Friday, June 14, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMuzaffarnagarमुख्यमंत्री माटी कला रोजगार योजना बनेगी वरदान

मुख्यमंत्री माटी कला रोजगार योजना बनेगी वरदान

- Advertisement -
  • पांच इकाईयां स्थापित करने का जनपद को मिला लक्ष्य

जनवाणी संवाददाता |

मुजफ्फरनगर: मुख्यमंत्री माटी कला रोजगार योजना मिट्टी के कारीगरों के लिए वरदान साबित होगी। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मिट्टी से निर्मित उत्पादकों को प्रोत्साहन देने के लिए चलाई जा रही योजना के तहत अधिकतम 10 लाख रुपये का ऋण दिया जा रहा है, जिसमें माटी कला उद्यमी को 25 प्रतिशत का अनुदान भी दिया जायेगा।

भारत एक सांस्कृतिक देश है, जिसमें माटी कला भारत की संस्कृति को प्रस्तुत करने वाली ऐसी कला है, जिसकी चर्चा विश्वभर में होती है। इस कला को प्रोत्साहन देने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड के माध्यम से मुख्यमंत्री माटी कला रोजगार योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है।

इस योजना के अंतर्गत जनपद में पांच इकाई स्थापित किये जाने का लक्ष्य प्राप्त हुआ है, जिसका पूंजी निवेश 12.5 लाख रुपये होगा। माटी कला उद्यम लगाने वाले उद्यमी को अधिकतम 10 लाख रुपये तक का ऋण उपलब्ध कराया जायेगा तथा उद्यमी का अंशदान पांच प्रतिशत होगा। पूंजीगत ऋण पर 25 प्रतिशत मार्जिन मनी अनुदान भी राज्य सरकार द्वारा दिया जायेगा।

जिला ग्रामोद्योग अधिकारी राजबीर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री माटी कला रोजगार योजना का लाभ लेने के लिए माटी कला के परम्परागत कारीगर होना जरूरी है। इतना ही नहीं परम्परागत कारीगर परिवार का शिक्षित बेरोजगार होना चाहिए और उसकी आयु 18-55 वर्ष के मध्य होनी चाहिए। इस योजना का लाभ लेने के लिए माटी कला के किसी विद्या के प्रशिक्षित या प्रमाण पत्र अभ्यर्थी के पास होना चाहिए। इस योजना का लाभ देने के लिए अभ्यर्थी का चयन उसकी आर्थिक स्थिति, माटी कला का अनुभव, तकनीकी ज्ञान, विपणन योग्यता आदि के आधार पर शासन द्वारा गठित चयन समिति द्वारा किया जायेगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments