Tuesday, May 28, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutविवादों में घिरे मेरठ बार के चुनाव की मतगणना हुई

विवादों में घिरे मेरठ बार के चुनाव की मतगणना हुई

- Advertisement -
  • अध्यक्ष पद पर गजेन्द्र पाल सिंह व महामंत्री पर अजय शर्मा आगे
  • मतगणना के बाद बैलेट पेपर बार काउंसिल आफ इंडिया को भेजे गए

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: विवादों में चल रहे मेरठ बार एसोसिएशन के चुनाव के बाद रुकी हुई मतगणना को बार काउंसिल आॅफ इंडिया के निर्देश के बाद रविवार को शुरु कर समाप्त किया गया। इसके बाद सभी मतपत्र और रिजल्ट सील करके बार काउंसिल आॅफ इंडिया को भेज दिये गए। बाद में चुनाव परिणाम की घोषणा की जाएगी।

मेरठ बार एसोसिएशन, मेरठ की प्रबन्ध समिति वर्ष 2021-22 के चुनाथ के शेष मतपत्रों की गणना बार काउंसिल आॅफ इंडिया के द्वारा दिये गए आदेश के बाद रविवार सुबह 10 बजे से शुरू की गयी, जो लगभग सांय 4 बजे पूरी हुई। इसके बाद महामंत्री पद के प्रत्याशी परवेज आलम द्वारा टेबिल संख्या-इ पर 19 जनवरी को हुई मतो की गणना को पुन: कराये जाने के सम्बन्ध में प्रार्थना पत्र चुनाव अधिकार और एल्डर्स कमेटी को सम्बोधित प्रेषित किया था, जिस पर आज विचार किया गया।

परवेज आलम व अजय शर्मा के बीच करीबी मुकाबला होने के कारण दोनो प्रत्याशियों को बुलाकर उनके मतों की गणना उनकी उपस्थिति में टेबिल संख्या-इ पर हुयी मतों की गणना को पुन: कराये जाने का निर्णय लिया गया तथा दोनो प्रत्याशियों को बुलाकर उनकी उपस्थिति एवं उनकी दृष्टि में टेबिल संख्या-इ पर हुयी मतों की गणना पुन: करायी गयी तथा उनका 19 दिसंबर को पूर्व काउन्टिंग चार्ट से मिलान कराया गया जो सही पाया गया। तदोपरान्त उक्त परवेज आलम प्रत्याशी महामंत्री ने लिखकर दिया कि वो मतगणना से पूरी तरह से संतुष्ट हैं।

इसके बाद अन्य प्रत्याशियों द्वारा प्रस्तुत प्रार्थना पत्र आधारहीन होने के कारण चेयरमैन एल्डर्स कमेट कुलवन्त सिंह के द्वारा निरस्त किये गये। मतों की गणना पूर्ण होने के उपरान्त चुनाव से सम्बन्धित समस्त दस्तावेजो को सील कर सुरक्षित रखा गया तथा गणना का परिणाम बार कौन्सिल आॅफ इंडिया को भेज दिया गया। वहीं सूत्रों ने बताया कि मतगणना पूरी होने के बाद अध्यक्ष पद पर गजेन्द्र पाल सिंह, वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद पर शीशपाल सिंह, महामंत्री पद पर अजय शर्मा, उपाध्यक्ष पद पर उर्वशी सिंह और सुलक्षण वर्मा, कोषाध्यक्ष पद पर लोकेश तोमर, संयुक्त सचिव प्रशासन पर केपी यादव, संयुक्त सचिव पुस्तकालय पर अंकुर वर्मा और संयुक्त सचिव प्रकाशन पर रुबी सैनी आगे चल रही थी।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments