंवार, सलेक चंद, नमित पंवार, मनोज चौधरी, अर्जुन सिंह आदि उपस्थित रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments