Thursday, April 25, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh Newsअयोध्या से देवी पाटन तुलसीपुर तक वाया उतरौला, गौरा चौराहा होकर बस...

अयोध्या से देवी पाटन तुलसीपुर तक वाया उतरौला, गौरा चौराहा होकर बस चलाने की मांग

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

उतरौला/बलरामपुर: लोकतंत्र सेनानी एवं समाजसेवी चौधरी इरशाद अहमद गद्दी ने सांस्कृतिक नगरी अयोध्या से शक्तिपीठ देवीपाटन तुलसीपुर तक वाया उतरौला गौरा चौराहा होकर बस चलाने की मांग की है ।उन्होंने बताया कि उतरौला व उसके आसपास के लोग नजदीक होकर भी बहुत दूर बने रहते हैं संसाधन के अभाव में।

ऐसी दशा में शासन प्रशासन से अनुरोध है की अयोध्या से शक्तिपीठ देवीपाटन तक रोडवेज की बसें चलाने की व्यवस्था करें। गद्दी ने बताया की वर्ष 1990 से 2005 तक राम नगरी अयोध्या से उतरौला तक उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के 10, 10 बसों का संचालन होता था किंतु उसके उपरांत निजी डग्गामार वाहन स्वामियों की मिलीभगत से धीरे-धीरे उतरौला से अयोध्या के मार्ग की बसों का संचालन बंद कर दिया गया और अब एक भी बस संचालित नहीं हो रही है । जिससे यह क्षेत्र पुनः एक बार राम नगरी अयोध्या से पृथक हो गया है।

मेरे द्वारा ए आर एम बलरामपुर एवं एआरएम गोंडा से फोन पर वार्ता भी किया किंतु उनके द्वारा यही कहा गया कि परिवहन निगम में जब नई बसें आएंगी तो संचालित कर दी जाएंगी ,लेकिन अभी तक संचालित नहीं हो पाई है ।इस समस्या को लेकर दिनांक 21 दिसंबर 2022 को परिवहन मंत्री उत्तर प्रदेश शासन को डाक के माध्यम से एक प्रार्थना पत्र भी भेजा था । इसके उपरांत मैं 27 दिसंबर 2022 को क्षेत्रीय प्रबंधक देवीपाटन क्षेत्र गोंडा से भी मिलकर उनको भी एक ज्ञापन दिया था।

धार्मिक स्थल अयोध्या से शक्तिपीठ तुलसीपुर बस संचालन की बात की जाए उसकी संख्या शून्य है जिससे डग्गामार वाहन धड़ल्ले से संचालित हो रहे हैं जिसके कारण जनता का जेब कट रहा है। इसको लेकर भी प्रार्थी ने कई बार प्रशासन में शिकायत किया किंतु जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों की उपेक्षाओं और निजी वाहन स्वामियों की मिलीभगत से अभी तक इस क्षेत्र में कोई कार्य नहीं हो सका।

चौधरी इरशाद अहमद ने बताया कि 16 मार्च 2023 को क्षेत्रीय प्रबंधक अयोध्या फैजाबाद विमल राजन को एक ज्ञापन सौंपा हूं जिसमें मैंने जनता की तरफ से अयोध्या से उतरौला तुलसीपुर तक रोडवेज की बसों का संचालन करके जनता के हित को सर्वोच्च स्थान देने की व्यवस्था करने का निवेदन किया है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments