Sunday, May 16, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliकैराना में मतदान के लिए सुबह उमड़ी वोटरों की भीड़

कैराना में मतदान के लिए सुबह उमड़ी वोटरों की भीड़

- Advertisement -
0
  • बुजुर्गों के साथ ही विकलांग भी मतदान करने पहुंचे
  • एडीजी मेरठ जोन राजीव सब्बरवाल ने किया निरीक्षण

जनवाणी संवाददाता |

कैराना: त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तीसरे चरण में जनपद में सोमवार को मतदान हुआ। इस दौरान कैराना ब्लॉक की 42 ग्राम पंचायतों के 243 बूथों पर शांतिपूर्वक मतदान हुआ। जिस पर पुलिस-प्रशासन ने राहत की सांस ली।

जिलाधिकारी जसजीत कौर एवं पुलिस अधीक्षक सुकीर्ति माधव ने पुलिस बल के साथ अति संवेदनशील मतदान केंद्रों पर पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। अति संवेदनशील प्लस मतदान केंद्रों पर सीआरपीएफ और पुलिस बल तैनात किया गया था।

पूर्वाह्न करीब 11:30 बजे मेरठ जोन के एडीजी राजीव सब्बरवाल कैराना कोतवाली पहुंचे। जहां पर अधीनस्थ अधिकारियों के साथ त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को शांतिपूर्वक संपन्न कराने के बारे में मंत्रणा की। बाद में एडीजी, एसडीएम कैराना उद्भव त्रिपाठी व सीओ जितेंद्र कुमार के साथ आर्यपुरी देहात, गांव मन्ना माजरा व गांव भूरा के मतदान केंद्रों पर निरीक्षण करने पहुंचें। एडीजी ने अधीनस्थ अधिकारियों को पंचायत चुनाव के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

बुजुर्गों व विकलांगों ने किया मतदान

रमजान व कोरोना संक्रमण के बीच त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जहां एक और मतदान करने के लिए ग्रामीणों में उत्साह दिखाई दिया तो वहीं गांव के बुजुर्गों एवं विकलांग व्यक्तियों ने भी मतदान केंद्रों पर पहुंचकर अपने मनपसंद प्रत्याशी को वोट दिया।

मतदान के दौरान कोरोना गाइडलाइन उल्लंघन

वैसे तो प्रशासन की ओर से सभी मतदान केंद्रों के बाहर सैनिटाइजेशन व थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था की गई थी। लेकिन मतदान केंद्रों के बाहर ग्रामीण मतदाताओं की लंबी-लंबी लाइनें लगी हुई थी। जिस कारण कोरोना गाइडलाइन के मुताबिक 2 गज की दूरी का मतदाताओं द्वारा पालन नहीं किया गया। जिस कारण कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका बनी हुई हैं।

2 घंटे की देरी से चालू हुआ मतदान

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए 243 बूथों पर मतदान सुबह 7 बजे शुरू हो गया था। वहीं ग्राम पंचायत पंजीठ का मतदान केंद्र गांव के स्कूल में लगा गया था। जहां पर बूथ नंबर 13 को 2 घंटे देरी से चालू हुआ। जिस कारण बूथ के बाहर मतदाताओं की भीड़ लगी रही। एडीओ पंचायत वसीम ने बताया कि पीठासीन अधिकारी के भ्रम की वजह से करीब 9 बजे बूथ को चालू किया जा सका।

मतदान केंद्रों के अंदर मोबाइल रहे वर्जित

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को निष्पक्ष शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए जिलाधिकारी के निर्देश पर पुलिस कर्मियों द्वारा मतदाताओं को मतदान केंद्रों के अंदर मोबाइल फोन ले जाने की अनुमति नहीं दी गई। पुलिसकर्मियों द्वारा मतदाताओं की तलाशी लेने के बाद ही उनको मतदान केंद्र के अंदर प्रवेश दिया गया।

मतदान केंद्रों के आसपास फटकने नहीं दिया

पुलिस प्रशासन की सख्ती के चलते सभी मतदान केंद्रों के बाहर बेवजह खड़े होने वाले लोगों को फटकने नहीं दिया। अगर कोई व्यक्ति मतदान केंद्र के बाहर खड़ा होता मिला तो पुलिस के जवानों ने उसको हडकाकर मौके से भगा दिया।

दो किशोर मतदान करने पहुंचे

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए जहां सुबह से ही ग्रामीणों में मतदान करने का उत्साह दिखाई दिया तो वहीं ग्राम पंचायत जहानपुरा व बदलूगढ़ के बूथों पर दो किशोर मतदान करने पहुंचे। मतदान केंद्र पर तैनात पुलिसकर्मियों द्वारा दोनों किशोरों पर शक हुआ तो पुलिसकर्मियों ने उनकी आईडी चेक की। जिसके बाद दोनों किशोरों की उम्र कम पाई तथा उनके पास मौजूद वोटर पर्ची भी अन्य युवकों के नाम से मिली। जिसके बाद पुलिस ने हिदायत देकर दोनों किशोरों को मौके से भगा दिया।

दोपहर 1 बजे तक 39 प्रतिशत मतदान

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए जहां सुबह के समय मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की लंबी लाइनें लगी रही। तो वहीं दोपहर होते-होते मतदान केंद्र खाली नजर आए। कुछ मतदान केंद्रों पर दोपहर के समय भी लाइने लगी रही। वहीं दोपहर करीब 1 बजे तक 39 प्रतिशत मतदान हुआ।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments